विज्ञान

FILE PHOTO: A patient receives chemotherapy treatment for breast cancer at the Antoine-Lacassagne Cancer Center in Nice July 26, 2012. REUTERS/Eric Gaillard

एडवांस स्टेज के कैंसर मरीज़ों पर कीमोथेरेपी का ज़्यादा असर नहीं होता: विशेषज्ञ

मेडिकल जर्नल द लैंसेट ने ऐसे कुछ तौर-तरीकों की सूची तैयार की है, जिनसे कैंसर के इलाज के दौरान बचा जाना चाहिए.

New Delhi: Prime Minister Narendra Modi waves at the crowd after attending the 70th Republic Day celebrations at Rajpath, in New Delhi, Saturday, Jan. 26, 2019. (PTI Photo/ Kamal Kishore)(PTI1_26_2019_000021B)

आज़ादी से 2014 तक जितने अंतरिक्ष अभियान हुए, लगभग उतने ही बीते चार वर्षों में शुरू हुए: मोदी

मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चाहे चक्रवात हो, या फिर रेल और सड़क सुरक्षा, देश अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का उपयोग जानमाल की रक्षा में बख़ूबी कर रहा है.

ग्रेगर जॉन मेंडल. (फोटो साभार: www.tes.com)

क्या आप ग्रेगर मेंडल और उनके मटर के पौधों की कहानी जानते हैं?

विशेष: मेंडल ने हमें बताया है कि एक नवजात में कोई भी विशेषता इससे निर्धारित होती है कि उसे अपने मां-बाप से कौन से गुण मिले हैं. हालांकि उनकी इस महत्वपूर्ण खोज का अर्थ लोग 35 साल बाद समझ सके.

A bottle of Johnson and Johnson Baby Powder is seen in a photo illustration taken in New York, February 24, 2016. Consumers expressed concern on social media about a talc-based baby powder made by Johnson & Johnson on Wednesday after a Missouri jury ordered the company to pay $72 million in damages to the family of a woman who said her death from cancer was linked to use of the product.  REUTERS/Shannon Stapleton/Illustration/File Photo

जॉनसन एंड जॉनसन को पहले से थी बेबी पाउडर में हानिकारक केमिकल होने की जानकारी

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की इनवेस्टिगेटिव रिपोर्ट में सामने आया है कि 1971 से 2000 तक कंपनी के बेबी पाउडर की जांच में कई बार कैंसर फैलाने वाला हानिकारक केमिकल एसबेस्टस पाया गया था.

Ralph Steinman Reuters

क्या आप उस इकलौते चिकित्सक की कहानी जानते हैं जिसे मृत्यु के बाद नोबेल पुरस्कार दिया गया?

विशेष रिपोर्ट: नोबेल पुरस्कार के 100 से भी अधिक साल के इतिहास में केवल एक बार हुआ है जब एक व्यक्ति को मरने के बाद पुरस्कार मिला है. यह सम्मान 2011 के चिकित्सा क्षेत्र के पुरस्कार के लिए राल्फ स्टीनमैन को हासिल है.

S-Nambi-Narayanan-You tube

इसरो जासूसी कांड में वैज्ञानिक की गिरफ़्तारी अनावश्यक थी: सुप्रीम कोर्ट

1994 में हुए इसरो जासूसी कांड में वैज्ञानिक नंबी नारायणन की ग़ैर-क़ानूनी गिरफ़्तारी के लिए सीबीआई ने केरल पुलिस के अधिकारियों को ज़िम्मेदार ठहराया था. शीर्ष अदालत ने इन अधिकारियों के ख़िलाफ़ जांच आदेश देते हुए केरल सरकार से नारायणन को 50 लाख रुपये का मुआवजा देने को कहा है.

Clinical Trial Reuters

फार्मा कंपनियों द्वारा ड्रग ट्रायल नियंत्रित करने के लिए नियम बनाएं केंद्र: सुप्रीम कोर्ट

फार्मा कंपनियों द्वारा मनुष्यों पर ड्रग ट्रायल के ख़िलाफ़ दायर याचिका में याचिकाकर्ताओं का आरोप है कि देश में अनेक राज्यों में दवा कंपनियां मनमाने तरीके से दवाओं के परीक्षण कर रही हैं, जिनमें अनेक मौतें हो चुकी हैं.

