भारत

बिहार: सेप्टिक टैंक में दम घुटने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत

बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले में हुई घटना. छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव ज़िले में हुई एक अन्य घटना में जहरीली गैस के रिसाव की वजह से कुएं में दो ग्रामीणों की मौत हो गई.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के एक गांव में नए बने सेप्टिक टैंक में दम घुटने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई.

उप-संभागीय मजिस्ट्रेट (पूर्व) कुंदन कुमार ने बताया कि घटना मीनापुर ब्लॉक की बारा भारती पंचायत के अंतर्गत आने वाले मधुबन कांति गांव में मंगलवार सुबह हुई, जब नए बने सेप्टिक टैंक को खोलने गया एक व्यक्ति दुर्घटनावश उसके अंदर गिर गया.

कुमार ने बताया कि जहरीली गैस के कारण दम घुटने से उसकी मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि उसे बचाने के लिए टैंक के अंदर गए तीन अन्य लोगों की भी दम घुटने से जान चली गई.

उन्होंने बताया कि मृतकों की पहचान मधुसुदन साहनी, कौशल कुमार, धर्मेंद्र साहनी और वीर कुमार साहनी के तौर पर हुई है. इन सबकी उम्र 30 से 35 वर्ष के बीच थी. सभी एक ही परिवार के थे.

उन्होंने बताया कि शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए श्री कृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल भेजा गया है.

मीनापुर के क्षेत्राधिकारी ज्ञान प्रसाद श्रीवास्तव ने मृतकों के परिवार वालों को चार लाख रुपये देने की घोषणा की है.

कुएं में जहरीली गैस की चपेट में आने से दो ग्रामीणों की मौत

राजनांदगांव: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में जहरीली गैस की चपेट में आकर दो ग्रामीणों की मौत हो गई. घटना सोमवार को हुई.

राजनांदगांव जिले के पुलिस अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि जिले के खैरागढ़ थाना क्षेत्र के अंतर्गत गाड़ाघाट गांव में कुएं में जहरीली गैस के रिसाव से दो ग्रामीणों रविंद्र नाथ ठाकुर (35) और द्वारिका बया (30) की मौत हो गई.

खैरागढ़ थाना के थानेदार प्रदीप सोरी ने बताया, ‘गाड़ाघाट गांव में सब्जी के खेत में रविंद्र नाथ ठाकुर का कुआं है. कुएं में एक सांप के मरने की जानकारी के बाद उसे निकालने के लिए वह  कुएं में उतरे थे. जब वह कुएं के भीतर पहुंचे तब बेहोश हो गए और वापस बाहर नहीं आए.’

ठाकुर के बाहर नहीं आने पर द्वारिका बया कुएं के भीतर गए, लेकिन वह भी बेहोश हो गए और बाहर नहीं आ सके.

सोरी ने बताया, ‘घटना की जानकारी मिलने पर अन्य ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. बाद में पुलिस दल ने ग्रामीणों के सहयोग से ठाकुर और बया के शव को बाहर निकाला तथा पोस्टमॉर्टम के लिए अस्पताल भेजा दिया.’

थानेदार ने बताया कि अब तक मिली जानकारी के अनुसार कुएं में गैस के रिसाव के कारण दोनों ग्रामीणों की मौत हुई है. हालांकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के सही कारणों के बारे में जानकारी मिल सकेगी.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने पानी का नमूना लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा दिया है. जांच रिपोर्ट आने तक कुएं के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है तथा मामले की जांच की जा रही है.