भारत

उत्तर प्रदेश: अलीगढ़ में सड़क पर होने वाले धार्मिक आयोजनों पर लगी रोक

कुछ हिंदुत्ववादी समूहों द्वारा सड़कों पर नमाज़ पढ़ने के ख़िलाफ़ हनुमान चालीसा पाठ करने को कहा गया था. इस पर अलीगढ़ जिला प्रशासन यह रोक लगाई है. हिंदू जागरण मंच इस फैसले को लेकर अलीगढ़ जिलाधिकारी को चेतावनी दी.

(फोटो साभार: India Rail Info)

(फोटो साभार: India Rail Info)

अलीगढ़: अलीगढ़ जिला प्रशासन ने सड़कों पर धार्मिक आयोजनों पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है. यह निर्णय कुछ हिंदुत्ववादी समूहों द्वारा सड़कों पर नमाज़ पढ़ने के खिलाफ हनुमान चालीसा पाठ करने की योजना के बाद आया है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीते रविवार को कहा कि जिला प्रशासन ने यह कदम किसी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए ऐहतियात के तौर पर उठाया है.

जिला प्रशासन पिछले सप्ताह उस समय हरकत में आ गया था जब हिंदू जागरण मंच सहित कुछ हिंदुत्ववादी समूहों ने हर मंगलवार को सड़क पर हनुमान चालीसा का पाठ करने और आरती करने की घोषणा की थी.

ये संगठन मुस्लिमों द्वारा शुक्रवार को जुमे की नमाज़ सड़कों पर अता करने का विरोध कर रहे थे.

अलीगढ़ प्रशासन का निर्णय हालांकि हिंदू जागरण मंच के नेताओं को पसंद नहीं आया और उसने घोषणा कि वे प्रतिबंध की अवहेलना करेंगे.

हिंदू जागरण मंच के प्रदेश महासचिव सुरेंद्र सिंह भागोर ने प्राधिकारियों को सार्वजनिक रूप से चुनौती दी और सड़क पर सभी धार्मिक आयोजनों को प्रतिबंधित करने को लेकर अलीगढ़ जिलाधिकारी को चेतावनी दी.

उन्होंने शुक्रवार को एक बयान में जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह को हनुमान चालीसा पाठ के वाचन को प्रतिबंधित करने के उनके आदेश पर आगे बढ़ने के खिलाफ आगाह किया.

अधिकारी ने कहा कि चेतावनी देने वाला उनका वीडियो क्लिप वायरल होने के बाद शनिवार को उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 147 और 506 और 153 के तहत मामला दर्ज किया गया है. अधिकारी ने कहा कि आगे की जांच जारी है.