पप्पू यादव

New Delhi: RJD MP Pappu Yadav aka Rajesh Ranjan speaks in the Lok Sabha during the Monsoon session of Parliament, in New Delhi on Thursday, July 19, 2018. (LSTV Grab via PTI) (PTI7_19_2018_000033B)

नागरिकता कानून: पप्पू यादव का दावा, प्रदर्शन में शामिल होने से रोकने के लिए किया गया नजरबंद

बिहार की जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के घर में नजरबंद किए जाने के दावे पर पटना पुलिस ने कहा कि उन्हें घर के भीतर नजरबंद नहीं किया गया बल्कि यह शांति बहाली और सुरक्षा के दृष्टिकोण से एहतियात के तौर पर उठाया गया एक कदम है.

बिहार की मधेपुरा लोकसभा सीट से महागठबंधन के उम्मीदवार शरद यादव, एनडीए के उम्मीदवार दिनेश चंद्र यादव और निर्दलीय चुनाव लड़ रहे पप्पू यादव. (फोटो: पीटीआई/बिहार विधानसभा)

शरद यादव, पप्पू यादव या दिनेश चंद्र यादव: कौन बनेगा बिहार के ‘मधेपुरा का गोप’

बिहार के मधेपुरा लोकसभा पर यादव बिरादरी का प्रभुत्व है. यहां एनडीए की तरफ से जदयू नेता दिनेश चंद्र यादव मैदान में हैं जबकि महागठबंधन ने शरद यादव को मैदान में उतारा है, वहीं पप्पू यादव निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं.

मधेपुरा सांसद पप्पू यादव, गोरखपुर सांसद प्रवीण निषाद, भाजपा सांसद उदित राज और भाजपा सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते (ऊपर: बाएं से दाएं). आप सांसद साधु सिंह, कांग्रेस सांसद एमके राघवन, लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान और राजद सांसद सरफ़राज़ आलम (नीचे: बाएं से दाएं). (फोटो साभार: फेसबुक/विकिपीडिया)

स्टिंग ऑपरेशन में कालेधन के इस्तेमाल से चुनाव जीतने की बात कबूल करते दिखे सांसद

टीवी9 भारतवर्ष के एक स्टिंग ऑपरेशन में भाजपा सासंद फग्गन सिंह कुलस्ते, उदितराज, रामदास तड़स, बहादुर कोली के साथ मधेपुरा से सांसद पप्पू यादव, कांग्रेस सांसद एमके राघवन, महाबल मिश्रा, राजद सांसद सरफ़राज़ आलम, गोरखपुर से सपा सांसद प्रवीण निषाद, फुलपूर से सपा सांसद नागेंद्र पटेल, लोजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान और आम आदमी पार्टी सांसद साधू सिंह समेत कई अन्य दलों के सांसद आपराधिक और अनैतिक तरीकों से चुनाव जीतने और काला धन लेने की बात कबूल करते पाए गए.

Patna University Youtube

पटना विश्वविद्यालय: छात्रसंघ चुनाव के नतीजों पर सवाल क्यों उठ रहे हैं?

बीते शनिवार चुनाव परिणाम आने के बाद से ही छात्र अध्यक्ष पद के विजेता के नामांकन में गड़बड़ी और चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए चुनाव रद्द करने की मांग कर रहे हैं.