भारत

उत्तर प्रदेश: सेप्टिक टैंक की सफाई करते समय तीन कर्मचारियों की मौत, दो की हालत गंभीर

मामला उत्तर प्रदेश के हापुड़ ज़िले का है. पिलखुवा थाना क्षेत्र के टैक्सटाइल सिटी में स्थित जीएस दास कैमिकल फैक्ट्री में शुक्रवार दोपहर सेप्टिक टैंक की सफाई करने के लिए एक कर्मचारी उतरा था, जबकि बाकी चार उसे बचाने के लिए टैंक में उतरे थे.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

हापुड़: उत्तर प्रदेश के हापुड़ जनपद में एक जींस फैक्ट्री में टैंक की सफाई करते समय तीन कर्मचारियों की दम घुटने से मौत हो गई.

जनपद के थाना पिलखुवा क्षेत्र के टैक्सटाइल सिटी में स्थित जीएस दास कैमिकल फैक्ट्री में शुक्रवार दोपहर टैंक की सफाई के दौरान एक कर्मचारी बेहोश हो गया और उसे बचाने एक एक कर गए दो अन्य कर्मचारी भी बेहोश हो गए.

पुलिस अधीक्षक डा. यशवीर सिंह ने बताया कि तीनों कर्मचारियों की टैंक में ही दम घुटने से मौत हो गई. उन्होंने बताया कि मरने वाले दो लोगों की पहचान ताराशंकर और जीत यादव के रूप में की गयी है जबकि एक अन्य की पहचान नहीं हो सकी है .

सिंह ने बताया कि घटना में दो अन्य घायल भी हुए हैं और मामले की जांच की जा रही है.

नवभारत टाइम्स के अनुसार, पिलखुवा क्षेत्र में दिल्ली निवासी बीएस दास की जीएस दास केमिकल फैक्ट्री है. शुक्रवार दोपहर केमिकल टैंक साफ करवाने के लिए हापुड़ से कुछ मजदूर बुलाए गए. जिनमें से एक मजदूर जीतू उर्फ जितेंद्र सफाई करने के लिए सेप्टिक टैंक में उतरा.

सफाई करते समय उसका दम घुटने लगा, तो वहां मौजूद अन्य मजदूरों व गार्ड ने उसे बचाने की कोशिश की. इस दौरान जीतू, गार्ड ताराशंकर व हापुड़ निवासी मजदूर रवि की टैंक में दम घुटने से मौत गई. जबकि, यूसुफ पुत्र यासीन निवासी असौड़ा गांव, मेरठ रोड को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया.

घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में एसपी डॉ. यशवीर सिंह, सीएमओ डॉ. राजवीर सिंह, एसडीएम विशाल यादव, सीओ संतोष कुमार, सहायक श्रमायुक्त सुभाष यादव व अग्निशमन अधिकारी जीत सिंह मौके पर पहुंचे

टैंक से शवों को निकालने के लिए फायर ब्रिगेड व जेसीबी मशीन मंगाई गई. टैंक के न टूट पाने पर फायर ब्रिगेड के मनवीर को उसमें उतारा गया, जिसने रस्सी के सहारे शवों को ऊपर पहुंचाया. इस दौरान वह भी बेहोश हो गया और टैंक में गिर कर घायल हो गया. दोनों प्रभावितों को जीएस मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है.

मौके पर पहुंचे एसपी डॉ. यशवीर सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और एफआईआर दर्ज की जाएगी.

डीएम अदिति सिंह ने जांच का आदेश देते हुए बताया कि मृतकों के परिवार को श्रम विभाग और मुख्यमंत्री सर्वहित बीमा योजना के तहत आर्थिक सहायता दिलाई जाएगी. फैक्ट्री मालिक के खिलाफ केस दर्ज कराया जाएगा. मौके पर राहत व बचाव कार्य जारी है.