दुनिया

14 मार्च को यंगून में गोली लगने के बाद एक घायल को ले जाते लोग. (फोटो: रॉयटर्स)

म्यांमार में सैन्य शासन के ख़िलाफ़ हो रहे प्रदर्शनों में लगभग 138 लोगों की मौत: संयुक्त राष्ट्र

बीते एक फरवरी को म्यांमार की सेना ने चुनावों में धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए देश का नियंत्रण अपने हाथ में लेते हुए आंग सान सू ची और अन्य नेताओं को नज़रबंद कर दिया है. 14 मार्च सबसे हिंसक दिनों में से एक रहा. इस दिन प्रदर्शनों के खिलाफ कार्रवाई में कम से कम 38 लोगों की मौत हुई.

Chennai: Health workers and volunteers from SDPI wearing personal protective equipments (PPE) before performing burial of a COVID-19 victim, during the ongoing nationwide lockdown, in Chennai, Tuesday, June 16, 2020. (PTI Photo/R Senthil Kumar)(PTI16-06-2020_000198B)

कोविड-19: लगातार छठे दिन 20 हज़ार से अधिक नए मामले दर्ज, विश्व में कुल मामले 12 करोड़ के पार

​भारत में कोरोना वायरस के बीते 24 घंटे के दौरान 24,492 नए मामले दर्ज किए गए हैं, जिससे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1.14 करोड़ से अधिक हो गई है. इस दौरान 131 और लोगों की मौत हुई है, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 1.58 लाख से अधिक है. विश्व में यह महामारी अब तक 26.61 लाख लोगों की जान ले चुकी है.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

श्रीलंका: बुर्के पर प्रतिबंध और हज़ार से अधिक मदरसों को बंद करने की घोषणा

श्रीलंका ने राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देते हुए इन प्रतिबंधों की योजना की घोषणा की है. इससे पहले पिछले हफ़्ते स्विट्जरलैंड ने सार्वजनिक जगहों पर पूरी तरह से चेहरा ढंकने या बुर्का पहनने पर पाबंदी लगाने के लिए मतदान किया था. 51.2 फीसदी मतदाताओं ने इस प्रस्ताव का समर्थन किया था.

(फोटो: पीटीआई)

कोरोना वायरस: बीते 24 घंटे में 26,291 नए मामले आए, 85 दिन बाद सर्वाधिक संख्या

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 11,385,339 है और इस महामारी की चपेट में आकर अब तक 1,58,725 लोग जान गंवा चुके हैं. विश्व में संक्रमण के 11.98 करोड़ से ज़्यादा मामले सामने आए हैं और 26.53 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

(फोटो: पीटीआई)

कोरोना वायरस: बीते 84 दिन में संक्रमण के सर्वाधिक 25,320 नए मामले सामने आए

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 11,359,048 हो गई है. बीते 24 घंटे के दौरान इस महामारी ने 161 लोगों की जान ली है, जो पिछले 44 दिन में सर्वाधिक आंकड़ा है. भारत को पछाड़कर ब्राज़ील दूसरा सर्वाधिक प्रभावित देश बन गया है. विश्व में संक्रमण के मामले 11.95 करोड़ से ज़्यादा हैं और 26.48 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

(फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना वायरस: इस साल संक्रमण के सर्वाधिक 24,882 नए मामले दर्ज

देश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 11,333,728 हो गई है और 158,446 लोगों की जान जा चुकी है. विश्वभर में कुल मामले 11.90 करोड़ से ज़्यादा हो गए हैं और 26.39 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख डॉ. टेड्रोस एडनम घेब्रेसियस (फोटो: रॉयटर्स)

महामारी घोषित करने के साल भर बाद भी कोरोना को नियंत्रित करने के लिए संघर्ष कर रहा डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बीते साल 11 मार्च को कोरोना वायरस को महामारी घोषित किया था. इससे पहले संगठन ‘महामारी’ शब्द के इस्तेमाल से बचता रहा था. विशेषज्ञों के मुताबिक, जब तब संगठन ने इसे महामारी घोषित किया तब तक बहुत देर हो चुकी थी और वायरस अंटार्कटिका को छोड़ दुनिया के सभी महाद्वीपों में पहुंच चुका था.

