भारत

उत्तर प्रदेश के अमेठी में सेना के रिटायर कैप्टन की पीट-पीट कर ​हत्या

अमेठी ज़िले के गोडियन का पुरवा गांव का मामला. अज्ञात बदमाश सेना के रिटायर कैप्टन अमानुल्लाह ख़ान के घर के बगल में स्थित दुकान से चोरी कर रहे थे. अमानुल्लाह की पत्नी ने बताया कि उनके पति ने चोरी का विरोध किया था.

सेना के रिटायर कैप्टन की हत्या के बाद घटनास्थल का मुआयना करती पुलिस. (फोटो साभार: एएनआई)

सेना के रिटायर कैप्टन की हत्या के बाद घटनास्थल का मुआयना करती पुलिस. (फोटो साभार: एएनआई)

अमेठी: उत्तर प्रदेश के अमेठी में कमरौली थाना क्षेत्र के गोडियन का पुरवा गांव में 28 जुलाई की देर रात को सेना के एक सेवानिवृत्त कैप्टन अमानुल्लाह ख़ान की अज्ञात बदमाशों ने लाठी-डंडों से पीट-पीट कर हत्या कर दी.

अमानुल्लाह के पुत्र इब्राहिम ने बताया कि उनके माता-पिता सड़क किनारे बने मकान में रहते थे. रात को कुछ बदमाश घर आए और पिता अमानुल्लाह एवं मां अमीना को रस्सी से बांध दिया तथा पिता के सिर पर लाठी-डंडों से प्रहार कर उनकी हत्या कर दी.

अमेठी के अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम ने रविवार को बताया कि पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. मामले की जांच चल रही है.

कांग्रेस महासचिव ने इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘यूपी की कानून व्यवस्था अब प्रशासन के हाथ से निकल गई है. अपराध होते जा रहे हैं लेकिन भाजपा सरकार की मंशा केवल लीपा-पोती करने की है. ये मेरे घर अमेठी की घटना है. क्या भाजपा सरकार से वाकई में इस समस्या का कोई हल निकलेगा या इसी तरह लीपापोती कर सोती रहेगी?’

एएसपी दयाराम ने बताया कि अमानुल्लाह की पत्नी ने पुलिस को बताया कि कुछ लोग उनके घर से सटी दुकान से चोरी करने की कोशिश कर रहे थे, जब उनके पति ने इसका विरोध किया और कहा कि वह पुलिस को इसकी सूचना दे देंगे. इस पर वे लोग उनके घर में घुसे और उसके साथ मारपीट की. हमलावरों ने उनका गला घोंटने की कोशिश की.

अमानुल्लाह के बेटे इब्राहिम ने बताया कि जब घटना हुई तो परिवार का कोई अन्य सदस्य घर में मौजूद नहीं था. इब्राहिम की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जा रही है.

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में अमेठी के एसपी राजेश कुमार ने बताया, ‘मृतक और उनकी पत्नी अपने नए बने घर में सो रहे थे जब चोर उनके घर के बाहर रखे एक ठेकेदार के सड़क निर्माण से जुड़े सामान चोरी कर रहे थे. अमानुल्लाह ने इसका विरोध किया था, जिसके बाद उनकी पीट पीटकर हत्या कर दी गई है. इस संबंध में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)