भारत

दिल्ली सरकार का ऐलान- दिल्ली मेट्रो, डीटीसी और क्लस्टर बसों में महिलाएं कर सकेंगी मुफ्त सफ़र

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम इस सब्सिडी को किसी पर थोपने नहीं जा रहे हैं, बल्कि दिल्ली सरकार इसका सारा ख़र्च उठाएगी.

New Delhi: Delhi Chief minister Arvind Kejriwal and deputy Chief minister Manish Sisodia  During the press conference at Delhi secretariat in New Delhi, Monday, June 3, 2019. (PTI Photo/Ravi Choudhary)(PTI6_3_2019_000049B)

दिल्ली सचिवालय में सोमवार को हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः दिल्ली सरकार ने सोमवार को एक बड़ा ऐलान करते हुए डीटीसी, क्लस्टर बसों और दिल्ली मेट्रो में महिलाओं के लिए नि:शुल्क यात्रा का प्रस्ताव रखा.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में इसका ऐलान करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को किराए से निजात दिलाने के लिए नि:शुल्क यात्रा उपलब्ध कराने का फैसला किया है.

उन्होंने कहा कि हम इस सब्सिडी को किसी पर थोपने नहीं जा रहे हैं, बल्कि दिल्ली सरकार इसका सारा खर्च उठाएगी. सक्षम महिलाएं चाहें तो टिकट खरीद सकती हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैंने डीटीसी और मेट्रो दोनों में नि:शुल्क सफर के लिए एक विस्तृत प्रस्ताव तैयार करने के लिए अधिकारियों को एक सप्ताह का समय दिया है. प्रस्ताव में वे बताएंगे कि इसे कैसे और कब लागू किया जाए. हम इसे दो से तीन महीनों के भीतर शुरू करने की दिशा में प्रयास कर रहे हैं. हम इस योजना को लागू करने के संदर्भ में लोगों से सुझाव भी ले रहे हैं.’

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि हम एक ईमेल जारी कर रहे हैं, जिस पर जनता अपना सुझाव दे सकती है कि इस योजना को कैसे लागू किया जाए.

केजरीवाल ने कहा, ‘हमने शुरुआत में केंद्र सरकार से टिकटों के मूल्य नहीं बढ़ाने को कहा था लेकिन इसके लिए वे तैयार नहीं हुए. हमने उनसे कहा कि इसमें हमारी 50-50 फीसदी की भागीदारी होगी. बढ़े हुए दामों पर 50-50 सब्सिडी देने पर भी वे तैयार नहीं हुए. दिल्ली सरकार इस सब्सिडी का सारा खर्च वहन करेगी. हमें इसके लिए किसी की मंजूरी की जरूरत नहीं है.’

दिल्ली सरकार में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत का कहना है कि यह योजना हर हाल में हमें लागू करनी है. मेट्रो में महिलाओं की मुफ्त यात्रा पर आने वाले खर्च को दिल्ली सरकार उठाएगी. इसके लिए वह डीएमआरसी को भुगतान करेगी. बसों व मेट्रो में कुल यात्रियों में 33 फीसदी महिलाएं होती हैं. इस हिसाब से जो अनुमान लगाया गया है उसके अनुसार, प्रतिवर्ष करीब 200 करोड़ रुपये का खर्च बसों को लेकर सरकार पर आएगा.

सरकार इस योजना को अगले साल की शुरुआत में होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले बसों और मेट्रो में एक साथ लागू करना चाहती है.