दुनिया

अमेरिकी संसद ने ट्रम्प की कथित नस्लीय टिप्पणी के ख़िलाफ़ निंदा प्रस्ताव पारित किया

अमेरिका की चार अश्वेत महिला सांसदों पर देश से नफ़रत करने का आरोप लगाने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा था कि वे जहां जाना चाहें वहां जा सकती हैं, लेकिन उन्हें यहां रहना है तो देश से प्यार करना होगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प. (फोटो: रॉयटर्स)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प. (फोटो: रॉयटर्स)

वॉशिंगटन: अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की नस्लीय टिप्पणी के खिलाफ मंगलवार को निंदा प्रस्ताव पारित किया.

ट्रम्प ने रविवार को सिलसिलेवार ढंग से किए गए कई ट्वीट में कहा था कि चार डेमोक्रेटिक महिला सांसदों को अभी वहां लौट जाना चाहिए, जहां से वह आई हैं. गौरतलब है कि ये चारों महिला सांसद कठोर आव्रजन [Immigration] नीतियों की कड़ी आलोचना करती रही हैं.

डेमोक्रेटिक पार्टी की चार डेमोक्रेटिक अश्वेत महिला सांसदों- न्यूयॉर्क की एलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कोरटेज़, मिनेसोटा की इल्हान उमर, मैसाचुसेट्स की राशिदा तलाएब और मिशिगन की अयाना प्रेस्ली के खिलाफ की गई उनकी टिप्पणियों की आलोचना के बीच मंगलवार को सदन में यह निंदा प्रस्ताव पारित किया गया है.

ये चारों सांसद अमेरिकी नागरिक हैं और चारों में से तीन का जन्म अमेरिका में हुआ है. ट्रम्प की टिप्पणियों को लेकर मंगलवार को इन चारों महिला सांसदों ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी.

द न्यूयॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार, इल्हान उमर ने कहा, ‘वर्तमान में राष्ट्रपति देश की सीमा पर मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहे हैं. बच्चों को कैद कर रखा जा रहा है, लोग शौचालय का पानी पीने को मजबूर हो रहे हैं.’

अयाना प्रेस्ली ने कहा, ‘वाइट हाउस पर कब्जा करने वाले (ट्रम्प) के जेनोफोबिक (किसी देश या क्षेत्र के लोगों के प्रति नफरत या पूर्वाग्रह रखना) और कट्टर टिप्पणियों के बीच हम आपकी (अमेरिकी जनता) एकजुटता, प्रोत्साहन, समर्थन और आभारी हैं.’

अमेरिकी कांग्रेस के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में सांसद टॉम मलिनोवस्की द्वारा पेश किए गए प्रस्ताव के पक्ष में 240 मत पड़े, जबकि विरोध में 184 मत पड़े.

U.S. Reps Ayanna Pressley (D-MA), Ilhan Omar (D-MN), Rashida Tlaib (D-MI) and Alexandria Ocasio-Cortez (D-NY) hold a news conference after Democrats in the U.S. Congress moved to formally condemn President Donald Trump's attacks on the four minority congresswomen on Capitol Hill in Washington, U.S., July 15, 2019. REUTERS/Erin Scott

चार डेमोक्रेटिक सांसद- एलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कोरटेज़ (सबसे आगे), अयाना प्रेस्ली, इल्हान उमर और राशिदा तलाएब (पीछे बाएं से दाएं). (फोटो: रॉयटर्स)

मलिनोवस्की ने इस दौरान कहा, ‘हम ऐसे नहीं हैं. यह आग से खेलने जैसा है क्योंकि राष्ट्रपति जिन शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं उन्हें अशांत दिमाग के ऐसे लोग सुन रहे हैं जो भयानक चीजें करते हैं, हिंसक चीजें करते हैं. इसकी सीमा/हद तय करने की जरूरत है.’

उन्होंने कहा कि इसलिए हम यही करने की उम्मीद करते हैं.

महिला सांसद ग्रेस मेंग ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रम्प की टिप्पणियां नस्लवादी हैं.

प्रस्ताव में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की नस्लीय टिप्पणियों की कड़ी निंदा की गई है, जिसमें कहा गया कि इस टिप्पणी ने नए अमेरिकियों और अश्वेत लोगों के प्रति डर और नफरत को बढ़ाया है.

गौरतलब है कि अमेरिका की चार अश्वेत महिला सांसदों पर देश से नफरत करने का आरोप लगाने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि वे जहां जाना चाहें वहां जा सकती हैं, लेकिन उन्हें यहां रहना है, तो देश से प्यार करना होगा.

ट्रम्प ने कहा कि यह खतरनाक है जब लोग देश के बारे में बुरा बोलते हैं.

ट्रम्प ने मंगलवार को वाइट हाउस में अपनी कैबिनेट की बैठक के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘यह मेरी राय है कि वे (चार महिला कांग्रेसी) हमारे देश से नफरत करती हैं और यह अच्छा नहीं है. यह स्वीकार्य नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘यह उनके ऊपर है. वे जहां चाहें वहां जा सकती हैं या वे रह सकती हैं. लेकिन उन्हें हमारे देश से प्यार करना चाहिए. उन्हें हमारे देश से नफरत नहीं करनी चाहिए.’

डेमोक्रेटिक पार्टी की चार प्रगतिशील महिलाओं- एलेक्जेंड्रिया ओकासियो-कोरटेज, इल्हान उमर, राशिदा तालिब और अयाना प्रेसली के खिलाफ की गई उनकी टिप्पणियों की आलोचना के बीच उनकी यह प्रतिक्रिया आई है, जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें अमेरिका से नफरत है, तो उन्हें यहां से चले जाना चाहिए.

डेमोक्रेट्स ने इसे नस्लीय टिप्पणी करार दिया है, हालांकि ट्रम्प और वाइट हाउस ने इस आरोप को खारिज कर दिया है.

ट्रम्प ने कहा, ‘आप देखिए कि उन्होंने क्या कहा है. मेरे पास अभी वे क्लिप मौजूद हैं. हमारे देश के बारे में, इजराइल के बारे में उन्होंने कितना घृणित और खतरनाक बयान दिया है. यह उन पर है कि वे क्या चाहती हैं. वे यहां से जा सकती हैं या रह सकती हैं, लेकिन उन्हें हमारे देश से प्यार करना चाहिए और उन्हें हमारे देश की भलाई के लिए काम करना चाहिए.’

उधर, रिपब्लिकन नेतृत्व ने ट्रम्प का मजबूती से बचाव किया है और कहा कि ट्रम्प नस्लवादी नहीं हैं.

सीनेट मेजरिटी लीडर मिच मैककोनेल ने संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे लगता है कि इस बात पर आम सहमति है कि राजनीतिक बयानबाजी को वास्तव में राजनीतिक गलियारों में जरूरत से ज्यादा तूल दिया गया है.’

इस बीच, हाउस मेजरिटी लीडर स्टोनी होयर ने कहा कि ट्रम्प की टिप्पणी नस्लवादी है और राष्ट्र के मूल्यों के खिलाफ है.

होयर ने कहा, ‘हमारी विविधता हमें मजबूत बनाती है. राष्ट्रपति ऐसा नहीं कर सकते हैं और इसे बदल नहीं सकते हैं. हम अमेरिकी राष्ट्रपति की नस्लवादी टिप्पणी की निंदा करते हैं.’

सीनेट माइनॉरिटी लीडर चक शूमर ने कहा कि ट्रम्प ने जो किया वह घृणित है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)