समाज

अभिनेत्री रीमा लागू का निधन

फिल्मों में मां के रूप में निभाए गए उनके किरदारों के लिए जाना जाता है. फिल्म मैंने प्यार किया में सलमान ख़ान और वास्तव में संजय दत्त की मां का किरदार निभा चुकी थीं.

Reema-Lagoo

(फोटो साभार: newsworldindia.in)

मैंने प्यार किया, हम आपके हैं कौन और कल हो न हो जैसी फिल्मों में शानदार अभिनय के लिए जानी जाने वाली अभिनेत्री रीमा लागू का बृहस्पतिवार को तड़के मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया.

वह 59 वर्ष की थीं.

अस्पताल के कार्यकारी निदेशक राम नारायण ने बताया कि रीमा को सीने में दर्द की शिकायत के बाद बुधवार देर रात अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

उन्होंने कहा, हम उनके परिवार के साथ विचार-विमर्श करने के बाद दिन में उनके स्वास्थ्य संबंधी एक रिपोर्ट जारी करेंगे.

रीमा के दामाद विनय वैकुल ने कहा, उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत की थी इसलिए हम उन्हें बुधवार रात एक बजे अस्पताल लेकर गए. उनका सवा तीन बजे दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वह एकदम स्वस्थ थीं और उन्हें स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी नहीं थी. वह अब हमारे साथ नहीं हैं, यह हमारे लिए वास्तव में सदमा है.

रीमा ने कई टीवी कार्यक्रमों के अलावा मराठी और हिंदी फिल्मों में भी काम किया था.

उनके परिवार में बेटी मरूनमयी हैं. रंगमंच और फिल्मों में अभिनय करने के साथ ही वह रंगमंच निर्देशक भी हैं.

रीमा ने मैंने प्यार किया, साजन, वास्तव, कुछ कुछ होता है और हम साथ साथ हैं जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में अभिनय किया है. इसके अलावा उन्होंने तू तू मैं मैं और श्रीमान श्रीमती जैसे लोकप्रिय टीवी धारावाहिकों में भी अभिनय किया था.

रीमा लागू को फिल्मों में मां के रूप में निभाए गए उनके किरदारों के लिए जाना जाता है. हिंदी सिनेमा की उदास रहने वाली और आंसू बहाने वाली सफेद साड़ी पहनने वाली मां के आम किरदार से विपरीत अपने किरदारों के ज़रिये रीमा लागू ने ज़िंदादिल और मुस्कुराती हुई आधुनिक मां का प्रतिनिधित्व किया. इससे पहले हिंदी फिल्मों के दर्शक उस मां से अधिक परिचित थे जिसे निरूपा रॉय ने कई बार पर्दे पर उकेरा.

उन्होंने फिल्मों में अपनी उम्र से कुछ ही साल छोटे अभिनेताओं एवं अभिनेत्रियों की मां की भूमिका निभाई. उन्होंने फिल्म मैंने प्यार किया, साजन, हम साथ साथ हैं में सलमान ख़ान के मां का रोल निभाया था. फिल्म कयामत से कयामत तक में उन्होंने जूही चावला और हम आपके हैं कौन में माधुरी दीक्षित की मां के रोल में नज़र आई थीं.

इसके अलावा फिल्म वास्तव में वह गैंगस्टर बने संजय दत्त की मां बनी थीं. फिल्म जय किशन में अक्षय कुमार, फिल्म गुमराह में श्रीदेवी, फिल्म रंगीला में वह उर्मिला मातोंडकर, कुछ कुछ होता है में काजोल, कल हो न हो में शाहरुख ख़ान की मां का किरदार निभा चुकी हैं.

उन्होंने चार दशक तक अभिनय किया और अभी वह नामकरण धारावाहिक में अभिनय कर रही थीं जो स्टार प्लस पर प्रसारित होता है.

रीमा का असली नाम नयन खदबड़े था. उनका जन्म तीन फरवरी 1958 में हुआ था. वह प्रसिद्ध मराठी अभिनेत्री मंदाकिनी खदबड़े की बेटी थी. मराठी अभिनेता विवेक लागू से शादी के बाद उन्होंने रीमा लागू नाम को अपनाया. हालांकि बाद में वह और उनके पति अलग हो गए थे.

पुणे में पढ़ाई के दौरान ही रीमा में अभिनय के प्रति रुझान दिखने लगा था. हाईस्कूल की पढ़ाई के बाद उन्होंने पेशेवर तौर पर अभिनय शुरू किया.

मराठी रंगमंच से उन्होंने इस सफर की शुरुआत की. साल 1979 में फिल्म सिंहासन से उन्होंने मराठी सिनेमा में पदार्पण किया. इसके बाद साल 1980 में उन्होंने फिल्म कलयुग से बतौर सह अभिनेत्री हिंदी सिनेमा में कदम रखा था.

उनके निधन पर अमिताभ बच्चन, ऋषि कपूर, महेश भट्ट, माधुरी दीक्षित, अक्षय कुमार, प्रियंका चोपड़ा, करण जौहर जैसी फिल्मी हस्तियों ने शोक जताया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)