उत्तर प्रदेश चुनाव

Lucknow: BSP supremo Mayawati and Samajwadi Party President Akhilesh Yadav during a joint press conference, in Lucknow, Saturday, Jan. 12, 2019. (PTI Photo/Nand Kumar) (PTI1_12_2019_000113B)

क्या बसपा के महागठबंधन से पीछे हटने में भाजपा का हाथ है?

कुछ लोगों का मानना है कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में मुलायम सिंह यादव और उनके परिवार को सीबीआई से मिली क्लीनचिट ने मायावती के मन में विद्वेष का बीज डाला.

अखिलेश यादव और मायावती (फाइल फोटो: पीटीआई)

लोकसभा चुनाव के बाद अखिलेश-मायावती ने विधानसभा उपचुनाव अकेले लड़ने का किया ऐलान

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि गठबंधन हमेशा के लिए समाप्त नहीं हो रहा. अगर लगेगा कि सपा इस स्थिति में है कि गठबंधन से लाभ हो सकता है तो हम ज़रूर साथ आएंगे, नहीं तो अलग-अलग रहना ही ज़्यादा बेहतर होगा. वहीं, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि अगर उपचुनाव में गठबंधन मिलकर नहीं लड़ेगा तो समाजवादी पार्टी चुनाव के लिए तैयार रहेगी.

PTI

क्या ज़िंदा क़ौमों के बीच की राजनीति का ये मौजूं होना चाहिए?

निराशा और निष्क्रियता के गर्त में चले गए विपक्षी दलों को संबोधित करते हुए एक खुला ख़त लिख रहे हैं राजद के प्रवक्ता मनोज कुमार झा…

katiyar 1

‘जब मुसलमान हमें वोट नहीं देते तो उन्हें टिकट क्यों दें’

अयोध्या में वोट डालने के बाद भाजपा के राज्यसभा सदस्य विनय कटियार ने राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को महत्वपूर्ण बताया. कहा, राम मंदिर के बिना सारे मुद्दे बेकार हैं.

Uma

बलात्कारियों को उनकी खाल उधड़ने तक पीटना चाहिए: उमा भारती

यूपी में एक रैली के दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अखिलेश सरकार बुलंदशहर गैंगरेप मामले में पीड़िताओं को न्याय दिलाने में नाकाम साबित हुई है.