राजनीति

उम्मीद है अभिजीत बनर्जी अर्थव्यवस्था को संकट से उबारने में मदद करेंगे: भाजपा नेता दिलीप घोष

इससे पहले केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि अभिजीत बनर्जी की सोच पूरी तरह से वामपंथी है और भारत के लोगों ने इसे पूरी तरह से नकार कर दिया है. वहीं, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा था कि विदेशी महिला से दूसरी शादी करने वाले लोगों को अक्सर नोबेल पुरस्कार मिल जाता है.

दिलीप घोष. (फोटो साभार: फेसबुक)

दिलीप घोष. (फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्लीः भाजपा के दो वरिष्ठ नेताओं द्वारा नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी पर उनकी वामपंथी विचारधारा के लिए निशाना साधने के कुछ दिनों बाद पार्टी के पश्चिम बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष ने उम्मीद जताई है कि वह भारत और पूरी दुनिया को आर्थिक संकट से निपटने को लेकर सुझाव देंगे.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, कमारहाटी में गांधी संकल्प यात्रा के दौरान घोष ने कहा, ‘मुझे विश्वास है कि वह (बनर्जी) आर्थिक संकट से गुजर रहे भारत और पूरी दुनिया को इससे उबारने के लिए अच्छे सुझाव देंगे. वह बड़ी शख्सियत हैं और उन्होंने बड़ी उपलब्धि हासिल की है. कई लोग अपने विचार व्यक्त कर रहे हैं और वे अपनी राय जताने के योग्य हैं.’

मालूम हो कि हाल ही में पश्चिम बंगाल भाजपा के नेता और राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने न केवल अभिजीत बनर्जी को लेकर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के बयान का समर्थन किया था बल्कि यह कहकर भी विवाद खड़ा कर दिया था कि विदेशी महिला से दूसरी शादी करने वाले लोगों को अक्सर नोबेल पुरस्कार मिल जाता है.

सिन्हा ने एक टीवी चैनल से कहा था, ‘आमतौर पर विदेशी महिला से दूसरी शादी करने वाले लोग नोबेल पुरस्कार जीत जाते हैं. मुझे नहीं पता कि क्या नोबेल पुरस्कार जीतने का यही पैमाना है या नहीं. पीयूष गोयल सही हैं. ये वही लोग हैं, जो अपनी वामपंथी विचारधारा से अर्थव्यवस्था को रंग रहे हैं. वे वामपंथी विचारधारा से अर्थव्यवस्था को चलाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन भारत में इस तरह की विचारधारा खत्म हो चुकी है.’

इससे पहले बीते 18 अक्टूबर को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि बनर्जी की सोच पूरी तरह से वामपंथी है और भारत के लोगों ने इसे पूरी तरह से नकार कर दिया है.

गोयल ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा था, ‘मैं अभिजीत बनर्जी को नोबेल पुरस्कार जीतने की बधाई देता हूं. आप सभी जानते हैं कि उनकी सोच पूरी तरह वाम झुकाव वाली है. उन्होंने न्याय को समर्थन दिया था और न्याय के बारे में बड़े गुणगान गाए थे, भारत की जनता ने उनकी सोच को पूरी तरह नकार दिया.’

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल सरकार नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी को सम्मानित करने की योजना बना चुकी है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हाल ही में कोलकाता में बनर्जी के घर का दौरा किया था और उनकी मां से मुलाकात की थी.

कोलकाता की प्रेसिडेंसी यूनिवर्सिटी ने बनर्जी को डिलीट की उपाधि से सम्मानित करने की योजना बनाई है.