Author Archives

संगीता बरुआ पिशारोती

Gandhiji Guwahati

जब गांधी ने ज़रूरत पड़ने पर ‘हिंसक साधनों’ का इस्तेमाल करने की सलाह दी थी

स्वतंत्रता आंदोलन में गांधी की भूमिका के बारे में काफी लिखा गया है, मगर उत्तर-पूर्व को आज़ाद भारत से जोड़ने में उन्होंने जो नेतृत्व किया, इस बारे में कम ही लिखा गया है.

collage-manipur

एक हताश मां का संघर्ष, जिसके बेटे की हत्या का आरोप मणिपुर सीएम के बेटे पर है

साक्षात्कार: छह साल से मणिपुर की एक मां अपने बेटे को इंसाफ दिलाने के लिए भटक रही है. उनके बेटे की हत्या का आरोप राज्य के मुखिया एन. बीरेन सिंह के बेटे पर है.

Women hold placards during a protest against the Armed Forces Special Powers Act (AFSPA) in New Delhi January 25, 2008. Dozens of women from the northeastern Indian state of Manipur protested on Friday against the AFSPA, which gives troops the right to arrest and shoot at suspected rebels. REUTERS/Adnan Abidi (INDIA) - RTR1W9HG

नॉर्थ ईस्ट डायरी: पूर्वोत्तर के राज्यों से इस सप्ताह की प्रमुख ख़बरें

इस हफ़्ते नॉर्थ ईस्ट डायरी में मणिपुर, त्रिपुरा, असम, नगालैंड, मिज़ोरम और अरुणाचल प्रदेश के प्रमुख समाचार.

Sarbananda_SonowalFeatured

नॉर्थ ईस्ट डायरी: असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का साक्षात्कार

इस महीने असम के मुख्यमंत्री के रूप में एक साल पूरे करने जा रहे सर्बानंद सोनोवाल का कहना है कि एक सुदृढ़ शासन व्यवस्था बनाने के लिए जनता की आवाज़ को भी सुना जाना ज़रूरी है.

Imphal Gangrape Protest NE LIVE

नॉर्थ ईस्ट डायरी: पूर्वोत्तर के राज्यों से इस सप्ताह की प्रमुख ख़बरें

इस हफ़्ते नॉर्थ ईस्ट डायरी में मणिपुर, असम, अरुणाचल प्रदेश, मिज़ोरम और नगालैंड के प्रमुख समाचार.

AppleMark

मणिपुर में 130 दिन से जारी आर्थिक नाकेबंदी ​ख़त्म

राज्य की पूर्व ओकराम इबोबी सिंह सरकार के सात नए ज़िले बनाने के फैसले के ख़िलाफ़ यूनाइटेड नगा काउंसिल ने एक नवंबर, 2016 से आर्थिक नाकेबंदी की शुरुआत की थी.

AppleMark

इरोम को इसलिए 90 वोट मिले क्योंकि मणिपुर में अब आफ्सपा मुद्दा नहीं रहा!

आफ्स्पा के ख़िलाफ़ जब इरोम की लड़ाई शुरू हुई तब मणिपुर के हालात अलग तरह के थे. 16 साल पहले का मणिपुर अब काफी बदल चुका है.

Kalikho Pul

जानिये, कालिखो पुल की पत्नी ने चीफ जस्टिस को लिखे पत्र में क्या कहा है?

सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जेएस खेहर को पत्र लिखने के अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने की बात कही है.