भारत

ईवीएम चैलेंज में केवल राकांपा और माकपा लेंगी भाग

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने ईवीएम चुनौती के मौजूदा स्वरूप पर सवाल करते हुए हिस्सा लेने से इंकार कर दिया है.

EVM Reuters

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और माकपा ऐसे दल हैं जिन्होंने निर्वाचन आयोग की ओर से तीन जून को आयोजित ईवीएम हैकिंग चुनौती (हैकाथन) में भाग लेने में दिलचस्पी जताई है.

भारत निर्वाचन आयोग के प्रवक्ता ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी.

आम आदमी पार्टी और बसपा द्वारा ईवीएम में छेड़छाड़ के लगाए गए आरोपों को निर्मूल साबित करने के लिए निर्वाचन आयोग ने तीन जून को सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक चुनौती की घोषणा की थी. इन दोनों दलों ने हैकाथन में भाग लेने से मना कर दिया.

उन्होंने कहा कि तीन जून की चुनौती से संबंधित निर्वाचन आयोग के पत्र पर कुल आठ दलों ने जवाब दिया है.

प्रवक्ता ने कहा, राकांपा और माकपा ने ईवीएम चुनौती में भाग लेने की इच्छा जताई है. आप और कांग्रेस ने चुनौती की मौजूदा रूपरेखा पर कुछ सवाल किए हैं, लेकिन चुनौती में हिस्सा लेने की इच्छा नहीं जताई है.

उन्होंने कहा, भाकपा, भाजपा और राजद ने (चुनौती को) देखने की इच्छा जताई है. आयोग ने पिछले शनिवार को ईवीएम को हैक करने या उसके साथ छेड़छाड़ करने की चुनौती देते हुए इसके लिए तीन जून की तारीख तय की थी.

इससे पहले आम आदमी पार्टी ने कहा था, ‘निर्वाचन आयोग की चुनौती मौजूदा स्वरूप में मंज़ूर नहीं है. हैकाथॉन में हिस्सा लेंगे, ड्रामे में नहीं.’

पार्टी की ओर से कहा गया था कि आयोग ईवीएम चुनौती नहीं प्रदर्शनी करा रहा है. इससे ईवीएम पर उठ रहे सवालों का जवाब नहीं मिलेगा. पार्टी ने यह भी दावा किया विधानसभा में मदर बोर्ड बदलकर हैक करके दिखाया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)