भारत

मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और दिल्ली में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान 30 से अधिक लोगों की मौत

गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 11, महाराष्ट्र के 11 ज़िलों में 18 और नई दिल्ली में चार लोगों की मौत की सूचना है.

Bhopal: State Disaster Emergency Response Force (SDERF) personnel during a search and rescue operation after a boat capsized in the Lower Lake, in Bhopal, Friday, Sept. 13, 2019. Eleven people drowned when the boat carrying them along with a Ganesh idol for immersion capsized in early dawn hours. (PTI Photo)(PTI9_13_2019_000001B)

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुए हादेसे के बाद राहत और बचाव कार्य में लगी आपदा प्रबंधन की टीम. (फोटो: पीटीआई)

भोपाल/मुंबई/नई दिल्ली: महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और दिल्ली में गणेश विसर्जन के दौरान 33 लोगों की मौत हो गई, जिनमें अधिकतर की उम्र 20 से 30 साल के बीच थी. अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि मृतकों में कुछ नाबालिग भी थे.

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित छोटे तालाब के किनारे खटालपुरा घाट में विसर्जन के लिए गणपति प्रतिमा को लेकर लोग दो नावों में जा रहे थे, जिसमें से एक के पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई.

भोपाल के कलेक्टर ने बताया कि घटना शुक्रवार सुबह करीब 4:30 बजे घटी. उस समय नौका में 17 लोग सवार थे. छह को बचा लिया गया है.

छह मृतकों की उम्र 20 से 30 साल थी, वहीं दो नाबालिग थे.

बचाए गए एक युवक ने बताया कि तालाब में प्रतिमा विसर्जन के लिए जा रहे लोगों को सुरक्षा उपकरण नहीं मुहैया कराए गए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना पर दुख प्रकट किया.

प्रधानमंत्री कार्यालय ने मोदी के हवाले से ट्वीट किया, ‘भोपाल के खतलापुरा घाट के पास एक नाव के पलटने की घटना दुखद है. दुख की इस घड़ी में मृतकों के परिजनों के साथ हमारी संवेदनाएं हैं.’

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मजिस्ट्रेटी जांच का आदेश दिया है. उन्होंने प्रत्येक मृतक के परिवार को 11-11 लाख रुपये का मुआवजा देने का भी आदेश दिया. पुलिस ने दो नाविकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

चार आरोपी नाविक गिरफ्तार, चार अधिकारी निलंबित

भोपाल में हुए हादसे के संबंध में चार आरोपी नाविकों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके साथ ही कर्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में चार अधिकारी निलंबित कर दिए गए हैं.

उप पुलिस महानिरीक्षक, भोपाल रेंज (शहर) इरशाद वली ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के नाम आकाश बाथम (25), चंगु बाथम (18), शुभम बाथम (24) एवं अभिषेक बाथम (23) हैं. ये चारों नाविक हैं.

उन्होंने कहा कि इस हादसे के समय कर्तव्य में लापरवाही बरतने के आरोप में चार अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित भी किया गया है.

इनमें थाना ऐशबाग के एएसआई शिववचन यादव, राजस्व इंस्पेक्टर अनिल गवहाने और भोपाल नगर निगम के दो अधिकारी-फायर अधिकारी साजिद खान और डिप्टी सिटी इंजीनियर आरके सक्सेना शामिल हैं.

शिववचन यादव को घटनास्थल पर ड्यूटी से गैरहाजिर थे. बाकी के तीन अधिकारियों की भी घटनास्थल पर ड्यूटी लगी थी. हालांकि ये तीनों हादसे के वक्त वहां मौजूद थे.

इस मामले में इन नावों को चला रहे चार नाविकों के खिलाफ भादंवि की धारा 304 (ए) के तहत जहांगीराबाद पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है.

महाराष्ट्र में 18 लोगों की डूबने से मौत

महाराष्ट्र में गणेश विसर्जन की अलग-अलग घटनाओं में कम से कम 18 लोगों की डूबने से मौत हो गई.

बृहस्पतिवार को अनंत चतुर्दशी से शुरू हुआ गणेश विसर्जन शुक्रवार सुबह तक चला.

एक अधिकारी के अनुसार महाराष्ट्र के अमरावती, नासिक, ठाणे, सिंधुदुर्ग, रत्नागिरि, धुले, भंडारा, नांदेड़, अहमदनगर, अकोला तथा सतारा समेत 11 जिलों में लोगों के डूबने की घटनाएं सामने आई हैं.

उन्होंने बताया कि अमरावती में चार लोग डूब गए, रत्नागिरि में तीन, नासिक, सिंधुदुर्ग तथा सतारा में दो-दो और ठाणे, धुले, बुलढाना, अकोला एवं भंडारा में एक-एक व्यक्ति की डूबने से मौत हो गई. अधिकतर मृतक युवक थे.

नवी मुंबई में गणेश प्रतिमा के आसन का लकड़ी का एक हिस्सा बिजली के तारों से छू गया और शॉर्ट सर्किट की वजह से सात लोग जख्मी हो गए.

दिल्ली के अलीपुर इलाके में यमुना नदी में गणेश विसर्जन के दौरान दो पुरुषों और दो महिलाओं की मौत हो गई. अधिकारियों ने कहा कि दमकल विभाग को बृहस्पतिवार रात नौ बजे लोगों के डूबने की सूचना मिली.

उन्होंने बताया कि एक दमकल वाहन को मौके पर भेजा गया और राहत कार्य शुरू किया गया. बाद में शवों को निकाला गया. मृतकों की उम्र 20 से 30 साल के बीच की थी और वे नांगलोई के निहाल विहार के रहने वाले थे.