धुएं से मौत

New Delhi: The sun is vaguely seen behind the Signature Bridge amid heavy smog, in New Delhi, Friday, Nov. 15, 2019. A thick layer of toxic smog engulfed Delhi as the pollution level continued to remain in the 'severe' category for the fourth consecutive day. (PTI Photo)

जावड़ेकर के बयान पर डब्ल्यूएचओ ने कहा, प्रदूषण की वजह से स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बीते शुक्रवार को संसद में कहा था कि किसी भी भारतीय अध्ययन से नहीं दिखता कि प्रदूषण का लोगों के जीवन और स्वास्थ्य पर असर पड़ता है.

Kolkata: Union Minister Babul Supriyo addresses media during the launch of  'Khola Hawa' initiative in Kolkata, Thursday, Sept. 26, 2019. (PTI Photo/Swapan Mahapatra)(PTI9_26_2019_000085B)

वायु प्रदूषण के कारण मौत होने की पुष्टि करने वाले आंकड़े उपलब्ध नहीं: पर्यावरण मंत्री सुप्रियो

बाबुल सुप्रियो ने राज्यसभा में बताया कि देश में ऐसे कोई निर्णायक आंकड़े उपलब्ध नहीं हैं, जिससे केवल प्रदूषण के कारण मृत्यु अथवा बीमारी का प्रत्यक्ष संबंध स्थापित हो. वायु प्रदूषण सांस और इससे संबंधित रोगों को प्रभावित करने वाले कई कारकों में से एक है.

New Delhi: A view of Rajpath shrouded in smog in New Delhi, Friday, Nov. 1, 2019. The blanket of haze over Delhi thickened on Friday morning with pollution levels increasing overnight by around 50 points, taking the overall air quality index to 459. (PTI Photo/Manvdender Vashist)(PTI11_1_2019_000249B)

दिल्ली प्रदूषण: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- प्राधिकारियों ने लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया

कोर्ट ने प्रदूषण पर काबू पाने में विफल रहने के लिए प्राधिकारियों को फटकार लगाते हुए पंजाब और हरियाणा के मुख्य सचिवों को समन जारी किया है. कोर्ट ने कहा है कि अगर पराली जलाने के मामले सामने आते हैं तो कलेक्टर, ग्राम प्रधान और स्थानीय प्रशासन को भी ज़िम्मेदार ठहराया जाएगा.

New Delhi: Silhouette of children seen through a layer of dense fog on a cold, winter morning, in New Delhi, Sunday, Dec. 23, 2018. (PTI Photo/Arun Sharma) (PTI12_23_2018_000027)

दिल्ली के प्रदूषण पर प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव और कैबिनेट सचिव ने बुलाई बैठक

इस बैठक में दिल्ली के अधिकरियों के अलावा पंजाब और हरियाणा सरकार के वरिष्ठ अधिकारी भी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिये हिस्सा लिया. राज्यों के प्रमुख सचिवों से कहा गया है कि वे चौबीसो घंटे अपने जिलों की मॉनिटरिंग करें.

New Delhi: An elderly man wrapped in warm clothes on a cold, foggy morning, in New Delhi, Sunday, Dec. 23, 2018. (PTI Photo/Ravi Choudhary) (PTI12_23_2018_000064)

दिल्ली में प्रदूषण से बच्चे, बुजुर्ग परेशान, एम्स में मरीजों की संख्या बढ़ी

दिल्ली में भयानक प्रदूषण की वजह से एम्स अस्पताल में सांस और दिल के मरीजों की संख्या में 15 से 20 प्रतिशत का इजाफा दर्ज किया गया है.

(फोटो: रॉयटर्स)

पटाखों के धुएं और राख के साथ दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ स्तर पर

रविवार रात 11 बजे दिल्ली की औसत वायु गुणवत्ता का स्तर यानी एक्यूआई 327 पर था. 2018 में दिवाली के बाद यह 600 के आंकड़े को पार कर गया था, जो सुरक्षित स्तर का बारह गुना है.

New Delhi: Silhouette of children seen through a layer of dense fog on a cold, winter morning, in New Delhi, Sunday, Dec. 23, 2018. (PTI Photo/Arun Sharma) (PTI12_23_2018_000027)

प्रदूषण नियंत्रण में लापरवाह अधिकारियों के वेतन में कटौती करेगी दिल्ली सरकार

दिल्ली के मुख्य सचिव ने दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति को उसके अधिकार क्षेत्रों में आने वाले इलाकों में अवैध रूप से मलबा डालने के लिए ज़िम्मेदार निजी एवं सरकारी एजेंसियों पर जुर्माना लगाने का निर्देश दिया. दीपावली से पहले दिल्ली में वाय प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. 26 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक निर्माण गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

(फोटो: रॉयटर्स)

दिल्ली: हवा सीज़न के सबसे ख़राब स्तर पर पहुंची, 26 से 30 अक्टूबर तक निर्माण कार्य पर प्रतिबंध

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक नई दिल्ली के नेहरू नगर, अशोक विहार, जहांगीरपुरी, रोहिणी, वज़ीरपुर, बवाना, मुंडका और आनंद विहार में वायु गुणवत्ता सूचकांक क्रमश: 340, 335, 339, 349, 344, 363, 381 और 350 दर्ज किया गया.

Bulletin 3rd april

द वायर बुलेटिन: सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने ‘नमो टीवी’ को बताया विज्ञापन प्लेटफॉर्म

अरुणाचल प्रदेश के तीन जिलों से आंशिक रूप से आफस्पा हटने समेत आज की बड़ी ख़बरें. दिनभर की महत्वपूर्ण ख़बरों का अपडेट.

प्रतीकात्मक तस्वीर ( फोटो : पीटीआई)

भारत में वायु प्रदूषण की वजह से 2017 में 12 लाख लोगों की असमय मौत: रिपोर्ट

स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर, 2019 रिपोर्ट के मुताबिक, 2017 में विश्व के 3.6 अरब लोग घर में होने वाले प्रदूषण से प्रभावित हुए. भारत में अभी भी 60 फीसदी, बांग्लादेश में 79 फीसदी और चीन में 32 फीसदी लोग ठोस ईंधन से खाना बना रहे हैं. इसकी वजह से घर के भीतर प्रदूषण बढ़ रहा है.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

भारत में वाहनों के धुएं से साल 2015 में हुई तकरीबन 74 हज़ार लोगों की मौत: अध्ययन

इंटरनेशनल काउंसिल ऑन क्लीन ट्रांसपोर्टेशन, जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोरैडो बॉल्डर के अध्ययन में कहा गया है कि साल 2010 से 2015 के बीच भारत में वाहनों से निकले धुएं से होने वाली मौतों में 26 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई.