भारत

महाराष्ट्र: भाजपा का घोषणापत्र में सावरकर को भारत रत्न देने का वादा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा जारी 40 पन्ने के घोषणापत्र में ज्योतिबा और सावित्रीबाई फुले को भी भारत रत्न देने की बात कही है. साथ ही युवाओं को एक करोड़ रोजगार उपलब्ध कराने सहित कई अन्य वादे किए गए हैं.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र जारी करते भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस. (फोटो: ट्विटर)

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र जारी करते भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस. (फोटो: ट्विटर)

नई दिल्ली: भाजपा ने मंगलवार को अपने चुनावी घोषणा पत्र में युवाओं को एक करोड़ रोजगार और सूखे से मुक्त महाराष्ट्र का वादा किया. सम्पन्न, समृद्ध और समर्थ नामक 40 पन्ने के घोषणापत्र में यह भी कहा गया है कि पार्टी यह सुनिश्चित करने का प्रयास करेगी कि महात्मा ज्योतिबा फुले, सावित्रीबाई फुले और वीडी सावरकर को भारत रत्न प्रदान किया जाए.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा अनावरण किए गए पार्टी के घोषणापत्र को उन नीतियों और परियोजनाओं की निरंतरता के रूप में देखा जा रहा है, जो पिछले पांच वर्षों में राज्य सरकार द्वारा विभिन्न चरणों में घोषित किए गए या लागू किए गए थे.

रोजगार उपलब्ध कराने के अलावा भाजपा ने कोई अन्य नया लोकलुभावन वादा नहीं किया. घोषणापत्र में हर तरह के आर्थिक विकास में महिलाओं की 50 फीसदी भागीदारी सुनिश्चित करने का भी वादा किया गया.

इस बार विशेष रूप से कृषि, सिंचाई और बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में मेगा परियोजनाओं और सुधारों को पूरा करने पर जोर दिया गया है. वहीं, मध्यम वर्ग के वोट पर नजर रखते हुए भाजपा ने 2021 तक सभी को घर मुहैया कराने का वादा किया है.

सत्ताधारी पार्टी ने पश्चिम में बहने वाली नदियों से 167 टीएमसी पानी लाकर महत्वाकांक्षी वाटर ग्रिड प्रोजेक्ट को पूरा करने और पूरे महाराष्ट्र के हर गांव में पाइप के माध्यम से जल आपूर्ति का वादा किया. इसके साथ ही उसने किसानों की आय दुगुनी करने के अपने वादे को एक बार फिर से दोहराया.

पार्टी ने अपने घोषणापत्र में 2020 तक इंदु मिल्स में बीआर अंबेडकर स्मारक का काम पूरा करने के साथ ही शिवाजी महाराज स्मारक का काम भी पूरा करने का वादा किया.