दुनिया

ख़ुद को भारतीय न मानने वाला ही ट्रंप के ‘फादर ऑफ इंडिया’ कहने पर गर्व नहीं करेगा: केंद्रीय मंत्री

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि उन्होंने कभी किसी अमेरिकी राष्ट्रपति से किसी भारतीय प्रधानमंत्री के लिए ऐसा शब्द नहीं सुना. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने भारतीय प्रधानमंत्री के साथ द्विपक्षीय वार्ता के बाद उन्हें फादर ऑफ इंडिया बताते हुए कहा कि वे एक पिता की तरह पूरे देश को साथ लेकर आए हैं.

U.S. President Donald Trump shakes hands with India's Prime Minister Narendra Modi during a bilateral meeting alongside the ASEAN Summit in Manila, Philippines November 13, 2017. REUTERS/Jonathan Ernst

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फोटोः रॉयटर्स)

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बुधवार को कहा कि खुद को भारतीय नहीं मानने वाला ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘भारत का पिता’ कहे जाने पर गर्व महसूस नहीं करेगा.

डाक विभाग के एक कार्यक्रम में सिंह ने कहा कि भारत का सम्मान आज जिस ढंग से किया जा रहा है, वह विगत में दुर्लभ था. प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री ने कहा, ‘जो लोग विदेश में रहते हैं, उन्हें आज भारतीय होने पर गर्व है. यह प्रधानमंत्री मोदी के व्यक्तित्व और उनकी व्यक्तिगत पहुंच की वजह से हो रहा है.’

ट्रंप द्वारा मोदी को ‘भारत का पिता’ कहे जाने के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा कि उन्होंने कभी किसी अमेरिकी राष्ट्रपति से किसी भारतीय प्रधानमंत्री के लिए ऐसा शब्द नहीं सुना है.

सिंह ने कहा, ‘यदि अमेरिका या इसके राष्ट्रपति की ओर से कोई निष्पक्ष और साहसिक बयान आता है तो मुझे लगता है कि हर भारतीय को गर्व महसूस होना चाहिए, चाहे वह किसी भी राजनीतिक दल या विचारधारा से जुड़ा हो.’

उन्होंने कहा, ‘यह पहली बार है जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने किसी भारतीय प्रधानमंत्री या विश्व के किसी अन्य नेता की प्रशंसा इस तरह के शब्दों से की है. यदि किसी को इस पर गर्व नहीं है तो हो सकता है कि वह खुद को भारतीय न मानता हो.’

कुछ कांग्रेस नेताओं के यह कहने पर कि केवल एक ही राष्ट्रपिता हो सकता है, सिंह ने कहा कि इसके लिए कांग्रेस को ट्रंप से जिरह करनी होगी.

आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान की आलोचना करते हुए सिंह ने कहा, ‘जहां तक आतंकवाद और इस बुराई को बढ़ाने में पाकिस्तान की भूमिका की बात है, तो जो विदेशी देश आतंकवाद में पाकिस्तान की संलिप्तता की भारत की बात को नहीं मानते थे, वे आज इसे स्वीकार कर रहे हैं और इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है.’

बता दें कि मंगलवार को भारतीय प्रधानमंत्री के साथ द्विपक्षीय वार्ता के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने नरेंद्र मोदी को ‘फादर ऑफ इंडिया’ कहा था और उनकी तुलना अमेरिकी संगीतकार एल्विस प्रेस्ली से भी की थी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) से इतर भारत के साथ द्विपक्षीय बैठक के दौरान संवाददाताओं से कहा, ‘लोग पागल हो गए थे. प्रधानमंत्री मोदी संगीतकार एल्विस के अमेरिकी वर्जन की तरह हैं.’

ट्रंप ने ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की ओर इशारा करते हुए कहा, ‘वह (मोदी) सज्जन और महान नेता हैं. मुझे याद हैं कि उनसे पहले भारत टुकड़ों में बंटा हुआ था. बहुत असंतोष और लड़ाई थी लेकिन उन्होंने सभी को एकजुट किया. एक पिता की तरह सभी को एकजुट किया. वह शायद फादर ऑफ इंडिया हैं. हम उन्हें फादर ऑफ इंडिया कहेंगे.’

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका के ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान ट्रंप की मौजूदगी के प्रभाव के अमेरिका, भारत संबंधों और मोदी के साथ उनकी निजी केमिस्ट्री के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के साथ उनके संबंध उतने ही अच्छे हैं, जितने हो सकते हैं.

ट्रंप ने कहा, ‘मैं मोदी का सम्मान करता हूं, उनकी प्रशंसा करता हूं और उन्हें बेहद पसंद करता हूं. वह सज्जन हैं और महान नेता हैं. मुझे लगता है कि इस इवेंट से पता चलता है कि मैं भारत को कितना पसंद करता हूं और प्रधानमंत्री मोदी को कितना पसंद करता हूं.’

ट्रंप ने मोदी की तुलना अमेरिकी रॉकस्टार एल्विस प्रेस्ली से भी की. हाउडी कार्यक्रम में भीड़ की प्रतिक्रिया के बारे में बताते हुए ट्रंप ने कहा, ‘वहां जबरदस्त जोश था. वे लोग इस सज्जन (मोदी) को प्यार करते हैं. वे पागल हो गए थे. वह (मोदी) एल्विस के अमेरिकी वर्जन की तरह हैं.’

यह पूछे जाने पर कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के उस बयान को किस तरह से देखते हैं, जिसमें उन्होंने स्वीकार किया है कि पाकिस्तानी आईएसआई ने अलकायदा को प्रशिक्षित किया था. इस पर ट्रंप ने कहा, ‘मोदी इसे संभाल लेंगे.’

उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि प्रधानमंत्री मोदी ने उस दिन (रविवार) को पाकिस्तान को स्पष्ट संदेश दे दिया था. मैं आश्वस्त हूं कि वह (मोदी) इस स्थिति को संभाल लेंगे.’ ट्रंप ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान जल्द ही कश्मीर मुद्दे को संभाल लेंगे.

उन्होंने कहा, ‘मेरा विश्वास है कि मोदी और इमरान खान जब एक दूसरे को समझेंगे तो एकजुट हो जाएंगे. मुझे लगता है कि उस बैठक से बहुत सारी अच्छी चीजें आएंगी.’

ट्रंप ने भारत के साथ व्यापार समझौते पर कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही भारत के साथ व्यापार समझौते पर सहमति बनेगी. इससे दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों को और मजबूती मिलेगी.

ट्रंप ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘हम इस पर अच्छा कर रहे हैं. मुझे लगता है कि जल्द ही हम व्यापार समझौता कर लेंगे.’

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र से इतर ट्रंप से मुलाकात की थी. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा हुई.

इस साल मोदी के दोबारा सत्ता में आने के बाद ये उनकी चौथी मुलाकात है. करीब 40 मिनट तक चली इस भेंट में मुख्य रूप से द्विपक्षीय व्यापार और पाक प्रायोजित आतंकवाद से जुड़े मुद्दों पर चर्चा हुई.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)