भारत

सड़क हादसे में उन्नाव रेप पीड़िता गंभीर रूप से घायल, भाजपा विधायक पर है रेप का आरोप

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में हुआ हादसा. हादसे में पीड़िता के दो रिश्तेदारों की मौत. वकील गंभीर रूप से घायल. उन्नाव ज़िले के बांगरमऊ से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर युवती से बलात्कार का आरोप है. इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है.

हादसे में क्षतिग्रस्त कार. (फोटो साभार: एएनआई)

हादसे में क्षतिग्रस्त कार. (फोटो साभार: एएनआई)

लखनऊ: भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली युवती रविवार को एक सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गईं.

उत्तर प्रदेश के रायबरेली शहर में हुए इस हादसे में युवती के दो रिश्तेदारों की मौत हो गई, जबकि युवती और उनका केस लड़ रहे वकील गंभीर रूप से घायल हैं.

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में लखनऊ रेंज के आईजी एसके भगत ने बताया कि हादसे युवती की चाची और एक अन्य रिश्तेदार की मौत हो गई.

हादसे में पीड़िता की मां की भी मौत की ख़बरें आ रही हैं, लेकिन इसकी अभी ठीक से पुष्टि नहीं हो सकी है.

हादसे में घायल वकील महेंद्र सिंह के जूनियर वकील विमल कुमार यादव ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में बताया, ‘हादसे में पीड़िता, उनकी मां, चाची और उनके वकील घायल हो गए थे. गंभीर रूप से घायल पीड़िता की मां और चाची की मौत हो गई, जबकि पीड़िता और उनके वकील की हालत गंभीर बनी हुई है.’

बलात्कार पीड़िता और उनके परिवार के अन्य सदस्यों को लखनऊ के केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है.

एसके भगत ने बताया कि ट्रक के मालिक देवेंद्र सिंह और ड्राइवर अमित पाल को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा घटनास्थल की जांच के लिए लखनऊ से एक फॉरेंसिक टीम भेजी गई है.

बलात्कार पीड़िता अपने परिवार के सदस्यों के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने गई हुई थीं. हादसा रायबरेली जेल से 15 किलोमीटर दूर तब हुआ जब फतेहपुर से आ रहे एक ट्रक से उनकी कार की टक्कर हो गई.

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, हादसा गुरुबक्शगंज थाना क्षेत्र में रायबरेली-बांदा हाईवे पर सुल्तानपुर खेड़ा मोड़ के पास हुआ. ट्रक का नंबर यूपी 71 एटी 8300 है और नंबर प्लेट ट्रक के आगे और पीछे दोनों तरफ लगे हुए हैं. हालांकि दोनों तरफ के नंबर प्लेटों पर ग्रीस पोता गया था, ताकि नंबर न दिख सके.

उन्नाव के पुलिस अधीक्षक एमके वर्मा ने बताया, ‘जिस समय हादसा हुआ उस समय पीड़िता को मुहैया कराए गए सुरक्षा गार्ड उनके साथ नहीं थे. मामले की जांच जारी है. जांच खत्म होने के बाद कार्रवाई की जाएगी.’

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कांग्रेस विधायक आराधना मिश्रा ने कहा, ‘उन्नाव बलात्कार पीड़िता आज संदिग्ध परिस्थितियों में सड़क हादसे का शिकार हो गईं. हादसे में उनके परिवार के दो सदस्यों की मौत हो गई. कांग्रेस इस घटना की जांच की मांग करती है.’

मालूम हो कि इस बलात्कार मामले में उत्तर प्रदेश में उन्नाव जिले के बांगरमऊ से भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर आरोपी हैं. फिलहाल वह और उनके भाई अतुल सेंगर जेल में बंद हैं. युवती का आरोप है कि साल 2017 में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने उनका अपहरण कर उनके साथ बलात्कार किया था.

पिछले साल उन्नाव बलात्कार मामला राष्ट्रीय स्तर पर तब सुर्खियों में आया था जब बलात्कार पीड़िता और उनकी मां ने लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश की थी.

इसके बाद पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी. पुलिस ने उन्हें आर्म्स एक्ट के तहत हिरासत में लिया था. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनके शरीर पर चोट के निशान पाए जाने की बात सामने आई थी.

यूपी पुलिस द्वारा भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का बचाव करने के आरोपों के बाद यह मामला सीबीआई को सौंप दिया गया था. सीबीआई ने मामले में तीन प्राथमिकियां दर्ज की हैं. ये मामले किशोरी के कथित बलात्कार, उसके पिता की हत्या तथा किशोरी के पिता पर हथियार अधिनियम के तहत दर्ज मामला जिसके आधार पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया था, से जुड़े हुए हैं.