भारत

उन्नाव बलात्कार पीड़िता की हालत गंभीर, जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया: एम्स के डॉक्टर

 उन्नाव बलात्कार पीड़िता के वकील को मंगलवार सुबह बेहतर इलाज के लिए विशेष एयर एंबुलेंस से लखनऊ से दिल्ली लाया गया. वह अभी भी कोमा में हैं.

दिल्ली स्थित एम्स. (फोटो साभार: फेसबुक)

दिल्ली स्थित एम्स. (फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्लीः दिल्ली के एम्स के ट्रॉमा सेन्टर में भर्ती उन्नाव सामूहिक बलात्कार पीड़िता की हालत बहुत नाजुक है और उसे जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया है. अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने मंगलवार को यह जानकारी दी.

पीड़िता को सोमवार को लखनऊ से  दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था. .

एम्स ट्रॉमा सेंटर के प्रमुख डॉक्टर राजेश मल्होत्रा ने कहा, ‘वह बीमार है, जीवनरक्षक प्रणाली पर है और रक्तचाप सामान्य बनाए रखने के लिए उसे दवाओं की जरूरत पड़ रही है. मरीज की हालत नाजुक है और विभिन्न क्षेत्रों के डॉक्टरों की टीम उसका इलाज कर रही है.’

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने रायबरेली में पिछले सप्ताह कार और ट्रक की टक्कर में गंभीर रूप से घायल हुई पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली के एम्स में भर्ती करने का आदेश दिया था.

28 जुलाई को हुए इस हादसे में पीड़िता और उसके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे जबकि उसकी दो महिला रिश्तेदारों की मौत हो गई थी.

इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने उत्तर प्रदेश से भाजपा के निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर सहित 10 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मंगलवार को एम्स में पीड़िता के परिजन से मुलाकात की.

मालीवाल ने एम्स में परिजन से मिलने के बाद कहा, ‘उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मां से मिली. बच्ची की स्थिति गंभीर बनी हुई है. डॉक्टरों का कहना है कि उसे न्यूमोनिया हो गया है, उसके जीवन को खतरा है. उसकी मां बहुत परेशान हैं. आयोग की टीम बीते 24 घंटे से उनके परिवार के साथ है और वहीं रहेगी. हम हरसंभव मदद करेंगे.’

रायबरेली दुर्घटना में घायल उन्नाव बलात्कार पीड़िता के वकील को विशेष एयर एंबुलेस से दिल्ली भेजा गया

रायबरेली सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल उन्नाव बलात्कार पीड़िता के वकील को मंगलवार सुबह बेहतर इलाज के लिए विशेष एयर एंबुलेंस से लखनऊ से दिल्ली लाया गया.

वहीं, पीड़िता को सोमवार शाम को ही लखनऊ के केजीएमयू से एयर एम्बुलेंस से दिल्ली लाया गया था.

लखनऊ के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि दिल्ली से विशेष एयर एंबुलेंस सुबह दस बजे लखनऊ पहुंची. सवा दस बजे घायल वकील को केजीएमयू से विशेष एम्बुलेंस से लखनऊ हवाईअड्डा रवाना कर दिया गया.

केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर प्रभारी डॉ संदीप तिवारी ने बताया कि घायल वकील महेंद्र सिंह को वेंटीलेटर से हटा दिया गया है लेकिन सिर में लगी चोट के कारण अभी वह खतरे से बाहर नहीं है. वह अभी भी कोमा में हैं. उनके गले में छोटा सा छेद करके (ट्रैकियोस्टोमी) टयूब द्वारा ऑक्सीजन दी जा रही है.

उन्होंने कहा कि जब कोई भी मरीज चार दिन से ज्यादा वेंटीलेटर पर रहता है तो उसे ऑक्सीजन देने के लिये ट्रैकियोस्टोमी विधि का इस्तेमाल किया जाता है. इससे पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन भी मरीज को मिलती रहती है और फेंफड़ों आदि की सफाई करने में भी आसानी होती है.

इससे पहले सोमवार को दिल्ली की एक अदालत ने उन्नाव बलात्कार मामले के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उत्तर प्रदेश के सीतापुर जेल से दिल्ली के तिहाड़ जेल स्थानांतरित करने का निर्देश दिया.

सत्र न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने सामूहिक बलात्कार के मामले में आरोप तय करने को लेकर दलीलों के लिए सात अगस्त की तारीख तय की है. यह दिल्ली की अदालत में स्थानांतरित किए गए चार मामलों में से एक है.

गौरतलब है कि 28 जुलाई को रायबरेली में उन्नाव बलात्कार पीड़िता और उनके वकील जिस कार में सवार थे, उसकी एक ट्रक से टक्कर हो गई थी, जिसमें पीड़िता के दो महिला रिश्तेदारों की मौत हो गई थी जबकि पीड़िता और उनका वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे.