भारत

आंध्र प्रदेशः जगनमोहन रेड्डी के मंत्रिमंडल में होंगे पांच उप-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री जगहमोहन रेड्डी ने अपने मंत्रिमंडल में पांच उप-मुख्यमंत्री नियुक्त किए गए हैं, जिसमें से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और कापू समुदाय से एक-एक उप-मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी. (फोटो साभार: फेसबुक)

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी. (फोटो साभार: फेसबुक)

अमरावतीः आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के शानदार प्रदर्शन के बाद शुक्रवार को मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने अपने 25 सदस्यीय मंत्रिमंडल में पांच उप-मुख्यमंत्री नियुक्त करने का ऐलान किया.

जगनमोहन रेड्डी ऐसा करने वाले पहले मुख्यमंत्री हैं. उन्होंने शुक्रवार सुबह यहां अपने आवास पर पार्टी के विधायक दल की बैठक की, जिसमें यह फैसला लिया गया. नए मंत्री शनिवार को शपथ लेंगे.

रेड्डी ने बताया कि ढाई साल बाद सरकार के प्रदर्शन की समीक्षा के बाद फिर से मंत्रिमंडल में फेरबदल किया जाएगा.

वाईएसआर कांग्रेस के विधायक मुस्तफा शेख ने बताया कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक और कापू समुदायों से एक-एक उप-मुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, पार्टी के एक नेता ने कहा, ‘सभी वर्गों और जातियों के लोगों ने जगन में अपना विश्वास जताया था इसलिए वह अपने मंत्रिमंडल में सभी जातियों और समुदायों के प्रतिनिधि को रखने का प्रयास कर रहे हैं. यह समाज के सभी वर्गों को खुश रखने की कवायद है.’

जगन के इस फैसले को एक क्रांतिकारी कदम माना जा रहा है जिसका मकसद इन समुदायों को साधे रखना है.

रेड्डी की पार्टी ने हाल ही में हुए लोकसभा और विधानसभा चुनावों में शानदार जीत हासिल की थी. वाईएसआर कांग्रेस ने राज्य विधानसभा की 175 में से 151 सीटों पर जीत दर्ज की, जबकि लोकसभा की 25 सीटों में से 22 पर जीत हासिल की. वहीं चंद्रबाबू नायडू की पार्टी तेदेपा को विधानसभा चुनाव में इस बार सिर्फ 23 सीटें ही मिली थीं.

गौरतलब है कि जगनमोहन रेड्डी ने कांग्रेस से अलग होकर सात दिसंबर, 2010 को नई पार्टी के गठन का ऐलान किया था. उन्होंने मार्च 2011 में अपने दिवंगत पिता वाईएस राजशेखर रेड्डी के नाम पर नई पार्टी का नाम वाईएसआर कांग्रेस रखा.

इससे पहले चंद्रबाबू नायडू की सरकार में कापू और पिछड़ा समुदायों से एक-एक उप मुख्यमंत्री बनाया गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)