भारत

महाराष्ट्र: मालेगांव बम धमाके के आरोपी को मिली पुलिस सुरक्षा

महाराष्ट्र के मालेगांव में साल 2008 में हुए बम धमाके के आरोपी समीर कुलकर्णी ने मई महीने में सुरक्षा मांगते हुए राज्य सरकार को पत्र लिखा था. उनका कहना है कि लखनऊ में पूर्व हिंदू महासभा नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद उन्हें कॉन्स्टेबल रैंक का सशस्त्र गार्ड उपलब्ध करवाया गया है.

Sameer Kulkarni ANI Photo

समीर कुलकर्णी. (फोटो साभार: एएनआई)

पुणे: महाराष्ट्र के पुणे जिले में 2008 को हुए मालेगांव विस्फोट मामले के आरोपी समीर कुलकर्णी को उनके आवास पर सुरक्षा के लिए बुधवार को सशस्त्र पुलिस गार्ड मुहैया कराया गया.

जमानत पर बाहर चल रहे कुलकर्णी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि उन्होंने सुरक्षा मांगते हुए इस साल मई में राज्य सरकार को पत्र लिखा था लेकिन शायद लखनऊ में पूर्व हिंदू महासभा नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद अब सुरक्षा उपलब्ध करायी गई है.

पुणे के पिंपरी चिंचवाड इलाके में रहने वाले कुलकर्णी ने कहा, ‘मुझे केवल एक पत्र मिला कि मेरी अर्जी प्राप्त हो गयी है, इसके अलावा मुझे सुरक्षा मांगने के बाद राज्य सरकार से कोई पत्र नहीं मिला.’

उन्होंने बताया कि मंगलवार को उन्हें पिंपरी चिंचवाड पुलिस की ओर से फोन आया, जिसमें बताया गया कि उन्हें कॉन्स्टेबल रैंक का सशस्त्र गार्ड मुहैया कराया गया है.

कुलकर्णी ने यह भी कहा कि उन्हें शायद इसलिए सुरक्षा दी गई होगी कि वह मालेगांव विस्फोट में आरोपी हैं जो एक संवदेनशील मामला है. उन्होंने कहा कि सुरक्षा मांगते हुए उन्होंने सरकार को बताया था कि वह पुलिस सुरक्षा का खर्च वहन नहीं कर पाएंगे और सरकार को ही इसका खर्च उठाना होगा.

उन्होंने कहा कि मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर और लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित को भी सुरक्षा मुहैया करायी गयी है.

बता दें कि अक्तूबर 2017 को मुंबई की सत्र अदालत से कुलकर्णी को जमानत मिली थी. भोपाल की एक प्रिंटिंग प्रेस के कर्मचारी कुलकर्णी को 2008 में मालेगांव में हुए बम धमाके के फ़ौरन बाद गिरफ्तार कर लिया गया था. उन पर विस्फोट में इस्तेमाल किए गए रसायनों की व्यवस्था करने का आरोप है.

महाराष्ट्र के मालेगांव में 29 सितंबर 2008 को एक मस्जिद के पास मोटरसाइकिल में लगाए गए बम में विस्फोट किया गया था, जिसमें छह लोगों की मौत हो गई जबकि 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)