भारत

कथित तौर पर ‘जय श्री राम’ का नारा नहीं लगाने पर कार सवार ने मौलवी पर किया हमला

यह घटना दिल्ली के रोहिणी की है. मौलवी का आरोप है कि 20 जून को कार सवार तीन लोगों ने उनसे जय श्री राम का नारा लगाने को कहा, इससे इनकार करने पर उन्होंने कार से टक्कर मार दी.

Rohini-ANI

मोहम्मद मोमिन, जिनका आरोप है कि इन्हें जय श्री राम नहीं बोलने की वजह से कार से टक्कर मार दी गई. (फोटोः एएनआई)

नई दिल्लीः दिल्ली के रोहिणी में एक मौलवी का आरोप है कि गुरुवार को कार सवार तीन लोगों ने उन्हें जय श्रीराम का नारा लगाने को कहा, जिससे इनकार करने पर उन्हें कार से टक्कर मार दी.

पुलिस का कहना है कि वह मौलवी के दावों की जांच कर रही है. इस हमले में मौलवी के सिर, चेहरे और हाथ में गंभीर चोटें आई हैं.

पुलिस में दर्ज शिकायत में शिकायतकर्ता मौलाना मोमिन (40) ने कहा कि यह घटना गुरुवार शाम को उस समय हुई, जब वह मस्जिद स मदरसे के पास टहल रहे थे.

मोमिन रोहिणी सेक्टर 20 के एक स्थानीय मदरसे में पढ़ाते हैं.

मोमिन का कहना है कि जब वह शाम को लगभग छह बजकर 45 मिनट पर मस्जिद की ओर जा रहे थे तो एक कार ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दी.

मोमिन ने कहा, ‘तीन लोगों ने मुझ से हाथ मिलाने की कोशिश की. मुझे उन के इरादों पर शक था लेकिन फिर भी मैंने उनसे हाथ मिलाया.’

मौलवी का कहना है कि तीनों ने उसके हालचाल के बारे में पूछा, जिसका उन्होंने जवाब दिया, ‘अल्लाह की कृपा से, मैं अच्छा हूं’. उन लोगों ने इस पर आपत्ति जताई और मौलवी से जय श्री राम का नारा लगाने को कहा.

मोमिन नेक हा कि उन्होंने जय श्री राम का नारा लगाने से इनकार कर दिया.

उन्होंने कहा, मैं वापस मस्जिद जाने लगा लेकिन मुझे एक वाहन ने टक्कर मारी. जमीन पर गिरते ही मैं होश खो बैठा.

उन्होंने बताया कि वहां से गुजर रहे एक शख्स ने पुलिस का बुलाया और इसके बाद उन्हें सुल्तानपुरी के संजय गांधी अस्पातल ले जाया गया. मोमिन के सिर, चेहरे और हाथ में चोटें आई हैं.

मोमन ने शुक्रवार को एक औपचारिक शिकायत दर्ज कराई.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता ने कथित घटना की रिपोर्ट की है और पुलिस ने 337 और 279 धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

पुलिस ने बताया कि वे तीन लोगों का पता लगाने के लिए सीसीटीवी कैमरों की जांच कर रहे हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)