केन विलियमसन

(फोटो साभार: आईसीसी)

विश्व कप फाइनल में हुए विवाद के कारण आईसीसी ने सुपर ओवर नियम को बदला

विश्व कप क्रिकेट के फाइनल के सुपर ओवर में मैच टाई रहने पर न्यूजीलैंड के खिलाफ इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया गया था. हालांकि, दुनियाभर के मौजूदा और पूर्व क्रिकेटरों ने चौके छक्के गिनकर विश्व कप विजेता का निर्धारण करने वाले आईसीसी के ‘हास्यास्पद’ नियम की जमकर आलोचना की थी.

क्रिकेट विश्वकप फाइनल के अंपायर कुमार धर्मसेना. (फोटो साभार: ट्विटर)

विश्वकप क्रिकेट फाइनल में ओवरथ्रो पर छह रन देने वाले अंपायर ने मानी गलती, कहा- पछतावा नहीं

विश्वकप क्रिकेट फाइनल के आखिरी ओवर में फेंके गए ओवरथ्रो पर अंपायर कुमार धर्मसेना ने छह रन दिया था. इस फैसले को पूर्व अंपायर साइमन टफेल समेत कई विशेषज्ञों ने गलत बताया था.

(फोटो साभार: आईसीसी)

क्या आईसीसी के अस्पष्ट नियम खेल के ख़िलाफ़ जा रहे हैं?

2019 में क्रिकेट के इतिहास में पहली बार बाउंड्री की गणना के आधार पर विश्वकप विजेता की घोषणा की गई, जिसके बाद से आईसीसी के नियमों की आलोचना हो रही है.

विश्वकप क्रिकेट ट्रॉफी के साथ इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन और न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन. (फोटो साभार: ट्विटर)

विश्वकप क्रिकेट फाइनल: पूर्व अंपायरों ने कहा, गलत फैसला था ओवरथ्रो पर पांच की जगह छह रन देना

विश्वकप क्रिकेट फाइनल में इंग्लैंड और न्यूज़ीलैंड का मैच और सुपरओवर दोनों टाई हो गया था. तब आईआईसी ने नए नियमों के तहत पूरी पारी और सुपरओवर में लगाए गए चौके-छक्के की संख्‍या के आधार पर इंग्लैंड को विजेता घोषित कर दिया. आईसीसी के इस फैसले की भी आलोचना हुई थी.