डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आपात कार्यक्रमों के प्रमुख माइकल रेयान (फोटो: एएफपी)

अमेरिका ने कोरोना की लैब में उत्पत्ति को लेकर कोई सबूत नहीं दिए: विश्व स्वास्थ्य संगठन

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ का कहना है कि उनके पास कोरोना वायरस के चीन के वुहान की विषाणु विज्ञान प्रयोगशाला में उत्पन्न होने के सबूत हैं.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (फोटो: रॉयटर्स)

डब्ल्यूएचओ ने ट्रंप की आलोचना के बीच कोरोना से निपटने के लिए चीन को सराहा

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि दुनिया के देशों को चीन के वुहान शहर से सीखना चाहिए कि किस तरह से वायरस का केंद्रबिंदु होने के बावजूद वहां सामान्य स्थिति बहाल की गई. इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ को चीन की पीआर एजेंसी करार दिया था.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग. (फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार पाए जाने पर चीन को नतीजे भुगतने पड़ेंगे: डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया कि चीन पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन का समर्थन कर रहा था जो राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार माने जा रहे हैं. ट्रंप ने कहा कि अगर जो बाइडेन जीत जाते हैं तो अमेरिका पर चीन जीत जाएगा.

प्रतीकात्मक तस्वीर: पीटीआई

कोरोना से लड़ने के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र का राष्ट्रीयकरण क्यों ज़रूरी है?

स्पेन में प्रति 1,000 व्यक्तियों के लिए 3 अस्पताल बेड और 4.1 डॉक्टर हैं. भारत में यह आंकड़ा प्रति 1,000 व्यक्तियों के लिए 0.7 अस्पताल बेड और 0.8 डॉक्टर का है. बावजूद इसके स्पेन को कोरोना महामारी के चलते सभी निजी अस्पतालों का राष्ट्रीयकरण करना पड़ा. भारत सरकार इस संकट का जवाब कैसे देगी, यह देखने वाली बात है.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

चीन की तरह अन्य देश भी मृतकों की संख्या में संशोधन करेंगे: डब्ल्यूएचओ

कोविड-19 मामलों के आंकड़े छिपाने को लेकर हो रही अंतरराष्ट्रीय आलोचना के बीच चीन ने शुक्रवार को मृतकों की संख्या में संशोधन किया था, जिसके बाद वुहान शहर के मृतकों की संख्या में हज़ार से ज़्यादा का इजाफा हुआ था.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख डॉ. टेड्रोस एडनम घेब्रेसियस (फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना वायरस स्वाइन फ्लू से दस गुना अधिक ख़तरनाक: डब्ल्यूएचओ

डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कोरोना वायरस को स्वाइन फ्लू से भी ख़तरनाक बताते हुए नियंत्रण उपायों को धीरे-धीरे हटाने का आह्वान किया है. उन्होंने कहा कि हमारे वैश्विक जुड़ाव का मतलब यह बीमारी फिर से सिर उठा लेगी.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

भारत में कोरोना वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा नहीं: विश्व स्वास्थ्य संगठन

अपनी एक हालिया रिपोर्ट में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत में कोरोना वायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा बताया था. हालांकि, अब उसने सफाई देते हुए कहा है कि भारत में फिलहाल ऐसा कोई खतरा नहीं है.

(फोटो: जाह्नवी सेन/द वायर)

कमजोर कानून के चलते भारत में जारी है हाथ से मैला सफाई की प्रथा: अध्ययन

विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं अन्य द्वारा संयुक्त रूप से किए गए अध्ययन में कहा गया है कि भारत में सफाईकर्मियों की आर्थिक स्थिति गंभीर है और यह जातिगत व्यवस्था से संबंधित रोजगार है. इसीलिए हाथ से मैला सफाई की प्रथा अब भी जारी है.

फोटो: रॉयटर्स

900 बच्चों के एचआईवी संक्रमित पाए जाने के बाद पाकिस्तान के राटोडेरो में दहशत का माहौल

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना ज़िले के राटोडेरो में अप्रैल में इस संक्रमण का पता लगा था. तब से अब तक शहर के क़रीब 1100 लोग एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं, जिनमें 900 से ज़्यादा बच्चे हैं.

Clinical lead Doctor Al Story points to an x-ray showing a pair of lungs infected with TB (tuberculosis) during an interview with Reuters  on board the mobile X-ray unit screening for TB in Ladbroke Grove in London January 27, 2014. The only mobile unit testing for TB in the country works with the most vulnerable to the disease including the homeless, drug and alcohol dependent.  REUTERS/Luke MacGregor  (BRITAIN - Tags: HEALTH SOCIETY)

भारत में 2018 में करीब 5.4 लाख टीबी के मामले दर्ज नहीं हुएः विश्व स्वास्थ्य संगठन

विश्व स्वास्थ्य संगठन की टीबी रिपोर्ट के मुताबिक, दुनियाभर में टीबी के 30 लाख मामले राष्ट्रीय टीबी कार्यक्रम में दर्ज नहीं हो पाते हैं. भारत में 2018 में टीबी के करीब 26.9 लाख मामले सामने आए और 21.5 लाख मामले भारत सरकार के राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत दर्ज किए गए यानी 5,40,000 मामले इसमें दर्ज नहीं हुए.

प्रतीकात्मक तस्वीर ( फोटो : पीटीआई)

साल 2016 में जहरीली हवा की वजह से भारत में एक लाख बच्चों की मौत: डब्ल्यूएचओ

साल 2016 में जहरीली हवा से दुनिया भर के तकरीबन छह लाख बच्चों की मौत. इस तरह की हर पांच बच्चों की मौत में एक बच्चा भारतीय होता है.

(फोटो: रॉयटर्स)

देश में 11 हज़ार की आबादी पर एक डॉक्टर, संख्या तय मानकों से 11 गुना कम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, बिहार में 28,391 लोगों पर एक डॉक्टर. देश में डॉक्टरों की कमी के चलते मधुमेह और उच्च रक्तचाप के मरीजों की तादाद एक साल में दोगुनी. कैंसर के मामलों में 36 फीसदी बढ़ोतरी.

Amitabh Bachchan copy

कुपोषण से लड़ने के हॉर्लिक्स के दावे का अमिताभ बच्चन द्वारा प्रचार आंख में धूल झोंकना है

सेहत के लिए हानिकारक होने के चलते अमिताभ बच्चन ने साल 2014 में पेप्सी के साथ अपना क़रार रद्द कर दिया था. स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को उम्मीद है कि अमिताभ हॉर्लिक्स के साथ भी ऐसा ही करेंगे.

(फाइल फोटो: पीटीआई)

उत्तर प्रदेश के छह शहर दुनिया के सबसे ज़्यादा प्रदूषित 20 शहरों में शामिल

विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट में 20 सबसे प्रदूषित शहरों में अकेले भारत के 15 शहर शामिल हैं. उत्तर प्रदेश से कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, लखनऊ, आगरा और फिरोज़ाबाद को शामिल किया गया है.

EP 236 RAW

जन गण मन की बात, एपिसोड 236: जस्टिस केएम जोसेफ की नियुक्ति और भारत में प्रदूषण

जन गण मन की बात की 236वीं कड़ी में विनोद दुआ सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस केएम जोसेफ को जज नियुक्त करने के मामले में हुई कॉलेजियम की बैठक और डब्ल्यूएचओ की हालिया प्रदूषण सर्वे रिपोर्ट में भारत की स्थिति पर चर्चा कर रहे हैं.