बीफ़

koderma

झारखंड: दावत में बीफ परोसे जाने की अफ़वाह के बाद गांव में तनाव

कोडरमा ज़िले के नावाडीह गांव में भीड़ ने कई घरों में तोड़फोड़ के साथ ही वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया. गांव में धारा 144 लागू की गई.

Screen Shot 2017-06-30 at 4.06.52 PM

झारखंड: गोरक्षा के नाम पर हुई हत्या के दोषियों को उम्रक़ैद

जून 2017 में झारखंड के रामगढ़ में हुई अलीमुद्दीन अंसारी की हत्या के जुर्म में भाजपा नेता समेत 11 दोषियों को उम्रक़ैद की सज़ा सुनाई गई है.

Vegetable Stalls Reuters

क्या भारतीय समाज वास्तव में शाकाहारी है?

भारत की मिथकीय कल्पना एक शाकाहारी समाज के तौर पर की जाती रही है, लेकिन किसी भी सामाजिक समूह के खान-पान या आहार की आदतों से जुड़ा कोई दावा पूरी तरह सही नहीं हो सकता.

Screen Shot 2017-06-30 at 4.06.52 PM

झारखंड: गोरक्षा के नाम पर हुई हत्या में भाजपा नेता सहित 11 आरोपी दोषी क़रार

अदालत का कहना है कि 29 जून 2017 को मृतक अलीमुद्दीन अंसारी पर हुआ हमला पूर्व नियोजित था. 20 मार्च को सुनाई जाएगी सज़ा.

Manohar Parrikar during an interactive meeting

बीफ के क़ानूनी आयात में रुकावट पैदा करने वालों को मिलेगी सज़ा: पर्रिकर

गोवा के मुख्यमंत्री ने परोक्ष रूप से कथित गोरक्षकों की ओर इशारा करते हुए कहा कि अगर बीफ आयात के क़ानूनी दस्तावेज़ सही हैं तो किसी को दखलंदाज़ी का अधिकार नहीं.

Shashi Tharoor, a member of parliament from India's main opposition Congress party, speaks during an interview with Thomson Reuters Foundation at his office in New Delhi, India, January 25, 2016.  REUTERS/Anindito Mukherjee

नोटबंदी लोगों की निजता में दख़लअंदाज़ी की हद थी: शशि थरूर

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘एक देश एक कर’ महान विचार है, लेकिन हमें तीन कर दिए गए हैं, इसके भीतर छह स्लैब हैं और साल में 37 फॉर्म भरने हैं.

Mohammad Akhlaq PTI copy

अख़लाक़ हत्याकांड के 15 आरोपियों को एनटीपीसी में संविदा पर मिलेगी नौकरी

घर में गोमांस रखने के आरोप में दादरी के बिसाहड़ा गांव में 2015 में मोहम्मद अख़लाक़ की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.

Alphons Kannanthanam Facebook

पेट्रोल ख़रीदने वाले भूखे नहीं मर रहे, सरकार ने सोचकर टैक्स लगाया: केंद्रीय राज्यमंत्री

मोदी मंत्रिमंडल में शामिल हुए पर्यटन राज्यमंत्री अल्फोंस कन्ननथनम ने कहा, टैक्स से मिला पैसा गरीबों के लिए ख़र्च होगा.

Alphons Kannanthanam 1 PTI

कैबिनेट मंत्री ने कहा, केरल में गोमांस खाना जारी रहेगा

नौकरशाह से नेता बने पर्यटन राज्य मंत्री अल्फोंस कन्ननथनम का बयान- केरल में भाजपा ने कभी गोमांस का विरोध नहीं किया है.

(फोटो: पीटीआई)

निजता के अधिकार फैसले का असर बीफ संबंधी मामलों पर भी पड़ेगा: सुप्रीम कोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीफ रखने को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया था. इस मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणी की.

The Prime Minister, Shri Narendra Modi being welcomed by the Governor of Bihar, Shri Keshari Nath Tripathi and the Chief Minister of Bihar, Shri Nitish Kumar, on his arrival, at Patna Airport, Bihar on July 25, 2015.

क्या नीतीश ने मोदी के 2019 के चुनावी सपने में रंग भरने की शुरुआत कर दी है?

नीतीश मुख्यमंत्री पद के तथाकथित ‘बलिदान’ के कुछ ही घंटों के भीतर भाजपा के समर्थन से फिर उसी कुर्सी पर काबिज़ हो गए, जो प्रदेश की जनता द्वारा दिए गए जनादेश से धोखा करने जैसा है.

hingonia gaushala-4

गोशालाओं में गायों की रोज़ाना मौत और गोभक्ति का पाखंड

भाजपा शासित राज्यों में गोशालाओं में बदइंतज़ामी के चलते लगातार गायों की मौत हो रही है, लेकिन वे गाय के प्रति अपना ‘प्रेम’ उजागर करने में नित नये क़दम बढ़ाते रहते हैं.

?

मोहम्मद अख़लाक़, पहलू ख़ान और नजीब अहमद के परिवारवालों से बातचीत

पीट-पीट कर मार दिए गए मोहम्मद अख़लाक़ और पहलू खान के अलावा जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद के परिवारवालों ने न्याय की मांग की है.

Pema Khandu Narendra Modi PIB

भाजपाई मुख्यमंत्री पेमा खांडू बोले- मैं भी खाता हूं बीफ, इसमें कुछ ग़लत नहीं

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री खांडू ने कहा, ‘केंद्र सरकार को इस नोटिफिकेशन पर दोबारा सोचना चाहिए. पूरे नॉर्थ ईस्ट में आदिवासियों की अच्छी ख़ासी संख्या है और वे मांसाहारी हैं.’

Sarbananda_SonowalFeatured

नॉर्थ ईस्ट डायरी: असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल का साक्षात्कार

इस महीने असम के मुख्यमंत्री के रूप में एक साल पूरे करने जा रहे सर्बानंद सोनोवाल का कहना है कि एक सुदृढ़ शासन व्यवस्था बनाने के लिए जनता की आवाज़ को भी सुना जाना ज़रूरी है.

Kajol ScreenShot 12.jpg

बीफ वीडियो पर काजोल का सफाई देना इस डरावने दौर का सबूत है

हिंदुस्तान में जो व्यक्ति जितना ज़्यादा ताकतवर और प्रसिद्ध है, उसके सत्ता के पक्ष में बयान देने की संभावना उतनी ज़्यादा रहती है. चाहे वे फिल्म स्टार हों या बिज़नेसमैन, सभी ने सत्तारूढ़ दल के साथ खड़े होने की अपनी वजहें तलाश ली हैं.