भारत

पीवी सिंधु विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय बनीं

विश्व बैडमिंटन चैम्पियनशिप में सिंधु का यह पांचवां पदक है. सिंधु ने दो कांस्य पदक के साथ टूर्नामेंट के पिछले दो सत्र में दो रजत पदक भी हासिल किया है.

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु. (फोटो साभार: ट्विटर)

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु. (फोटो साभार: ट्विटर)

बासेल (स्विट्जरलैंड): पीवी सिंधु बीते रविवार को स्विट्जरलैंड के बासेल में चल रही बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप के एकतरफा फाइनल में जापान की प्रतिद्वंद्वी नोजोमी ओकुहारा को हराकर स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बन गईं.

फाइनल मुकाबले में रियो ओलंपिक की रजत पदक विजेता भारतीय खिलाड़ी सिंधु ने 38 मिनट में 21-7 21-7 से आसान जीत दर्ज की.

सिंधु ने इसके साथ ही दो साल पहले इस टूर्नामेंट के फाइनल में ओकुहारा से मिली हार का बदला भी ले लिया.

विश्व चैम्पियनशिप में सिंधु का यह पांचवां पदक है. पदकों की संख्या के मामले में सिंधु ने चीन की पूर्व ओलंपिक चैम्पियन झांग निंग की रिकॉर्ड की बराबरी की. सिंधु ने दो कांस्य पदक के साथ टूर्नामेंट के पिछले दो सत्र में दो रजत पदक भी हासिल किया है.

फाइनल में जीत के बाद द हिंदू से बातचीत में सिंधु ने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो ओकुहारा के प्रदर्शन को देखते हुए मेरा अनुमान था कि मुकाबला लंबा चलने वाला है. निश्चित तौर पर कोरियाई कोच किम जी ज्यून और गोपी सर (पुलेला गोपीचंद) के मार्गदर्शन और सलाह की इस जीत में बड़ी भूमिका है.’

उन्होंने कहा, ‘फाइनल मुकाबले में कोर्ट में प्रवेश करने से पहले मैंने कोई दबाव महसूस नहीं किया. मैं अपना सर्वश्रेष्ठ शॉट देना चाहती थी और जब फाइनल मुकाबला शुरू हुआ तब इस बात को लेकर परेशान नहीं थी कि जीतूंगी या हारूंगी.’

इससे पहले भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु ने चीन की चेन यू फेई को 21-7 और 21-14 से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी. मालूम हो कि सिंधु लगातार तीसरी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं हालांकि इससे पहले के दो फाइनल मुकाबलों में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था.

साल 2018 में उन्हें स्पेन की कैरोलिना मरीन और 2017 में जापान की नोजोमी ओकुहारा ने खिताबी मुकाबले में सिंधु को मात दी थी.

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी बधाई

नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीवी सिंधु को विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप जीतने पर बधाई देते हुए रविवार को कहा कि उनका समर्पण प्रेरणादायी है.

राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप जीतने पर बधाई पीवी सिंधु. यह पूरे देश के लिए गौरवशाली क्षण है. कोर्ट पर आपका जादुई खेल, कड़ी मेहनत और दृढ़ता लाखों लोगों को रोमांचित और प्रेरित करती है. विश्व चैंपियन को भविष्य के मुकाबलों के लिये शुभकामनाएं.’

प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ‘बेजोड़ प्रतिभा हैं पीवी सिंधु. फिर से भारत को गौरवान्वित किया. बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने पर उन्हें बधाई. पीवी सिंधु की सफलता खिलाड़ियों की कई पीढ़ियों को प्रेरित करेगी.’

खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कहा कि सरकार चैंपियन तैयार करने के लिए सर्वश्रेष्ठ सुविधाएं और सहयोग प्रदान करेगी.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘बीडब्यूएफ विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनकर पीवी सिंधु ने इतिहास रचा. भारत को सिंधु पर गर्व है. मेरी तहेदिल से शुभकामनाएं. सरकार चैंपियन तैयार करने के लिए सर्वश्रेष्ठ सहयोग और सुविधाएं देना जारी रखेगी.’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी सिंधु को इस उपलब्धि पर बधाई दी.

बनर्जी ने ट्वीट किया, ‘बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप जीतने वाली पहली भारतीय बनने पर बधाई पीवी सिंधु. आपने हर भारतीय को गौरवान्वित किया है. जीतना जारी रखो.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)