मीडिया

New Delhi: Congress President Sonia Gandhi leads a protest against Maharashtra government formation issue, at Parliament premises in New Delhi, Monday, Nov. 25, 2019. (PTI Photo/Shahbaz Khan) (PTI11_25_2019_000041B)

इंडियन न्यूज़पेपर सोसाइटी ने सरकारी विज्ञापनों पर रोक लगाने के सोनिया गांधी के सुझाव की निंदा की

कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ लड़ाई में सरकार को संयमित ख़र्च का सुझाव देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मीडिया को दिए जाने वाले क़रीब 1250 करोड़ रुपये के सरकारी विज्ञापनों पर दो साल तक रोक लगाने का अनुरोध किया है.

(फोटो: रॉयटर्स)​​​

तबलीग़ी जमात के कार्यक्रम को लेकर फ़र्ज़ी ख़बरों पर जमीयत ने किया सुप्रीम कोर्ट का रुख़

जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाख़िल कर मीडिया के एक वर्ग पर सांप्रदायिक नफ़रत फैलाने का आरोप लगाया है. याचिका में कहा गया है कि तबलीग़ी जमात की दुर्भाग्यपूर्ण घटना का इस्तेमाल पूरे मुस्लिम समुदाय को दोष देने में किया जा रहा है.

Tube tests are pictured pictured as media visit the Microbiology Laboratory of the University Hospital (CHUV) during the coronavirus disease (COVID-19) outbreak in Lausanne, Switzerland, March 23, 2020. REUTERS/Denis Balibouse

मीडिया से आयुर्वेद और योग में कोरोना के इलाज संबंधी दावे के भ्रामक विज्ञापन बंद करने को कहा

भारतीय प्रेस परिषद ने मीडिया संस्थानों से आयुर्वेदिक, योग और नेचुरोपैथी, यूनानी और होम्योपैथी में कोरोना वायरस के इलाज से जुड़े भ्रामक विज्ञापनों पर रोक लगाने का निर्देश दिया है.

Bikaner: People watch Prime Minister Narendra Modi's address to the nation on coronavirus pandemic in Bikaner, Thursday, March 19, 2020. (PTI Photo)(PTI19-03-2020_000246B)

कोई भी लोकतंत्र मीडिया का मुंह बंद करके वैश्विक महामारी से नहीं लड़ रहा है: एडिटर्स गिल्ड

इस हफ़्ते की शुरुआत में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा था कि मीडिया कोरोना वायरस संबंधी कोई भी जानकारी छापने या दिखाने से पहले सरकार से इसकी पुष्टि कराए. इसके बाद अदालत ने मीडिया को निर्देश दिया कि वे ख़बरें चलाने से पहले उस घटना पर आधिकारिक बयान लें.

Supreme Court Modi PTI

क्या कोरोना वायरस की कवरेज को लेकर अप्रत्यक्ष रूप से मीडिया सेंसरशिप लागू की जा रही है?

सरकार से पुष्टि के बाद कोरोना वायरस से संबंधित ख़बरें मीडिया द्वारा चलाए जाने के सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अलग-अलग मायने निकले जा सकते हैं. हो सकता है कि केंद्र इसे मीडिया सेंसरशिप के लिए इस्तेमाल करने लगे या मीडिया सेल्फ सेंसरशिप करने लगे. अगर ऐसा होता है तो यह अभिव्यक्ति की आज़ादी के लिए गंभीर ख़तरा होगा.

Ayodhya: UP Chief Minister Yogi Adityanath, accompanied by District Magistrate Anuj Jha and priests, shifts the idol of Ramlala from the makeshift temple to a new structure near Manas Bhawan, in Ayodhya, early Wednesday, March 25, 2020. Social distancing was observed, and there was no participation of the public due to the complete lockdown imposed to contain the spread of the novel coronavirus. (PTI Photo) (PTI25-03-2020 000027B)

यूपी पुलिस द्वारा ‘द वायर’ के ख़िलाफ़ की गई एफआईआर प्रेस की आज़ादी पर हमला है

द वायर के संस्थापक संपादकों ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि यूपी पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर जायज़ अभिव्यक्ति और तथ्यात्मक जानकारी पर हमला करने की कोशिश है.

