भारत

अजीत डोभाल दोबारा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त, कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिला

अजीत डोभाल को पहली बार मई 2014 में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाया गया था. तब उन्हें केंद्रीय राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था.

New Delhi: NSA Ajit Doval arrives to attend a delegation level meeting between India and South Korea, at Hyderabad House, in New Delhi on Tuesday, July 10, 2018. (PTI Photo /Kamal Singh) (PTI7_10_2018_000082B)

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए फिर से इस पद पर नियुक्त किया है और उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है.

कार्मिक मंत्रालय के एक आदेश में इसकी जानकारी दी गई है.

आदेश में कहा गया है कि कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने डोभाल को इस पद पर दोबारा नियुक्त किए जाने के संबंध में अपनी मंजूरी दे दी है और यह व्यवस्था 31 मई 2019 से प्रभावी होगी.

प्रधानमंत्री के कार्यकाल के साथ-साथ उनकी नियुक्ति भी स्वत: समाप्त हो जाएगी.

आदेश में कहा गया है, ‘इस पद पर नियुक्ति के दौरान उन्हें कैबिनेट मंत्री का रैंक दिया गया है.’

डोभाल को पहली बार मई 2014 में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाया गया था. तब उन्हें केंद्रीय राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था.

2014 में वे पांचवें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किए गए थे.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, अक्टूबर 2018 में अजीत डोभाल को स्ट्रेटजिक पॉलिसी ग्रुप (एसपीजी) का चेयरमैन नियुक्त किया गया था. यह राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल) की तीन श्रेणी वाली संरचना में से पहली श्रेणी है.

लाइव मिंट की रिपोर्ट के अनुसार, डोभाल केरल काडर के पुलिस अधिकारी रहे हैं. साल 2005 में वह इंटेलीजेंसी ब्यूरो के निदेशक पद से रिटायर हुए थे.

वह दिल्ली के विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन थिंक टैंक के प्रमुख भी रह चुके हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)