भारत

पहलवान महावीर और उनकी बेटी बबीता फोगाट भाजपा में शामिल हुए

पहलवान महावीर फोगाट और उनकी पदक विजेता बेटी बबीता फोगाट हरियाणा विधानसभा चुनाव से दो महीने पहले भाजपा से जुड़े हैं. इससे पहले महावीर फोगाट दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी की खेलकूद इकाई के प्रमुख थे.

महावीर फोगाट और बबीता फोगाट के साथ भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा. (फोटो साभार: एएनआई)

महावीर फोगाट और बबीता फोगाट के साथ भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा. (फोटो साभार: एएनआई)

चंडीगढ़: पहलवान महावीर फोगाट और उनकी पदक विजेता बेटी बबीता फोगाट सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए. पिता-पुत्री दोनों पर बॉलीवुड की फिल्म ‘ दंगल’ बनी है. इसमें महावीर फोगाट की भूमिका आमिर खान ने निभाई थी.

जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) की खेलकूद इकाई के प्रमुख महावीर फोगाट जेजेपी छोड़कर भाजपा में शामिल होंगे. इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) में विभाजन के बाद हिसार के सासंद दुष्यंत चौटाला ने पिछले साल जननायक जनता पार्टी बनायी थी.

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने महावीर फोगाट और बबीता फोगाट को पट्टा पहनाकर पार्टी में शामिल कराया.

महावीर फोगाट और बबीता फोगाट हरियाणा विधानसभा चुनाव से दो महीने पहले भाजपा से जुड़े हैं.

भाजपा में शामिल होने की वजह के बारे में पूछे जाने पर महावीर फोगाट ने कहा, ‘हम नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों और कार्यक्रम से प्रभावित हैं.’

उन्होंने अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म करने के मोदी सरकार के फैसले को ‘सही फैसला’ बताया.

द्रोणाचार्य पुरस्कार से सम्मानित महावीर फोगाट ने कहा, ‘केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रहित में अनुच्छेद 370 का निरसन और कई अन्य फैसलों ने मुझे और मुझ जैसे लाखों देशवासियों को प्रभावित किया. हम सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक कार्यक्रम में भाजपा में शामिल होंगे.’

उन्होंने हरियाणा की मनोहर लाख खट्टर की अगुवाई वाली भाजपा सरकार की यह कहते हुए प्रशंसा की कि उसने निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से युवाओं को नौकरियां दीं.

अनुच्छेद 370 के निरसन पर बबीता फोगाट ने ट्वीट किया था, ‘यह दिन सदैव याद रखा जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को सलाम. जयहिंद.’

हालांकि उन्होंने ‘कश्मीर से दुल्हन’ संबंधी बयान देकर विवाद पैदा करने वाले खट्टर का बचाव भी किया था और मीडिया से उनके बयान को तोड़मरोड़ कर पेश न करने की अपील की थी.

बता दें कि, 30 साल की बबीता ने साल 2014 और 2018 के कॉमनवेल्‍थ खेलों में स्वर्ण पदक जीता था. वर्ष 2010 के कॉमनवेल्‍थ खेलों में वे रजत पदक भी जीत चुकी हैं. 2012 में आयोजित वर्ल्‍ड रेसलिंग चैंपियनशिप में बबीता ने कांस्य पदक हासिल किया था. 2013 की एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में भी उन्‍हें कांस्य पदक मिला था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)