Indian press photographers stand behind a fence for security reasons as they take pictures of Belgium's Queen Paola in a school in Mumbai November 6, 2008. Belgium's King Albert II and Queen Paola are on a official state visit to India.     REUTERS/Francois Lenoir   (INDIA)

कोरोना: पीआईबी और प्रेस काउंसिल ने मीडिया से सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करने की अपील की

बीते मंगलवार को केंद्र सरकार की मांग पर सुप्रीम कोर्ट ने मीडिया से कहा था कि वह सरकार से पुष्टि के बाद ही कोरोना वायरस से संबंधित खबरें चलाए.

डेनियल पर्ल. (फोटो साभार: विकिपीडिया)

पाकिस्तान: अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या के मुख्य आरोपी की मौत की सज़ा क़ैद में बदली

अमेरिकी नागरिक और वॉल स्ट्रीट जर्नल के दक्षिण एशियाई क्षेत्र के ब्यूरो प्रमुख डेनियल पर्ल का साल 2002 में पाकिस्तान के कराची शहर से अपहरण करने के बाद उनकी हत्या कर दी गई थी.

1 APRIL 2020 AKI.00_21_22_20.Still003

कोरोना वायरस से ज़्यादा ख़तरनाक दरबारी मीडिया की सांप्रदायिकता

वीडियो: दिल्ली के निज़ामुद्दीन पश्चिम स्थित एक मरकज़ में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है, जिसे भारत के बड़े मीडिया संगठनों ने अलग ढंग से पेश किया है. इस मुद्दे पर चर्चा कर रही हैं द वायर की सीनियर एडिटर आरफ़ा ख़ानम शेरवानी.

​​(फोटो: पीटीआई)

सरकार से पुष्टि के बाद ही कोरोना वायरस से संबंधित खबरें चलाए मीडिया: सुप्रीम कोर्ट

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से यह निर्देश दिए जाने की मांग की थी कि सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए सिस्टम से कोरोना वायरस पर तथ्यों की पुष्टि किए बिना कोई भी मीडिया प्रतिष्ठान किसी खबर का प्रकाशन अथवा प्रसारण न करे.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

एडिटर्स गिल्ड ने मीडिया को कामकाज से रोकने की पुलिस की सख़्ती और मनमानी पर चिंता जताई

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने कहा है कि पुलिस का काम पत्रकार के काम में बाधा डालना नहीं है, खासतौर पर मौजूदा परिस्थितियों में, बल्कि उनके कामकाज में सहायक बनना है.

Kolkata: A notice put up on the wall of  studio para after it was closed in wake of the deadly coronavirus pandemic, in Kolkata, Wednesday, March 18, 2020. (PTI Photo/Swapan Mahapatra)(PTI18-03-2020_000156B)

सरकार ने राज्यों से कहा: सुनिश्चित करें प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का कामकाज जारी रहे

सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कहा है कि टीवी चैनल और समाचार एजेंसियां प्रामाणिक सूचना पहुंचाने के बेहद आवश्यक माध्यम हैं. झूठी और फ़र्ज़ी ख़बरों से बचना होगा.

Dainik Bhaskar Sana Marine Interview

फिनलैंड की पीएम का फ़र्ज़ी इंटरव्यू छापने पर दैनिक भास्कर को प्रेस काउंसिल ने भेजा नोटिस

द वायर से बातचीत में दैनिक भास्कर की ओर से कहा गया, ‘हम अपने फ्रीलांस पत्रकार सिद्धार्थ राजहंस के धोख़े का शिकार हुए हैं. उन्होंने हमसे जालसाज़ी की है. हम उनके ख़िलाफ़ क़ानूनी क़दम उठा रहे हैं. साथ ही फिनलैंड के प्रधानमंत्री कार्यालय और दूतावास को माफ़ीनामा भी भेज रहे हैं.

1803 Media Bol Master.00_29_24_09.Still003

कोरोना वायरस: देस-परदेस और मीडिया

वीडियो: मीडिया बोल की इस कड़ी वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मुद्दे पर जेएनयू के प्रोफेसर डॉ. विकास बाजपेयी और वरिष्ठ पत्रकार बिराज स्वैन के साथ चर्चा कर रहे हैं.

