दलित कार्यकर्ता भानू वणकर

भानू वणकर और झुलसती हुई तस्वीर (फोटो: ट्विटर/जिग्नेश)

गुजरात: दलितों को ज़मीन आवंटन में देरी से नाराज़ कार्यकर्ता की आत्मदाह के बाद मौत

पाटण ज़िले के दूधका गांव के दलितों को पैसा जमा करने के बाद भी लगभग तीन साल से ज़मीन आवंटित नहीं की गई है. निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी ने वणकर की आत्महत्या को ‘सरकारी हत्या’ क़रार दिया है.