भारत

अनिल अंबानी की एक और कंपनी ने दिवालिया घोषित करने के लिए किया आवेदन

अनिल अंबानी की क़र्ज़ में डूबी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस की सहयोगी कंपनी जीसीएक्स लिमिटेड ने 35 करोड़ डॉलर का भुगतान कर पाने में असफल रहने के बाद यह क़दम उठाया है.

अनिल अंबानी (फोटो: रॉयटर्स)

अनिल अंबानी (फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: अनिल अंबानी की कर्ज में डूबी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस की सहयोगी कंपनी जीसीएक्स लिमिटेड ने खुद को दिवालिया घोषित करवाने के लिए याचिका दायर की है.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, समुद्र के नीचे दुनिया के सबसे बड़े प्राइवेट केबल सिस्टम वाले जीसीएक्स ने 35 करोड़ डॉलर का भुगतान कर पाने में असफल रहने के बाद यह कदम उठाया है.

इससे पहले इस साल की शुरुआत में अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस यानी आरकॉम ने खुद को दिवालिया घोषित करने की गुहार लगाई थी. 45 हज़ार करोड़ रुपये के क़रीब क़र्ज़ को चुकाने में असफल रही रिलायंस कम्युनिकेशनंस ने इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत दिवालिया होने की अपील की है.

कर्ज में डूबे रिलायंस समूह ने अपनी संपत्तियां बेचकर 21,700 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है. हाल ही में समूह की एक और कंपनी रिलायंस नेवल ऐंड इंजीनियरिंग लिमिटेड ने कहा था कि वह नकदी संकट का सामना कर रही है.

बता दें कि, जीसीएक्स ने जुलाई में कहा था कि उसने शेयरधारकों के साथ एक समझौता किया था. इस समझौते के तहत उसके बॉन्ड की मेच्योरिटी से संबंधित विकल्पों पर चर्चा के लिए अतिरिक्त वक्त मिलेगा.

इसके बाद क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने पिछले महीने इसकी रेटिंग में कटौती कर दी थी, क्योंकि वह 35 करोड़ डॉलर के बॉन्ड के भुगतान नहीं कर पाई थी. जीसीएक्स ने अपने अन्य सहयोगियों के साथ कोर्ट में चैप्टर 11 दिवालिया सुरक्षा के लिए याचिका दायर की थी.