भारत

दिल्लीः आईआईटी कैंपस में एक ही परिवार के तीन सदस्यों के शव मिले

पुलिस का कहना है कि इस दंपति की शादी इसी साल फरवरी में हुई थी. दोनों की यह दूसरी शादी थी और शादी के दो महीने बाद ही महिला ने पति के खिलाफ घरेलू हिंसा की शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस को आत्महत्या का शक है.

IIT-Delhi-PTI

(फोटोः पीटीआई)

नई दिल्लीः दक्षिण दिल्ली में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के परिसर में एक ही परिवार के तीन सदस्यों के शव फंदे से लटके मिले.

पुलिस को परिवार में 35 साल के व्यक्ति, उसकी पत्नी और मां की लाशें फंदे से लटकती मिली.

पुलिस को शक है कि तीनों ने शुक्रवार देर रात खुदकुशी की. हालांकि, घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है.

पुलिस ने शनिवार को बताया कि आईआईटी के जैव रासायनिकी विभाग की प्रयोगशाला के वरिष्ठ सहायक गुलशन दास (35) शुक्रवार रात को फांसी के फंदे से लटके मिले. उनकी पत्नी सुनीता और मां कांता भी अन्य दो कमरों में फांसी से लटकती मिलीं.

पुलिस का कहना है कि जब वह घर पर पहुंची तो बाहर का दरवाजा खुला है.

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पश्चिम) देवेंद्र आर्य ने कहा कि सभी कपड़े के फंदे से लटके हुए थे.  शवों को सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया है.

उन्होंने बताया कि अपराध और अपराध विज्ञान टीम ने घटनास्थल का मुआयाना किया और प्रथमदृष्टया तीनों के शरीर पर बाहरी जख्म का कोई निशान नहीं मिला है.

पुलिस के अनुसार, दास और सुनीता की फरवरी,2019 में शादी हुई थी. दोनों की यह दूसरी शादी थी.

शादी के दो महीने बाद ही सुनीता ने दास के खिलाफ घरेलू हिंसा की शिकायत दर्ज कराई थी.

सुनीता ने दास पर मारपीट करने और घर छोड़कर चले जाने के लिए कहने का आरोप लगाया था.उसने दास पर दहेज की मांग करने का भी आरोप लगाया था.

पुलिस को संदेह है कि दोनों के बीच शुक्रवार की रात को झगड़ा हुआ होगा जिसके बाद परिवार के तीनों सदस्यों ने यह अतिवादी कदम उठाया. दिनभर सुनीता द्वारा फोन नहीं उठाने पर उसकी मां घबरा गयी और उसने पुलिस को इस संबंध में सूचना दी. मामले की जांच की जा रही है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)