भारत

मध्य प्रदेश: खुले में शौच को लेकर डेढ़ वर्षीय बच्चे की लाठियों से पीटकर हत्या, दो गिरफ़्तार

मध्य प्रदेश के सागर ज़िले के बगसपुर गांव का मामला. बीते 25 सितंबर को भी प्रदेश के शिवपुरी ज़िले में खुले में शौच करने पर दो व्यक्तियों ने कथित तौर दो दलित बच्चों को पीट-पीटकर मार डाला था.

Sagar Madhya Pradesh

सागर: मध्य प्रदेश के सागर जिले में भानगढ़ थाना क्षेत्र के बगसपुर गांव में छह साल के बच्चे द्वारा खुले में पेशाब करने पर दो पड़ोसियों के बीच हुई लड़ाई में डेढ़ साल के एक बच्चे की मौत हो गई. इस मामले में पुलिस ने आरोपी बाप-बेटे को गिरफ्तार कर लिया है.

सागर जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह ने गुरुवार को को बताया कि सागर से करीब 100 किलोमीटर दूर बगसपुर ग्राम में बीते एक अक्टूबर की शाम को मोहर सिंह आदिवासी के घर के सामने सड़क पर उसके पड़ोसी राम सिंह का छह वर्षीय बेटा खुले में पेशाब कर रहा था.

सिंह के अनुसार, इस घटना से नाराज होकर मोहर अपने पड़ोसी राम सिंह से झगड़ पड़ा. इसी दौरान राम सिंह का 20 वर्षीय बेटा उमेश भी वहां आ गया और दोनों पक्ष के बीच मारपीट होने लगी.

उन्होंने कहा कि इसी दौरान राम सिंह और उसके बेटे उमेश ने मोहर सिंह आदिवासी की लाठियों से बेरहमी से पिटाई कर दी. इस दौरान मोहर सिंह गोद में डेढ़ साल के अपने बेटे भगवान सिंह को भी लिए हुए थे. लाठियों से भगवान सिंह भी घायल हो गया और अत्यधिक रक्तस्राव की वजह से घटनास्थल पर ही मौत हो गयी.

सिंह ने बताया कि इस हमले में मोहर सिंह बुरी तरह से घायल भी हुआ है, जिसे बीना के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

उन्होंने कहा कि दोनों आरोपियों राम सिंह और उसके बेटे उमेश को गिरफ्तार कर लिया है. उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 323 (मारपीट) व 34 (किसी अपराध को अंजाम देने के लिए साझा साजिश) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

वहीं, भानगढ़ पुलिस थाना प्रभारी सुबोध मिश्रा ने बताया कि घर के पास सड़क पर पेशाब करने को लेकर इन दोनों परिवारों के बीच पहले भी कई बार विवाद हो चुका था.

मालूम हो कि 25 सितंबर को भी मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के भावखेड़ी गांव में पंचायत भवन के सामने सड़क पर शौच करने पर दो व्यक्तियों ने कथित तौर दो दलित बच्चों को पीट-पीटकर मार डाला था.