नॉर्थ ईस्ट

मेघालय में अधिकांश भाजपाई गोमांस खाते हैं: भाजपा नेता

प्रदेश के तूरा ज़िले के भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सरकार बनी तो गोमांस पर प्रतिबंध नहीं लगेगा बल्कि दाम घटाया जाएगा.

BJP pti

(फोटो: पीटीआई)

तूरा (मेघालय): गारो हिल्स इलाके के भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने राज्य में गोमांस प्रतिबंध पर सोमवार को डर को दूर करने का प्रयास करते हुए दावा किया कि पार्टी मेघालय में इस तरह का प्रतिबंध कभी नहीं लगाएगी.

भाजपा के तूरा जिला अध्यक्ष बर्नार्ड एन. मरक ने सोमवार को बयान जारी कर कहा, ‘मेघालय में भाजपा के अधिकतर नेता गोमांस खाते हैं. मेघालय जैसे राज्य और ख़ासकर गारो हिल्स में गोमांस पर प्रतिबंध लगाने का सवाल ही नहीं उठता. मेघालय में भाजपा के नेता ऐतिहासिक पृष्ठभूमि और हिल्स इलाके के संवैधानिक प्रावधानों से परिचित हैं.’

भाजपा नेता ने कहा कि भाजपा अगर राज्य में अगले वर्ष सत्ता में आती है तो इसकी मंशा गोमांस प्रतिबंध की नहीं होगी बल्कि गारो हिल्स में गोमांस और दूसरे पशुओं के मांस के दामों और वधशालाओं को वैध किया जाएगा ताकि लोगों ख़ासकर गरीबों को मांस खाने में आसानी हो सके.

स्थानीय मीडिया के अनुसार, मरक सशस्त्र संगठन अचिक राष्ट्रीय स्वयंसेवी काउंसिल के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं.

भाजपा नेता ने कहा, ‘गारो हिल्स में गोमांस महंगा होता है जिसे सभी लोग नहीं खा सकते राज्य सरकार मांस की दरों को नियमित करने में विफल रही जो लोगों का उत्पीड़न है. पशुओं को पशु चिकित्सकों से उचित प्रमाणन किए बगैर काटा जाता है जिससे लोगों को अस्वास्थ्यकर और कभी-कभार रासायनिक पदार्थों से युक्त मांस खाना पड़ता है.’

मरक ने वर्तमान कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाते कहा कि सरकार गोमांस के दामों को नियमित करने में असफल रही है जिसकी वजह से जनता प्रताड़ित हुई है.

इसके इतर मेघालय में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ‘मरक के विचार उनके अपने हैं और पार्टी लोगों से ऐसा कोई वादा नहीं किया है. मेघालय में गोमांस प्रतिबंधित नहीं होगा.’

पार्टी की स्थानीय इकाई ने पार्टी के मेघालय इंचार्ज नलिन कोहली को पत्र लिखकर केंद्र सरकार द्वारा वध के लिए पशु बाज़ारों में मवेशियों की ख़रीद-फ़रोख़्त पर प्रतिबंध लगाने के क़दम पर नाराज़गी जाहिर की है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)