कुंभ 2019

(फोटो साभार: ट्विटर/भाजपा)

‘मोदीजी के पैर धोने से कोई पवित्र नहीं हो गया, चार महीने से हमें वेतन नहीं मिला है’

वीडियो: बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इलाहाबाद में कुंभ मेले के दौरान कुछ सफाईकर्मियों के पैर धोए थे. उन सफाई कर्मचारियों से बातचीत.

नई दिल्ली के जंतर मंतर पर सोमवार को हुआ प्रदर्शन. (फोटो: द वायर)

‘सफाई कर्मचारियों के पैर धोने की ज़रूरत नहीं, उनके पैर कीचड़ से निकालने की ज़रूरत’

सीवर में होने वाली मौतों के ख़िलाफ़ सफाई कर्मचारियों के संगठन ने नई दिल्ली के जंतर मंतर पर किया प्रदर्शन. संगठन ने कहा कि सफाई कर्मचारी का बच्चा सफाई कर्मचारी न बने, उसके लिए सरकार को प्रयास करने की ज़रूरत है.

(फोटो साभार: ट्विटर/भाजपा)

क्या संविधान ने हमें सम्मान से जीने के लिए पांव धोने की व्यवस्था दी है?

क्या किसी बेरोज़गार के घर समोसा खा लेने से बेरोज़गारों का सम्मान हो सकता है? उन्हें नौकरी चाहिए या प्रधानमंत्री के साथ समोसा खाने का मौक़ा? अगर पांव धोना ही सम्मान है तो फिर संविधान में संशोधन कर पांव धोने और धुलवाने का अधिकार जोड़ दिया जाना चाहिए.

Kumbh ANI

कुंभ के दौरान ज़हरीली है इलाहाबाद की हवा, एनजीटी के आदेश को किया जा रहा नज़रअंदाज़

पर्यावरण वैज्ञानिक डॉक्टर सीमा जावेद ने कुंभ के दौरान इलाहाबाद की हवा इतनी खराब होने पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि एनजीटी के आदेश के बावजूद इलाहाबाद में वायु की गुणवत्ता पर नजर रखने के सरकारी प्रयास नहीं हो रहे हैं.

OP Rajbhar Yogi Twitter PTI

योगी के मंत्री बोले, कुंभ पर हज़ारों करोड़ ख़र्च लेकिन दिव्यांग बच्चों के स्कूल का बजट नहीं

यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने कहा, ‘कुंभ के जरिये लोकसभा चुनाव के लिए ब्रांडिंग की जा रही है. कुंभ में हज़ारों करोड़ ख़र्च किया जा रहा है, जबकि राज्य सरकार के पास दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के लिए बजट नहीं है.’