फोटो साभार: wakingtimes.com

क्या आप चार्ल्स डार्विन और उनके प्राकृतिक चयन के सिद्धांत की ये कहानी जानते हैं?

विशेष रिपोर्ट: 150 साल से भी ज्यादा पुरानी यह कहानी चार्ल्स डार्विन, अल्फ्रेड वालेस और विलियम बेटसन की है. तीनों इंग्लैंड से हैं और 19वीं सदी के हीरो हैं.

Photo: ESA/Hubble, NASA, M. Kornmesser

150 साल पहले आज ही भारत बना था हीलियम की ऐतिहासिक खोज का गवाह

हीलियम से भरे गुब्बारे आज भले ही आम हो गए हैं, लेकिन डेढ़ सौ साल पहले इस गैस की मौजूदगी से जुड़े संकेत किसी रसायन विज्ञान की प्रयोगशाला के बजाय सूर्य ग्रहण के दौरान सूरज की बाहरी परत को देखने के दौरान मिले थे.

Tapan Mishra ISRO

इसरो ने अहमदाबाद केंद्र के वैज्ञानिक को निदेशक पद से हटाया

आरोप है कि वैज्ञानिक डॉ. तपन मिश्रा ने इसरो के उपक्रमों के निजीकरण का विरोध किया जिसकी वजह से उन्हें अहमदाबाद में अंतरिक्ष उपयोग केंद्र के निदेशक से वरिष्ठ सलाहकार बना दिया गया.

भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी. (फोटो: पीटीआई)

परजीवी की तरह है प्रौद्योगिकी, मानवता के लिए ख़तरा: मुरली मनोहर जोशी

दिवंगत पत्रकार प्रभाष जोशी की जयंती पर भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी कहा कि आधार नई तकनीक है जो आपसे जुड़ी सारी जानकारी ले लेती है. किसी व्यक्ति की पहचान अब सिर्फ एक नंबर हो गया है.

VOVERAN

दर्दनिवारक इंजेक्शन वोवेरान पर लगा प्रतिबंध, किडनी को नुकसान पहुंचाने वाले तत्व पाए गए

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की समिति की सिफारिश पर भारतीय दवा नियंत्रक ने प्रतिबंध लगाया है. दवा में ट्रांसक्योटोल तत्व पाया गया जो कि पूरी दुनिया में प्रतिबंधित है.

कहलगांव रेलवे स्टेशन. (फोटो: उमेश कुमार राय/द वायर)

क्या एनटीपीसी कहलगांव बिहार का ‘स्टरलाइट’ बनता जा रहा है?

ग्राउंड रिपोर्ट: नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन के कहलगांव स्थित थर्मल पावर प्लांट से निकलने वाली राख से आसपास के गांवों में रहने वाले लोग पिछले कई सालों से दमा, टीबी और फेफड़ों के संक्रमण जैसी बीमारियों से जूझ रहे हैं.

Ali Raza, 21, a scrap worker breaks a computer apart in order to retrieve metal to be used for soldering wires at a makeshift workshop in Karachi April 20, 2011.  REUTERS/Athar Hussain (PAKISTAN - Tags: SOCIETY BUSINESS)

ई-कचरा पैदा करने वाले दुनिया के पांच शीर्ष देशों में भारत: रिपोर्ट

ई-कचरे की वैश्विक मात्रा साल 2016 में 4.47 करोड़ टन थी जो 2021 तक 5.52 करोड़ टन तक पहुंचने की संभावना है. भारत में करीब 20 लाख टन सालाना ई-कचरा पैदा होता है.

(फोटो साभार: coub.com)

माइकल जैक्सन के ‘स्मूथ क्रिमिनल’ डांस की नकल से डांसरों की रीढ़ को पहुंच रहा नुकसान

चं​डीगढ़ पीजीआई के डॉक्टरों ने एक अध्ययन में दावा किया है माइकल जैक्सन के डांस की नकल की वजह से डांसरों में मांसपेशियों का फटना और डिस्क संबंधी समस्याएं हो रही हैं.