A health worker holds bottles of the AstraZeneca/Oxford vaccine under the COVAX scheme against coronavirus disease (COVID-19) at the Kenyatta National Hospital in Nairobi, Kenya March 5, 2021. REUTERS/Monicah Mwangi

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने टीकों की जमाखोरी और टीकों के लिए गुप्त समझौतों की निंदा की

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कहा कि वैश्विक टीकाकरण अभियान हमारे समय की सबसे बड़ी नैतिक परीक्षा है. उन्होंने चिंता जताते हुए कहा कि अनेक निम्न आय वाले देशों को अभी एक भी ख़ुराक नहीं मिल पाई है, जबकि अन्य धनी देश अपनी पूर्ण आबादी के टीकाकरण की दिशा में बढ़ रहे हैं.

(फोटो: पीटीआई)

कोरोना वायरस: दिसंबर को बाद सर्वाधिक 23,285 नए मामले सामने आए

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1.13 करोड़ से अधिक हो गई है, वहीं मरने वालों का आंकड़ा 1.58 लाख के पार पहुंच गया है. विश्व में संक्रमण के 11.85 करोड़ से ज़्यादा मामले हैं, 26.29 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

नितिन गडकरी. (फोटो: पीटीआई)

लक्ज़री बस विवाद: स्वीडिश मीडिया रिपोर्ट का दावा, लेन-देन में नितिन गडकरी का परिवार शामिल

स्वीडन के एक टीवी चैनल के अनुसार 2017 के अंत में बस निर्माता स्कैनिया के ऑडिटर्स को कंपनी द्वारा भारत के परिवहन मंत्री को उपहार के तौर पर एक लक्ज़री बस देने के संकेत मिले थे. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के कार्यालय ने आरोपों से इनकार करते हुए इन्हें दुर्भावनापूर्ण, मनगढ़ंत और आधारहीन बताया है.

(फोटो: पीटीआई)

कोविड-19: देश में एक दिन में 22,854 नए मामले, इस वर्ष की सर्वाधिक संख्या

देश में कोविड-19 के 76 दिन बाद इतने अधिक नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1.12 करोड़ से अधिक हो गई है. विश्व में संक्रमण के 11.80 करोड़ से ज़्यादा मामले सामने आए हैं और 26.19 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

(फोटो: पीटीआई)

कोरोना वायरस: बीते 24 घंटे में 17,921 नए मामले और 133 और लोगों की मौत

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1.12 करोड़ से अधिक हो गई है और मृतक संख्या 158,063 हो गई है. विश्व में संक्रमण के 11.75 करोड़ से ज़्यादा मामले सामने आए हैं और 26.10 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

दुनिया की तीन में से एक महिला ने शारीरिक या यौन हिंसा का किया है सामना: डब्ल्यूएचओ अध्ययन

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि यह अध्ययन महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा पर सबसे बड़ा अध्ययन है. इसमें 2010 से 2018 की अवधि को शामिल किया गया है. रिपोर्ट में अंतरंग साथी द्वारा हिंसा को महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा का सबसे अधिक व्याप्त रूप बताया गया है, जिससे 64 करोड़ से ज़्यादा महिलाएं प्रभावित हैं.

(प्रतीकात्मक फोटो :रॉयटर्स)

विश्व में कुल बाल वधुओं में से आधी भारत सहित पांच देशों में: यूनिसेफ

संयुक्त राष्ट्र एजेंसी यूनिसेफ के रिपोर्ट के मुताबिक, दशक के अंत से पहले एक करोड़ अतिरिक्त बाल विवाह हो सकते हैं. इससे इस प्रथा को कम करने की वर्षों की प्रगति को ख़तरा उत्पन्न हो सकता है. दुनिया में आज अनुमानित 65 करोड़ लड़कियों और महिलाओं का विवाह बचपन में हुआ है. इनमें से आधी संख्या बांग्लादेश, ब्राज़ील, इथियोपिया, भारत और नाइज़ीरिया में है.

भारत में किसान आंदोलन पर चर्चा करते ब्रिटिश सांसद. (फोटो: ट्विटर/@TanDhesi)

ब्रिटिश सांसदों ने किसान आंदोलन- शांतिपूर्ण प्रदर्शन के अधिकार संबंधी चर्चा की, भारत ने नाराज़गी जताई

भारत में तीन कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ चल रहे किसान आंदोलन के बीच ब्रिटिश सांसदों ने शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन के अधिकार और प्रेस की आज़ादी को लेकर एक लाख से अधिक लोगों के हस्ताक्षर वाली ‘ई-याचिका’ पर चर्चा की. भारत ने इसकी निंदा करते हुए कहा कि इस ‘एकतरफा चर्चा में झूठे दावे’ किए गए.