भारत

पंजाब एंड सिंध बैंक ने भूषण स्टील द्वारा 238 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की सूचना दी

भूषण स्टील पर पंजाब एंड सिंध बैंक के अलावा इलाहाबाद बैंक के साथ 1,774.82 करोड़ रुपये और पंजाब नेशनल बैंक के साथ 3,805.15 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने का आरोप है.

(फोटो साभार: फेसबुक)

(फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब एंड सिंध बैंक ने बुधवार को 238 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की सूचना दी. बैंक ने कहा है कि यह धोखाधड़ी भूषण पावर एंड स्टील (बीपीएसएल) ने की है.

इससे पहले, पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) और इलाहाबाद बैंक ने हाल ही में इसी प्रकार की धोखाधड़ी की सूचनाएं दी थीं.

पंजाब एंड सिंध बैंक (पीएसबी) ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा, ‘फॉरेंसिक ऑडिट जांच और स्वत: संज्ञान लेकर कंपनी तथा उसके निदेशकों के खिलाफ सीबीआई की प्राथमिकी के आधार पर 238.30 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की सूचना आरबीआई को दी गई है.’

प्राथमिकी में बैंकों से कोष की हेराफेरी का आरोप लगाया गया है. बैंक ने कहा, ‘बीपीएसएल के खातों को लेकर बैंक पहले ही 189.35 करोड़ रुपये का प्रावधान कर चुका है.’

पीएसबी ने कहा कि कंपनी ने बैंक कोष की धोखाधड़ी की और कर्जदाता बैंकों के समूह से कोष जुटाने को लेकर बही-खाते को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया.

उन्होंने कहा, ‘फिलहाल मामला राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण के पास है जो अग्रिम चरण में है और बैंक को इस मामले में अच्छी वसूली की उम्मीद है.’

इससे पहले, इलाहाबाद बैंक और पंजाब नेशनल बैंक ने भूषण पावर एंड स्टील द्वारा क्रमश: 1,774.82 करोड़ रुपये तथा 3,805.15 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की सूचना दी थी.

उम्मीद की जा रही है कि आने वाले दिनों में और अधिक बैंक बीपीएसएल की धोखाधड़ी के बारे में सूचना दे सकते हैं, क्योंकि अप्रैल में सीबीआई द्वारा दर्ज की गई शिकायतों में कई अन्य बैंकों के नाम भी शामिल हैं.

सीबीआई की एफआईआर में कंपनी के चेयरमैन संजय सिंघल, उपाध्यक्ष आरती सिंघल सहित अन्य निदेशकों के नाम संदिग्धों में शामिल हैं.

सीबीआई ने कहा है, ‘कंपनी ने वर्ष 2007 से 2014 के दौरान 33 बैंकों/वित्तीय संस्थानों से विभिन्न ऋण सुविधाओं का लाभ उठाकर लगभग 47,204 करोड़ रुपये का कर्ज उठाया और उसे समय पर नहीं लौटाया.’

इसके बाद, मुख्य बैंक पीएनबी ने खाते को एनपीए घोषित कर दिया, जिसके बाद अन्य बैंकों और वित्तीय संस्थानों ने भी इस ऋण खाते को एनपीए घोषित कर दिया.

इलाहाबाद बैंक ने एसईएल मैन्यूफैक्चरिंग द्वारा 688 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की जानकारी दी

दूसरी तरफ, इलाहाबाद बैंक ने बुधवार को बताया कि एसईएल मैन्यूफैक्चरिंग ने उसके साथ 688.27 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है. बैंक ने शेयर बाजारों को बताया है कि यह मामला राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) के समक्ष है. बैंक ने बताया है कि रिजर्व बैंक को भी इसकी सूचना दे दी गई है.

इलाहाबाद बैंक का मुख्यालय कोलकाता में है. बैंक ने पिछले सप्ताह भी एक सूचना में कहा था कि भूषण स्टील एंड पावर को दिए गए ऋण में भी उसके साथ 1,774.82 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी हुई है और कंपनी ने कर्ज के पैसे की हेराफेरी की.

बैंक ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए कहा था कि भूषण स्टील के कर्ज के संबंध में उसने अपने लाभ हानि के खाते में 900.20 करोड़ रुपये के नुकसान का प्रावधान पहले ही कर रखा है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)