घृणा अपराध

(फोटो: रॉयटर्स)

फेसबुक की पूर्व कर्मचारी का दावा, फेसबुक के ज़रिये दिल्ली चुनाव प्रभावित करने की कोशिश की गई

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक की एक पूर्व डेटा साइंटिस्ट ने फेसबुक पर कई देशों के चुनावों को प्रभावित करने का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि दुनियाभर में लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को कमज़ोर करने के प्रयासों से निपटने में फेसबुक पारदर्शिता लाने या समय पर कार्रवाई करने में असफल रहा है.

भाजपा विधायक टी. राजा सिंह (फोटो साभार: फेसबुक)

चौतरफा आलोचनाओं से घिरे फेसबुक ने भाजपा विधायक टी. राजा सिंह के एकाउंट पर प्रतिबंध लगाया

अगस्त महीने में एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया था कि भारत में फेसबुक की दक्षिण और मध्य एशिया प्रभार की पॉलिसी निदेशक आंखी दास ने भाजपा नेता टी. राजा सिंह के खिलाफ फेसबुक के हेट स्पीच नियमों को लागू करने का विरोध किया था, क्योंकि उन्हें डर था कि इससे कंपनी के संबंध भाजपा से बिगड़ सकते हैं.

Facebook logo is reflected in glasses in this picture illustration taken on Apr 1, 2019. (Photo: REUTERS/Akhtar Soomro)

2019 के चुनाव से पहले भाजपा के कहने पर फेसबुक ने उसके विरोधी 14 पेजों को बंद किया था: रिपोर्ट

पिछले साल नवंबर में भाजपा ने फेसबुक इंडिया को डिलीट किए जा चुके 17 पेजों को भी दोबारा से शुरू करने के लिए कहा था, जिसमें दो न्यूज़ वेबसाइट- ‘द चौपाल’ और ‘ऑप इंडिया’ शामिल थीं. जिन फेसबुक पेजों की पार्टी ने शिकायत की थी, उनमें ‘भीम आर्मी’ का आधिकारिक अकाउंट, ‘वी हेट बीजेपी’, ‘द ट्रूथ ऑफ गुजरात’ और पत्रकार रवीश कुमार तथा विनोद दुआ के समर्थन वाले पेज शामिल थे.

आंखी दास. (फोटो साभार: लिंक्डइन)

फेसबुक की अधिकारी आंखी दास ने मोदी का समर्थन किया, भाजपा की जीत में सहयोग दिया: रिपोर्ट

वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट में फेसबुक के आंतरिक ग्रुप के संदेशों के आधार पर कहा गया है कि भारत में कंपनी की शीर्ष अधिकारी आंखी दास साल 2012 से अप्रत्यक्ष रूप से नरेंद्र मोदी और भाजपा का समर्थन करती रही हैं. यह दुनियाभर के चुनावों में तटस्थ रहने के फेसबुक के दावों पर सवाल खड़े करता है.

(इलस्ट्रेशन: रॉयटर्स)

देश में फेसबुक पर राजनीतिक विज्ञापन देने के मामले में भाजपा सबसे आगे

फेसबुक के खर्च ट्रैकर पर उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, इस सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पर ‘सामाजिक मुद्दों, चुनावों और राजनीति’ श्रेणी में खर्च करने वाले शीर्ष-10 विज्ञापनदाताओं में से चार अन्य विज्ञापनदाता भाजपा से ही जुड़े हुए हैं, जिनमें से तीन के पते दिल्ली स्थित भाजपा के राष्ट्रीय मुख्यालय के ही हैं.

(फोटो: रॉयटर्स/पीटीआई)

हेट स्पीच पर कार्रवाई न करने को लेकर संसदीय समिति ने दो सितंबर को फेसबुक को तलब किया

सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय समिति की प्रस्तावित बैठक में नागरिक अधिकारों की सुरक्षा और सोशल मीडिया मंचों के दुरुपयोग पर रोक लगाने पर चर्चा की जाएगी. वहीं इस समिति के सदस्य और भाजपा नेता निशिकांत दुबे ने स्थायी समिति के अध्यक्ष शशि थरूर को पद से हटाने की मांग की है.

फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग. (फोटो: रॉयटर्स)

कांग्रेस ने मार्क जुकरबर्ग को पत्र लिखा, हेट स्पीच पर कार्रवाई न करने की रिपोर्ट पर जांच की मांग

कांग्रेस ने अपने पत्र में कहा है कि वॉल स्टीट जर्नल की रिपोर्ट से स्पष्ट है कि फेसबुक इंडिया के मौजूदा नेतृत्व ने भाजपा के नेताओं द्वारा फैलाए जा रहे हेट स्पीच को लेकर नरमी बरती है. यह भारत के चुनावी लोकतंत्र में फेसबुक द्वारा हस्तक्षेप है.

(इलस्ट्रेशन: रॉयटर्स)

फेसबुक के भाजपा नेता की एंटी-मुस्लिम पोस्ट की अनदेखी की रिपोर्ट पर चर्चा करेगी संसदीय समिति

अमेरिकी अख़बार वॉल स्ट्रीट जर्नल ने एक रिपोर्ट में बताया था कि फेसबुक ने नाराज़गी के डर से भाजपा नेता की एंटी-मुस्लिम पोस्ट पर कार्रवाई नहीं की थी. सूचना प्रौद्योगिकी पर संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष शशि थरूर ने कहा है कि वे इस मामले में फेसबुक का पक्ष सुनना चाहेंगे.

(फोटोः रॉयटर्स)

फेसबुक ने नाराज़गी के डर से भाजपा नेता की एंटी-मुस्लिम पोस्ट पर नहीं की कार्रवाई: रिपोर्ट

अमेरिकी अख़बार वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में फेसबुक की शीर्ष अधिकारी ने भाजपा विधायक टी. राजा सिंह की पोस्ट पर फेसबुक के हेट स्पीच नियमों को लागू किए जाने का विरोध किया क्योंकि उन्हें डर था कि इससे कंपनी के भाजपा के साथ संबंध बिगड़ सकते हैं.

गोदरेज ग्रुप के चेयरमैन आदि गोदरेज. (फोटो: पीटीआई)

असहिष्णुता, घृणा अपराध की बढ़ती घटनाओं का विकास पर होगा गंभीर असर: आदि गोदरेज

गोदरेज ग्रुप के चेयरमैन और कारोबारी आदि गोदरेज ने कहा कि देश में सब कुछ ठीक नहीं है. हम एक ऐसे भारत की उम्मीद करते हैं जहां भय और संदेह का माहौल नहीं हो और राजनीतिक नेतृत्व पर जवाबदेह होने का भरोसा कर सकें.

New Delhi: Congress President Rahul Gandhi, senior party leaders Sonia Gandhi, AK Antony and Congress General Secretary K C Venugopal release party's manifesto for Lok Sabha polls 2019, in New Delhi, Tuesday, April 02, 2019. (PTI Photo/Kamal Singh)(PTI4_2_2019_000041B)

कांग्रेस का घोषणा पत्र: राजद्रोह क़ानून ख़त्म होगा, मॉब लिंचिंग के ख़िलाफ़ बनेगा क़ानून

कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र जारी करते हुए गरीबों को 72 हज़ार रुपये सालाना देने और किसानों के लिए अलग बजट के प्रावधान का वादा किया. पार्टी ने क़र्ज़ न चुका पाने वाले किसानों के ख़िलाफ़ फौजदारी नहीं, दीवानी अपराध का केस दर्ज करने की बात कही है.