Kanpur: A child reads from a book, as thick black smoke rises in the sky from the glue factories at Dakari village of Unnao district near Kanpur on Friday. The World Health Organisation global air pollution database has revealed that India has 14 of the 20 most polluted cities in the world in terms of Particulate Matter (PM) 2.5 concentration, with Kanpur topping the charts. It said that nine out of 10 people in the world breathe air containing high levels of pollutants. PTI Photo by Arun Sharma(PTI5_6_2018_000146B)

उत्तर प्रदेश में प्रदूषण के चलते बढ़ रही हैं असमय मौतें, लखनऊ में सालाना 4 हज़ार लोगों की मौत

एक अध्ययन के अनुसार कानपुर में प्रदूषण के चलते सालाना करीब 4 हज़ार से अधिक मौतें हो जाती हैं. वहीं लखनऊ में हर दिन औसतन 11 लोग प्रदूषण के चलते जान गंवा रहे हैं.

(फोटो साभार: पीटीआई)

बोतलबंद पानी से ख़ास लाभ नहीं, हमारे मरने के डर ने बढ़ाई इसकी बिक्री: अध्ययन

अध्ययन के अनुसार, जब हमें नल का अच्छी गुणवत्ता का पानी उपलब्ध है तब भी हम बोतलबंद पानी की तरफ़ आकर्षित होते हैं तो सिर्फ़ इसलिए कि विज्ञापन के ज़रिये यह स्थापित कर दिया गया है कि बोतलबंद पानी ही शुद्ध है.

इसरो के पूर्व प्रमुख एएस किरण कुमार. (फोटो: पीटीआई)

संसाधनों का अभाव मानव अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम में बाधक: इसरो के पूर्व प्रमुख

इसरो के अध्यक्ष पद से इस महीने रिटायर हुए एएस किरण कुमार ने कहा कि प्रस्ताव पर एक दशक पहले विचार किया गया था, लेकिन इस पर बहुत प्र​गति नहीं हो सकी.

(फोटो: पीटीआई)

अतार्किकता और अवैज्ञानिकता के मामले में क्या हम पाकिस्तान बनने की ओर अग्रसर हैं?

भारत में बंददिमागी एवं अतार्किकता को जिस किस्म की शह मिल रही है और असहमति की आवाज़ों को सुनियोजित ढंग से कुचला जा रहा है, उसे रोकने की ज़रूरत है ताकि संविधान को बचाया जा सके.

केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह और जैव विज्ञानी चार्ल्स डार्विन. (फोटो साभार: फेसबुक/विकिपीडिया)

मंत्री जी ने डार्विन को चुनौती देकर बंदरों पर लगे कलंक को मिटाने की तरफ़ बड़ा क़दम उठाया है

बंदरों ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह की बात का स्वागत किया है कि डार्विन के सिद्धांत को स्कूल-कॉलेजों की किताबों से निकाल देना चाहिए.

केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह और जैव विज्ञानी चार्ल्स डार्विन. (फोटो साभार: फेसबुक/विकिपीडिया)

मोदी के मंत्री ने कहा, ‘इंसानों के विकास संबंधी डार्विन का सिद्धांत वैज्ञानिक रूप से ग़लत’

मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह ने कहा कि स्कूल और कॉलेज पाठ्यक्रम में बदलाव की ज़रूरत. इंसान जब से पृथ्वी पर देखा गया है, हमेशा इंसान ही रहा है.

दिल्ली का लाल किला, क़ुतुब मीनार, जामा मस्जिद (फोटो: पीटीआई)

पुरातात्विक स्थलों के लिए एसिड रेन है दिल्ली की प्रदूषित हवा

प्रदूषण के कारण ताज महल की रंगत फीकी पड़ने की वैज्ञानिक पुष्टि होने के बाद यह साबित हो चुका है कि प्रदूषण के कुप्रभावों से पुरातात्विक स्थल अछूते नहीं हैं.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

वातावरण में स्थायी तौर पर बढ़ते कार्बन की मात्रा ख़तरनाक: वैज्ञानिक

प्रख्यात वैज्ञानिक डॉ. सोनकर ने कहा, लोगों में यह गलत धारणा है कि मास्क पहन लेने अथवा घर में एयर प्यूरीफायर लगा लेने से वे ख़ुद को सुरक्षित कर पा रहे हैं.

