भारत

युवक की हत्या के छह साल बाद पांच आरोपी गिरफ़्तार, इसी हत्या के बाद भड़का था मुज़फ़्फ़रनगर दंगा

उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रनगर में 27 अगस्त 2013 को छह लोगों ने शाहनवाज़ की चाकू मारकर हत्या कर दी थी. शाहनवाज़ की हत्या और एक अन्य घटना में दो युवकों की मौत के बाद मुज़फ़्फ़रनगर और आसपास के इलाके में सांप्रदायिक दंगे भड़क उठे थे, जिसमें 60 लोग मारे गए थे और तकरीबन 40,000 लोग बेघर हुए थे.

Muzaffarnagar

मुज़फ़्फ़रनगरः उत्तर प्रदेश में पुलिस ने एक युवक की कथित हत्या के मामले में मंगलवार को पांच लोगों को गिरफ्तार किया. इस युवक की हत्या के बाद ही 2013 में मुज़फ़्फ़रनगर दंगा भड़का था. इस मामले में एक आरोपी अभी भी फरार है.

अभियोजन पक्ष के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रनगर में पांच लोगों प्रह्लाद, बिशन सिंह, तेंदू, देवेंद्र और जितेंद्र को तब गिरफ्तार किया गया, जब उनकी संपत्ति कुर्क करने के लिए पुलिस उनके घर पर पहुंची.

पुलिस के पास इन लोगों की संपत्ति कुर्क करने के लिए अदालत का आदेश पत्र था.

शिकायतकर्ता के वकील मोहसिन रज़ा जैदी ने बताया कि इन पांचों आरोपियों को अदालत में पेश किया गया, जहां कार्यवाहक मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट विपिन कुमार ने उनकी जमानत याचिका ख़ारिज कर दी और शुक्रवार तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

ये पांच लोग उन छह आरोपियों में शामिल थे, जो शाहनवाज हत्या मामले में गिरफ्तारी वारंट का सामना कर रहे थे.

गिरफ्तारी वारंट के बावजूद समर्पण नहीं करने के बाद अदालत ने छह आरोपियों की संपत्ति कुर्क करने का आदेश दिया था. एक आरोपी रवींद्र फरार है.

इन छह आरोपियों ने 27 अगस्त 2013 को मुज़फ़्फ़रनगर के जनसठ इलाके के कवाल गांव में शाहनवाज की चाकू मारकर हत्या कर दी थी.

शाहनवाज की मौत और एक अन्य घटना में दो युवकों की मौत के बाद मुज़फ़्फ़रनगर और आसपास के इलाके में सांप्रदायिक दंगे भड़क उठे थे, जिसमें 60 लोग मारे गए थे और तकरीबन 40,000 लोग बेघर हुए थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)