भारत

बारिश से बलिया जेल में भरा पानी, 800 से ज़्यादा क़ैदियों को दूसरी जेलों में भेजा जाएगा

उत्तर प्रदेश की बलिया ज़िला जेल में क़ैदियों के सोने की जगह पर एक फुट पानी भर गया है. शौचालय और सीवर ओवरफ्लो हो रहा है. उत्तर प्रदेश में पिछले कई दिनों से बारिश जारी है. बारिश के कारण बलिया के हालात ख़राब हैं.

Ballia: Police officials relocate prisoners from the flooded premises of district jail, located near River Ganga, in Ballia, Monday, Sept. 30, 2019. (PTI Photo) (PTI9_30_2019_000156B)

उत्तर प्रदेश की बलिया जेल से क़ैदियों को दूसरी जेलों में शिफ्ट किया जा रहा है. (फोटो: पीटीआई)

बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया में पिछले कई दिनों से हो रही बारिश से जिला कारागार में पानी भर गया है. इस कारण सभी कैदियों को आज़मगढ़ और अम्बेडकरनगर जेल ले जाया जा रहा है.

बलिया में यह जेल गंगा नदी के तट पर स्थित है और यह बिहार की सीमा से लगी हुई है.

जिलाधिकारी भवानी सिंह खंगारौत ने सोमवार को बताया कि जिला कारागार में भारी जलजमाव की स्थिति को देखते हुए कैदियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के मद्देनजर उन्हें आज़मगढ़ और अम्बेडकर नगर की जेल में अस्थायी तौर पर स्थानांतरित किया जा रहा है.

अपर पुलिस अधीक्षक संजय यादव ने बताया कि जिला कारागार के सभी बैरक में करीब तीन फुट तक पानी भर गया है. कैदियों के सोने की जगह भी लगभग एक फुट तक डूब गयी है. इस वजह से कैदियों के सोने के लिये कोई स्थान नहीं रह गया है.

उन्होंने बताया कि जिला कारागार का सीवर और शौचालय ओवरफ्लो कर रहा है. हालात का जायजा लेने के लिए अपर पुलिस महानिदेशक ब्रज भूषण शर्मा और पुलिस उप महानिरीक्षक मनोज तिवारी बलिया पहुंच गये हैं.

यादव ने बताया कि जिला कारागार में कुल 863 कैदी हैं. इनमें से 44 महिलाओं और 9 बच्चों सहित कुल 500 कैदियों को आजमगढ़ तथा बाकी के कैदियों को अम्बेडकरनगर कारागार ले जाया जा रहा है. इसके लिए चार पुलिस उपाधीक्षक, 20 थानाध्यक्ष, 80 उप निरीक्षक, 146 हेड कॉन्स्टेबल और 380 कॉन्स्टेबल तैनात किए गए हैं.

आज़मगढ़ जेल बलिया से तकरीबन 115 किलोमीटर दूर है और अम्बेडकरनगर तकरीबन 190 किलोमीटर है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (बलिया) राम आसरे ने बताया, ‘चार दिन से लगातार जारी बारिश के कारण जेल में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. जेल के बाहर भी बाढ़ का पानी जमा है. इसकी वजह से हम जेल में जमा पानी को बाहर नहीं निकाल पा रहे हैं.’

उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में पिछले कई दिनों से रुक-रुक कर बारिश हो रही है, बारिश के कारण बलिया में हालात खराब हो गए हैं.

एनडीटीवी के अनुसार, पूर्व उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बीते पांच दिनों के दौरान तकरीबन 90 लोगों की मौत हो गई. बारिश से बलिया, जौनपुर और वाराणसी ज़िले बुरी तरह से प्रभावित हैं.

बलिया में लगातार बारिश की वजह से बीते रविवार को बलिया-छपरा रेल प्रखंड पर यातायात ठप हो गया.

बलिया में रविवार तड़के सवा चार बजे भारी बारिश के कारण छपरा-बलिया रेल खंड पर बलिया और बांसडीह रेलवे स्टेशन के बीच मिट्टी धंसने पटरी धंस गई और यहां यातायात पूरी तरह ठप हो गया.

इस वजह से सात ट्रेनों का संचालन निरस्त कर दिया है तथा छह ट्रेनों को परिवर्तित मार्ग से भेजा जा रहा है. धंसी हुई पटरी को ठीक करने की कोशिश की जा रही है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)