मंगल ग्रह की कंप्यूटर जेनेरेटड ​तस्वीर. (फोटो: रॉयटर्स)

नासा के मंगल मिशन के लिए 1.3 लाख से ज़्यादा भारतीयों ने भेजे अपने नाम

मिशन के लिए पूरे विश्व से कुल 2,429,807 आवेदन मिले हैं. इन नामों को एक माइक्रोचिप पर उकेरा जाएगा. ये चिप हमेशा के लिए मंगल पर रहेगा.

airplane

एक भारतीय ने विमान उड़ाने की ‘कोशिश’ की थी, आविष्कार नहीं

‘प्राचीन तकनीक’ को अगर पाठ्यक्रम में शामिल करना ही है, तो इसके पीछे मक़सद मेहनत की भावना को जगाना होना चाहिए. आज किसी शिवकर बापूजी तलपड़े को कोशिश करने और नाकाम होने की छूट होनी चाहिए.

Artist’s impression of dust formation around a supernova explosion

अपनी चमक फीकी नहीं पड़ने देने वाले तारे का पता चला

वैज्ञानिकों ने एक तारे आश्चर्यजनक तारे की खोज की है जिसने अपनी चमक फीकी नहीं पड़ने दी, जबकि 50 साल से भी अधिक समय तक इसमें कई बार विस्फोट हुआ.

Gomti_at_Lucknow

गोमती के जल में भारी धातुओं का स्तर चिंताजनक

वैज्ञानिकों ने एक शोध में गोमती के जल में हानिकारक भारी धातुओं के होने की पुष्टि की है. पहली बार गोमती में आर्सेनिक की उपस्थिति का भी पता चला है.

Smoke rises from the modern city of Palmyra, in Homs Governorate, Syria April 1, 2016. REUTERS/Omar Sanadiki

आधुनिक सभ्यता भी मानव की रक्तपिपासा को कम नहीं कर पाई: अध्ययन

वै​ज्ञानिकों का कहना है, आधुनिक समय के लोग अपने पूर्वजों से कम हिंसक नहीं हैं. इसके उलट चिम्पैंजी मानवों से कम हिंसक हैं.

A file photo handout of the European Space Agency ESA shows a visualisation of Mars, created from spacecraft imagery. The European Space Agency is looking for volunteers to make a pretend trip to Mars. REUTERS/Ho/European Space Agency

मंगल पर कार्बन डाईऑक्साइड से ऑक्सीजन पैदा करने के लिए आदर्श स्थितियां: शोध

मंगल ग्रह को लेकर किए गए अध्ययन में पुर्तगाल के यूनिवर्सिटी ऑफ पोर्टो और पेरिस की इकोल पॉलीटेक्निक के शोधकर्ताओं ने किया दावा.

Blue Whale Game Daisy Dobson

बाज़ार वीडियो गेम्स के ज़रिये कब बच्चों की ज़िंदगी से खेलने लगा, पता ही नहीं चला

रूस में बने ‘द ब्लू व्हेल चैलेंज’ सुसाइड गेम ने दुनियाभर में लगभग 300 जानें ली हैं और अब भारत में भी इसका असर दिखने लगा है.

Gorakhpur: A view of a flooded region in eastern Uttar Pradesh on Wednesday. PTI Photo  (PTI8_24_2017_000228B)

हर मौसम आजकल कोई न कोई शोक संदेश लेकर आता है

प्रकृति विरोधी विकास हमें विनाश की और ले जा रहा है. पहाड़ों को काटने, नदियों को बांधने और जंगलों को मिटाने का मतलब विकास नहीं है, यह ख़ुद को मिटाने की भौतिक तैयारी है. हमारी शिक्षा ने हमें अपने परिवेश और पर्यावरण से बहुत दूर कर दिया है. ये जंगल, पर्वत और झरने हमें अध्यात्म का विषय लगते हैं, पर इससे पहले ये भूगोल का विषय हैं.

science facebook

मार्च फॉर साइंस: सड़क पर उतरे देश के हज़ारों वैज्ञानिक

जीडीपी का तीन फीसदी वैज्ञानिक शोध और दस फीसदी शिक्षा पर ख़र्च करने की मांग को लेकर बुधवार को देश भर में हज़ारों की संख्या में वैज्ञानिक और शिक्षाविद सड़क पर उतरे.​​​​