The Telegraph Ranjan Gogoi Ramnath Kovind

राज्यसभा के लिए रंजन गोगोई को नामित करने संबंधी ख़बर पर ‘द टेलीग्राफ’ अख़बार को नोटिस

देश के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामित किए जाने को लेकर अंग्रेज़ी अख़बार ‘द टेलीग्राफ’ ने 17 मार्च को एक ख़बर प्रकाशित की थी, जिसके शीर्षक में राष्ट्रपति कोविंद का नाम कथित तौर पर व्यंग्यात्मक ढंग से लिखा गया था.

(फोटो: रॉयटर्स)

अमेरिकी पत्रकार को वापस भेजने संबंधी प्रसार भारती की ख़बर को विदेश मंत्रालय ने ग़लत बताया

देश के सार्वजनिक प्रसारणकर्ता प्रसार भारती ने ट्वीट कर कहा था कि विदेश मंत्रालय ने अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास से भारत विरोधी व्यवहार को लेकर वॉल स्ट्रीट जर्नल के दक्षिण एशियाई डिप्टी ब्यूरो चीफ एरिक बेलमैन को तत्काल प्रभाव से वापस भेजने के एक अनुरोध को देखने के लिए कहा है. हालांकि विदेश मंत्रालय ने इस ख़बर का खंडन किया है.

(फोटो: पीटीआई)

दिल्ली दंगे की कवरेज पर दो मलयाली चैनलों पर लगाई गई 48 घंटे की पाबंदी, दोबारा प्रसारण शुरू

अपने अभूतपूर्व आदेशों में सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने केरल के दोनों चैनलों मीडिया वन और एशियानेट न्यूज टीवी पर प्रतिबंध लगाने के लिए एक समुदाय का पक्ष लेने और दिल्ली पुलिस और आरएसएस की आलोचना को कारण बताया था.

0303 Sushil Mono.00_06_54_21.Still002 (1)

‘मैं दंगों की रिपोर्टिंग पर था, उन्होंने धर्म की पहचान के लिए मेरे कपड़े उतरवाए’

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के दौरान जनचौक न्यूज़ पोर्टल के पत्रकार सुशील मानव को एक समूह द्वारा रोककर मारपीट की गई और अपनी धार्मिक पहचान साबित करने को कहा गया. सुशील की आपबीती.

0203 Media Bol Master.00_32_35_03.Still005

मीडिया बोल: दिल्ली की हिंसा, गोली मारो के नारे और मीडिया

वीडियो: 23 फरवरी से दिल्ली में भड़की सांप्रदायिक हिंसा की आग में अब तक 48 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है और 300 से अधिक लोग घायल हैं. मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश इस बारे में द वायर के डिप्टी एडिटर अजय आशीर्वाद, सामाजिक कार्यकर्ता शबनम हाशमी और जनचौक वेबसाइट के संवाददाता सुशील मानव से चर्चा कर रहे हैं.

नई दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में आकाश नापा. (फोटो: श्रृष्टि श्रीवास्तव)

दिल्ली दंगों के दौरान जिस पत्रकार को गोली लगी, वो किस हाल में है?

विशेष रिपोर्ट: उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों की कवरेज के लिए गए एक स्थानीय चैनल के संवाददाता आकाश नापा को गोली लगी है. वे जीटीबी अस्पताल में भर्ती हैं.

Media Bol 24 Feb.00_37_43_13.Still005

मीडिया बोल: दिल्ली में हिंसा के बीच डोनाल्ड ट्रंप का दौरा

वीडियो: मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश दिल्ली हिंसा के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दो दिवसीय भारत दौरे के बारे में वरिष्ठ पत्रकार माया मीरचंदानी, बीबीसी के पूर्व संपादक राजेश जोशी और वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश के रे के साथ चर्चा कर रहे हैं.

2702 Del Violence GD.00_37_34_13.Still006

दिल्ली दंगा: पत्रकारों पर हुए हमले की आपबीती

वीडियो: दिल्ली में दंगाइयों ने विभिन्न मीडिया संस्थानों के कई पत्रकारों को निशाना बनाया. एक पत्रकार को गोली मार दी गई, कई घायल हुए और महिला पत्रकारों को उत्पीड़न का शिकार होना पड़ा. इस बारे में द वायर के पत्रकारों- अजय आशीर्वाद, नाओमी बार्टन और अविचल दुबे से धीरज मिश्रा की बातचीत.

