कोरोना संकट

(फोटो साभार: विकिपीडिया)

लॉकडाउन: देश भर के सूचना आयोगों की स्थिति बदहाल, कब शुरू होगी सुनवाई, कुछ पता नहीं

कॉमनवेल्थ ह्यूमन राइट्स इनिशिएटिव के टेलिफोनिक सर्वे में ये जानकारी सामने आई है कि देश के अधिकतर सूचना आयोग एकाध स्टाफ के सहारे काम कर रहे हैं. अधिकतर आयोगों के ऑफिस नंबर या हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करने पर किसी ने जवाब नहीं दिया.

(फोटो साभार: ईपीएफओ)

कोरोना लॉकडाउन प्रभाव: 6,50,000 से ज्यादा कर्मचारियों ने ईपीएफ से पैसा निकाला

अप्रैल महीने में प्रति कार्य दिवस औसतन 30,000-35,000 लोगों ने अपनी भविष्य निधि से पैसा निकाला है, जो कि दर्शाता है कि लोग किस स्तर के संकट से जूझ रहे हैं.

pulses-reuters

‘सभी को दाल’ देने का सीतारमण का वादा अभी तक क्यों लागू नहीं किया गया?

देश में एक राशन कार्ड पर एक किलो दाल के आधार पर एक महीने के लिए 2,36,000 टन दाल की जरूरत है. लेकिन केवल 19,496 टन यानी कि 8.2 फीसदी दाल का ही अभी तक राज्यों में वितरण हुआ है.

(फोटो: रॉयटर्स)

वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बीच असम-मेघालय ने बढ़ाए पेट्रोल-डीजल के दाम

असम के वित्त मंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा ने कहा कि हमें हर महीने रॉयल्टी से 166 करोड़ रुपये की प्राप्ति होती रही है लेकिन अब यह राशि 50 करोड़ रुपये रह जाने का अनुमान है, इसलिये ईंधन के दाम बढ़ाकर हम अपने राजस्व को बचाए रखने का प्रयास कर रहे हैं.

crude oil reuters

ऐतिहासिक गिरावट के साथ अमेरिकी कच्चे तेल की कीमत प्रति बैरल शून्य से नीचे पहुंची

न्यूयॉर्क में कच्चे तेल की कीमत शून्य से भी नीचे जाकर प्रति बैरल माइनस 40.32 डॉलर पर पहुंच गई है. इससे पहले द्वितीय विश्व युद्ध के समये कच्चे तेल की कीमतें न्यूनतम स्तर पर गई थीं.

(फोटो: पीटीआई)

कोरोना संकट: आईएटीए ने कहा- भारतीय विमानन क्षेत्र में 20 लाख लोगों की नौकरियों को ख़तरा

कोरोना वायरस के मद्देनज़र देश में लागू लॉकडाउन के चलते हवाई सेवाएं तीन मई तक निलंबित हैं. एयरलाइंस कंपनियों के वैश्विक संगठन आईएटीए अपील की है कि भारत सरकार को एयरलाइंस कंपनियों की मदद करनी चाहिए, ताकि इस मुश्किल वक़्त से ये बाहर निकल सकें.