भारत

उत्तर प्रदेश: कुशीनगर में घर से खींचकर परिजन के सामने नाबालिग से सामूहिक बलात्कार

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर ज़िले के अहिरौली बाज़ार थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में हुई घटना में नाली बनाने को लेकर आरोपियों का नाबालिग के परिवार के साथ झगड़ा हुआ था. प्रदेश के हमीरपुर और मेरठ में नाबालिग लड़कियों की बलात्कार के बाद हत्या. कानपुर में भी नाबालिग से बलात्कार का मामला सामने आया है.

Kushinagar

गोरखपुर/लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले में 12 साल की एक लड़की से सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया है.

पुलिस सूत्रों ने दर्ज रिपोर्ट के हवाले से रविवार को बताया कि शुक्रवार शाम कुशीनगर जिले के अहिरौली बाजार थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में 12 साल की एक लड़की से छह लोगों ने कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया.

उन्होंने बताया कि इस मामले में सभी छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलिस अधीक्षक आरएन मिश्रा ने बताया कि सभी छह आरोपियों पर बलात्कार और पॉक्सो एक्ट तथा दलित एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. लड़की को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजा गया है.

सूत्रों ने बताया कि पीड़ित लड़की ने आरोप लगाया है कि उसके परिवार के लोगों का आरोपियों से नाली के निर्माण को लेकर विवाद था और सात जून की शाम को इसी बात को लेकर दोनों पक्षों के बीच झड़प हुई थी.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, झड़प के दौरान नाबालिग को आरोपियों ने उसके घर से खींचकर बाहर निकाला था और उसके साथ परिजन के सामने ही सामूहिक बलात्कार किया. विरोध करने पर उन्होंने परिजनों से भी मारपीट की. पुलिस ने इसकी जानकारी बीते रविवार (नौ जून) को दी. रविवार को ही पुलिस ने छह आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की.

पुलिस ने बताया कि उन्होंने बताया कि लड़की की मां ने शनिवार शाम को इस सिलसिले में मुकदमा दर्ज करने की तहरीर दी थी और रविवार को एफआईआर दर्ज की गई.

हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में कुशीनगर एसपी आरएन मिश्रा ने बताया, ‘आईपीसी की धारा 376 (बलात्कार), 147 (दंगा), 354 (गरिमा भंग करने के इरादे से हमला), 323 (जान-बूझकर चोट पहुंचाना), 506 (धमकाना), 452 (अनधिकृत प्रवेश) और पॉक्सो अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है.’

रिपोर्ट के अनुसार, शुरुआत में पुलिस ने बलात्कार की धारा के साथ केस दर्ज नहीं किया था. मीडिया में मामला सामने आने के बाद यह धारा एफआईआर में जोड़ी गई. आरोपियों की पहचान, वीरू यादव, नीतेश कुमार, जयवीर प्रसाद, मुख्तार प्रसाद, चंदन प्रसाद और गौतम प्रसाद के रूप में हुई.

हमीरपुर में दलित नाबालिग की सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में बीते आठ जून को 11 साल की नाबालिग से सामूहिक बलात्कार के बाद उसकी हत्या करने का मामला सामने आया है. घर के पास स्थित कब्रिस्तान में से शनिवार सुबह उसका शव बरामद किया गया.

इस मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है, जिसने बताया है कि अपराध में एक अन्य व्यक्ति भी शामिल था.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, गिरफ्तार आरोपी की पहचान पप्पू खान (42) के रूप में हुई, वहीं एक अन्य आरोपी वीरू सिंह (26) फरार है.

एसपी हेमराज मीना ने बताया कि आरोपी पप्पू ने कबूल किया है कि उसने और वीरू ने मिलकर नाबालिग के साथ बलात्कार किया और फिर उसकी हत्या कर दी. वीरू की तलाश की जा रही है.

उन्होंने बताया कि दोनों आरोपी शराबी थे और छोटे मोटे काम किया करते थे. दोनों की शादी नहीं हुई थी और वे अपने भाइयों के साथ रह रहे थे. बीते शुक्रवार को जब नाबालिग अपने घर के बाहर सो रही थी तो उसका अपहरण कर उसे कब्रिस्तान में ले गए और बलात्कार करने के बाद उसकी हत्या कर दी.

उन्होंने बताया कि आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 डी (गैंगरेप) और संबंधित धाराओं के अलावा एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है.

कानपुर नाबालिग के साथ बलात्कार, मेरठ में नाबालिग की बलात्कार के बाद हत्या

इसी तरह कानपुर में बीते रविवार को 15 साल की बच्ची के साथ कथित तौर पर बलात्कार का मामला सामने आया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, आरोपी है कि बच्ची का बलात्कार एक मदरसे में मौलवी द्वारा किया गया.

कानपुर में गोविंदनगर थाने के सर्कल ऑफिसर आरके चतुर्वेदी ने बताया कि आरोपी मौलवी मदरसे में शिक्षक है. पीड़िता की शिकायत के बाद आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 व 506 और पॉक्सो अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.

मेरठ में भी नौ साल की बच्ची के साथ कथित तौर पर बलात्कार कर उसकी हत्या कर दी गई और शव सीवर में डाल दिया गया था. बच्ची चार जून से गायब थी.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, बीते आठ जून को पुलिस ने बताया कि इस संबंध में पुलिस ने शादाब नाम के युवक को गिरफ्तार किया गया है. आरोप है कि शादाब ने नाबालिग का अपहरण किया था.

रिपोर्ट के अनुसार, नाबालिग और आरोपी एक ही इलाके में रहते थे. आरोपी 2008 में दिल्ली के कमला नगर इलाके में हुई एक हत्या के संबंध में तिहाड़ जेल में चार साल की सजा काट चुका है.

सभी मामलों को संवेदनशीलता से देख रहे हैं: डीजीपी

उत्तर प्रदेश में नाबालिगों के साथ कथित बलात्कार की घटनाओं की पृष्ठभूमि में पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने सोमवार को कहा कि सभी मामलों को पूरी संवेदनशीलता के साथ देखा जा रहा है और त्वरित कार्रवाई हो रही है.

सिंह ने लखनऊ में संवाददाताओं से कहा कि हाल ही में सामने आई घटनाओं में से ज्यादातर ग्रामीण इलाकों में हुईं और अपराध उन लोगों ने किया जो पीड़िता के जानने वाले थे.

डीजीपी सिंह की टिप्पणी हाल ही में अलीगढ़, कुशीनगर, हमीरपुर, कानपुर और मेरठ में नाबालिगों के साथ कथित बलात्कार की खबरों के संदर्भ में आई है.

उन्होंने कहा कि ऐसे मामलों को पूरी संवेदनशीलता के साथ देखा जा रहा है और त्वरित कार्रवाई हो रही है.

सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन घटनाओं को गंभीरता से लिया है और बैठक बुलाई है, जिसमें इस मुद्दे पर विस्तार से चर्चा होगी.

अलीगढ़ में ढाई साल की एक बच्ची का क्षत-विक्षत शव मिला. मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई.

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के टप्पल में पैसे के लेनदेन में विवाद पर ढाई साल की एक बच्ची का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी गई थी. बच्ची 30 मई से गायब थी और तीन दिन बाद उसका शव बरामद किया गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)