Media Bol

मीडिया बोल: वीडियो में सामने आई जामिया में हुई बर्बरता की तस्वीरें

वीडियो: मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश 15 दिसंबर को जामिया मिलिया इस्लामिया में हुई हिंसा से संबंधित सामने आए वीडियो फुटेज के बारे में उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी वीएन राय, वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष और जामिया के शोधार्थी राहुल कपूर से चर्चा कर रहे हैं.

jamia student 3

फैक्ट चेक: सीसीटीवी में दिखे जामिया छात्र के हाथ में ‘पर्स’ को चैनलों ने ‘पत्थर’ बताया

ये फुटेज दिल्ली पुलिस की विशेष जांच दल द्वारा चैनल को दिया गया था. वीडियो के कई फ्रेम में साफ दिखाई दे रहा है कि छात्र के हाथ में पत्थर नहीं, पर्स है.

1002 Media Bol'.00_31_40_47.Still004

मीडिया बोल: आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट, सत्ता और मीडिया

वीडियो: शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने अपने फ़ैसले में कहा कि पदोन्नति में आरक्षण वैकल्पिक है, अनिवार्य नहीं. राज्य इस बारे में अपने विवेक से तय कर सकते हैं, उन्हें आरक्षण देना है या नहीं. मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट के वकील केएस चौहान, वरिष्ठ पत्रकार अशोक दास और वरिष्ठ पत्रकार बिराज स्वैन के साथ चर्चा कर रहे हैं.

0102 Media Bol Master.00_24_53_02.Still002

मीडिया बोल: जामिया मिलिया में फायरिंग और अर्णब के लिए उतरी सरकार

वीडियो: दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया के पास फायरिंग और स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा एवं टीवी पत्रकार अर्णब गोस्वामी के बीच हुए विवाद पर सीएसडीएस के संपादक अभय कुमार दुबे और वरिष्ठ पत्रकार शीबा असलम फ़हमी के साथ चर्चा कर रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश.

2701 Media Bol.00_34_38_23.Still004

मीडिया बोल: दिल्ली चुनाव और शाहीन बाग़ मुक्त दिल्ली के मायने

वीडियो: शाहीन बाग़ के ज़रिये दिल्ली चुनाव को साधने की कोशिश की जा रही है. मीडिया बोल की इस कड़ी में इसी मुद्दे पर वरिष्ठ पत्रकार क़ुर्बान अली, हार्ड न्यूज़ के संपादक संजय कपूर और वरिष्ठ पत्रकार अवधेश के सिंह के साथ चर्चा कर रहे है वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश.

(फोटो साभार: ट्विटर)

अयोध्या फैसले के दौरान ‘भड़काऊ सामग्री’ प्रचारित करने के लिए समाचार चैनल आज तक को फटकार

नेशनल ब्रॉडकास्टिंग स्टैंडर्ड्स अथॉरिटी ने समाचार चैनल ‘आज तक’ को फटकार लगाते हुए उसे यूट्यूब से विवादास्पद कार्यक्रम को हटाने और सात दिनों के भीतर अनुपालन रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है.

2001 Media Bol MAster.00_30_29_38.Still002

मीडिया बोल: पुलिस का ‘गिरोह’ बनना और दविंदर सिंह की गिरफ़्तारी

वीडियो: मीडिया बोल की इस कड़ी में वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश जम्मू कश्मीर पुलिस में कार्यरत दविंदर सिंह की गिरफ़्तारी को लेकर लेखक और वरिष्ठ पत्रकार विपुल मुद्गल, दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स की छात्रा आकृति भाटिया और पूर्व आईपीएस विकास नारायण राय के साथ चर्चा कर रहे हैं.

Media Bol Ep 127.00_35_45_22.Still004

मीडिया बोल: सीएए एनआरसी विरोधी आंदोलन के युवा, गीत और नारे

वीडियो: बीते महीने नागरिकता संशोधन क़ानून आने के बाद से इसके और एनआरसी के विरुद्ध चल रहे राष्ट्रव्यापी प्रतिरोध में युवा उभार स्पष्ट दिखाई दे रहा है. इस आंदोलन में कई तरह के गीत, नारे और कुछ अलग तरह कलाकारों ने अपनी छवि छोड़ी है. मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश इस विषय पर स्टैंडअप कलाकार संजय राजौरा, वैज्ञानिक और शायर गौहर रज़ा और आइसा के अध्यक्ष एन. साई बालाजी से चर्चा कर रहे हैं.