राजनीति

भाजपा बंगालियों और ग़ैर-बंगालियों के बीच खाई पैदा करने की कोशिश कर रही है: ममता बनर्जी

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव परिणामों के घोषणा के बाद पश्चिम बंगाल में जारी हिंसा के विरोध में धरना दिया. इस दौरान जब उनका काफिला गुज़र रहा था, तब फिर कुछ लोगों ने ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाए.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी. (फोटो: रॉयटर्स)

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी. (फोटो: रॉयटर्स)

नैहाटी (कोलकाता): पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने देश के लोगों से आह्वान किया है कि वे ‘भाजपा के अत्याचार’ के खिलाफ अपनी आवाज उठाएं और राज्य में भगवा दल पर बंगालियों और गैर-बंगालियों के बीच खाई पैदा करने का आरोप लगाया.

लोकसभा चुनावों में पार्टी का उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन नहीं रहने के बाद बनर्जी ने अपने पहले राजनीतिक कार्यक्रम में बीते बृहस्पतिवार को कहा, ‘भाजपा राज्य में बंगाली और गैर-बंगाली लोगों के बीच विभेद पैदा करने की कोशिश कर रही है. वे राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव को खत्म करना चाहते हैं. मैं देश के लोगों से अपील करूंगी कि वे सांप्रदायिक विभाजन के खिलाफ अपनी आवाज उठाएं.’

ममता नैहाटी नगरपालिका के बाहर तृणमूल कांग्रेस के द्वारा आयोजित धरने में हिस्सा ले रही थीं. यह धरना चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद हुई हिंसा के विरोध में आयोजित किया गया था.

उन्होंने कहा, ‘भाजपा के गुंडों ने 400 से अधिक बंगाली परिवारों को बेघर कर दिया. मैं उन गुंडों को नहीं बख्शूंगी.’

साथ ही ममता ने आरोप लगाया कि कुछ पुलिस अधिकारी भाजपा नेताओं के इशारे पर काम कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे. हम उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे.’

ममता ने पार्टी कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि राज्य में भाजपा-आरएसएस के बढ़ते कदमों को रोकने के लिए ‘बंग जननी वाहिनी’ और ‘जय हिंद वाहिनी’ का गठन करें.

उन्होंने कहा, ‘ये दोनों संगठन राज्य के सभी प्रखंडों में काम करेंगे और भाजपा एवं आरएसएस का सामना करेंगे.’

ममता बनर्जी के काफिला गुजरते समय फिर लगे जय श्री राम के नारे

मालूम हो कि गुरुवार को ममता बनर्जी का काफिला पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना जिले के भाटपारा से गुजर रहा था, उस दौरान कुछ लोगों ने जय श्री राम के नारे लगाए.

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख लोकसभा चुनाव परिणामों के बाद अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ हुई ‘हिंसा’ के खिलाफ एक धरने में हिस्सा लेने के लिए नैहाटी जा रही थीं.

सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में कुछ लोग उस समय ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते हुए नजर आ रहे हैं, जब बनर्जी का काफिला भाटपारा क्षेत्र से गुजर रहा था.

इस क्षेत्र में चुनाव परिणामों की घोषणा होने के बाद से भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच हिंसा चल रही है. यह क्षेत्र भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह का गढ़ माना जाता है. सिंह ने चुनाव में तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी को पराजित किया है.

उन्हें यह कहते हुए सुना गया, ‘आप अपने बारे में क्या सोचते हैं? आप अन्य राज्यों से आएंगे, यहां रहें और हमारे साथ दुर्व्यवहार करें. मैं इसे बर्दाश्त नहीं करूंगी. तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मुझे अपमानित करने की? आप सभी के नामों और विवरणों को लिख लिया जाएगा.’

मुख्यमंत्री के अपनी कार में वापस जाने के बाद उन लोगों ने फिर से ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए जिस वजह से उन्हें फिर से एक बार अपने वाहन से उतरना पड़ा.

इस दौरान ममता बनर्जी ने मिथुन चक्रवर्ती की एक फिल्म ‘एमएलए फटाकेश्तो’ का डायलॉग भी बोला. ममता ने कहा कहा, ‘क्या आपको मिथुन चक्रवर्ती का यह डायलॉग याद है. मैं इस डायलॉग को पूरा नहीं कह सकती और न ही मैं ऐसा कहूंगी लेकिन मैं इतना कहूंगी कि मैं तुम्हें यहां मारूंगी और न्याय कही और होगा.’

इससे पहले लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान के दौरान सामने आए एक वीडियो में ममता बनर्जी का काफिला जब गुजर रहा था तब भी कुछ लोग ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते हुए नजर आए थे.

भाजपा ने राज्य की लोकसभा की 42 सीटों में से 18 सीटें जीत ली हैं और यह तृणमूल कांग्रेस की जीती हुई 22 सीटों से केवल चार कम है. कांग्रेस ने दो सीटें जीतीं जबकि वामदल इस बार यहां से कोई सीट नहीं जीत सके.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)