गुजरात हिंसा

(फोटो साभार: ट्विटर)

गुजरात दंगा: तीसरे दिन भी हुई आगजनी, खंभात क्षेत्रों में अशांत क्षेत्र अधिनियम लागू होगा

गुजरात में आणंद जिले के खंभात कस्बे में लगातार तीसरे दिन तनाव बना रहा और भीड़ ने मंगलवार को कुछ हिंदू समुदाय के समूहों द्वारा आहूत बंद के दिन सड़क किनारे दो झोपड़ियों और मोटरसाइकिलों को जला दिया. रविवार को इस कस्बे में सांप्रदायिक झड़पें हुई थीं.

(फोटो साभार: ट्विटर)

गुजरात के खंभात में सांप्रदायिक हिंसा, 13 लोग घायल, घर और दुकानें जलाई गईं

एक महीने के भीतर दोनों समुदायों के बीच यह दूसरी झड़प है. इससे पहले 24 जनवरी को हुई इसी तरह की घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.

gujarat-riots_PTI

एनसीईआरटी ने अपनी किताब में गुजरात मुस्लिम विरोधी दंगों से ‘मुस्लिम विरोधी’ शब्द हटाया

12वीं कक्षा की पॉलिटिकल साइंस की किताब के पिछले संस्करण में ‘फरवरी-मार्च 2002 में गुजरात में मुस्लिमों के ख़िलाफ़ बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी’, लिखा था. अब इसमें से मुस्लिम शब्द हटाकर ‘गुजरात में बड़े पैमाने पर हिंसा हुई’ कर दिया गया है.