तर्क

Patna: Homeless people take shelter inside pipes kept along the national highway during the nationwide COVID-19 lockdown, in Patna, Tuesday, May 19, 2020. (PTI Photo)(PTI19-05-2020_000290B)

क्या सरकार मान चुकी है कि उसका काम सिर्फ़ घोषणा करना है, तर्क ढूंढना जनता की ज़िम्मेदारी है?

आज सबसे बड़ा प्रश्न यह है कि क्या किसी चीज़ का कोई तर्क बचा है? क्या यह इसलिए है कि सरकार निश्चिंत है कि उसके फैसलों की तर्कहीनता की हिमाकत पर उसकी जनता मर मिटने को तैयार बैठी है?