आजीवन कारावास

हिमाचल प्रदेश: 2017 के गुड़िया बलात्कार और हत्या मामले में दोषी को आजीवन कारावास की सज़ा

हिमाचल प्रदेश के शिमला ज़िले में जुलाई, 2017 में स्कूल से घर जा रही नाबालिग छात्रा की कोटखाई जंगल इलाके में बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई थी. कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह और माकपा विधायक राकेश सिंघा ने मामले की सीबीआई जांच पर सवाल उठाते हुए दावा किया कि असली अपराधी अब भी खुलेआम घूम रहे हैं, जबकि मृत्युपर्यंत आजीवन कारावास की सज़ा पाने वाले लकड़हारे को झूठा फंसाया गया है.

बिहार: ज़हरीली शराब से 19 लोगों की मौत के मामले में नौ दोषियों को फ़ांसी, चार को उम्रक़ैद

साल 2016 में गोपालगंज ज़िले के खजूरबानी इलाके में ज़हरीली शराब पीने से 19 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि चार लोगों की आंखों की रोशनी भी चली गई थी. इस मामले में कुल 14 लोग आरोपी थे, जिनमें से एक की सुनवाई के दौरान मौत हो गई थी.

सिस्टर अभया हत्या मामलाः 28 साल बाद पादरी और नन को आजीवन कारावास की सज़ा

केरल की 19 साल की सिस्टर अभया का शव 27 मार्च 1992 को सेंट पायस कॉन्वेंट के एक कुएं में मिला था. सिस्टर अभया ने चर्च के पादरी और नन को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था, जिसकी वजह से उनकी हत्या कर दी गई थी. घटना के तक़रीबन 16 साल बाद मामले के तीन आरोपियों की गिरफ़्तारी हो सकी थी. मामले को पहले आत्महत्या का रूप देने की भी कोशिश की गई थी.

उत्तर प्रदेश: भाजपा विधायक अशोक सिंह चंदेल समेत 10 को आजीवन कारावास, विधायक कोर्ट से फ़रार

अशोक सिंह चंदेल उत्तर प्रदेश के हमीरपुर से भाजपा विधायक हैं. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 22 साल पुराने एक गोलीकांड की सुनवाई करते हुए यह सज़ा सुनाई है. घटना में हमीरपुर के एक अन्य भाजपा नेता के परिवार के पांच सदस्यों की जान चली गई थी.

उत्तर प्रदेश: अलीगंज फ़र्ज़ी मुठभेड़ मामले में लखनऊ के पूर्व डिप्टी मेयर सहित चार को उम्र कै़द

लखनऊ के अलीगंज इलाक़े में 24 साल पहले पुलिस ने एक मुठभेड़ में गैंगस्टर गोपाल मिश्रा को मार गिराने का दावा किया था.

अजमेर दरगाह विस्फोट मामले में दो को आजीवन कारावास

अजमेर स्थित ख़्वाज़ा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह में 11 अक्तूबर 2007 को रोज़ा इफ़्तार के समय हुए विस्फोट में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 15 अन्य घायल हो गए थे.