भारतीय फिल्म उद्योग

New Delhi: People wearing mask to mitigate the spread of coronavirus, walk past a cinema hall, in New Delhi, Thursday, March 12, 2020. Cinema halls in Delhi will be shut till March 31 as a preventive measure following Coronavirus outbreak. (PTI Photo/Vijay Verma)  (PTI12-03-2020_000215B)

लॉकडाउन: क्या ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म सिनेमाघरों के लिए चुनौती बनकर उभर रहे हैं?

कोरोना वायरस के मद्देनज़र लागू लॉकडाउन के बीच अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना की फिल्म ‘गुलाबो सिताबो’ सिनेमाघरों की बजाय सीधे ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ हो रही है. कुछ और फिल्में हैं, जो अब सीधे इन्हीं प्लेटफॉर्म्स पर रिलीज़ होने वाली हैं. ऐसे में बंदी के दौर से गुज़र रहे सिनेमाघरों के सामने ऑनलाइन स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म्स ने नया संकट खड़ा कर दिया है.

अमिताभ बच्चन (फोटो साभार: फेसबुक/अमिताभ बच्चन)

अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार मिलने के मायने…

समय के साथ अमिताभ बच्चन ने सतत तरीके से अपने को नए-नए रंगों में ढाला है और जोखिम लेने से गुरेज़ नहीं किया. दूसरे प्रतिक्रिया दें, इससे पहले ही वे बदलाव की नब्ज़ पकड़ने में कामयाब रहे.

(फोटो साभार: फेसबुक/@filmheritagefoundation)

साहिर लुधियानवी की हस्तलिखित नज़्में, डायरियां और तस्वीरें कबाड़ की दुकान पर मिलीं

फिल्म हैरिटेज फाउंडेशन नाम के संगठन के निदेशक ने बताया कि इन डायरियों में गीतकार साहिर लुधियानवी के रोज़ाना के कार्यक्रम और अन्य निजी बातें दर्ज हैं. उस दौर के संगीतकार रवि, उनके दोस्त और कवि हरबंस द्वारा उन्हें लिखे गए पत्र भी मिले हैं.

फिल्म निर्देशक तनुजा चंद्रा. (फोटो साभार: फेसबुक/@MumbaiFilmFestival)

आज भी महिला प्रधान फिल्में बनाने के लिए संघर्ष करना पड़ता है: तनुजा चंद्रा

साक्षात्कार: दुश्मन, संघर्ष, सुर: द मेलोडी ऑफ लाइफ और क़रीब-क़रीब सिंगल जैसी फिल्में बनाने वाली निर्देशक तनुजा चंद्रा से प्रशांत वर्मा की बातचीत.

National Awards Film Collage

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार: हेलारो सर्वश्रेष्ठ फिल्म, आयुष्मान-विकी कौशल सर्वश्रेष्ठ अभिनेता

66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों में तेलुगु फिल्म ‘महानती’ में गुज़रे ज़माने की सुपरस्टार सावित्री का किरदार निभाने वाली कीर्ति सुरेश ने सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का पुरस्कार जीता.

दिनयार कॉन्ट्रैक्टर. (फोटो साभार:​ ट्विटर)

जाने-माने अभिनेता दिनयार कॉन्ट्रैक्टर का निधन

अक्षय कुमार की फिल्म ‘खिलाड़ी’ और शाहरुख खान की फिल्म ‘बादशाह’ के अलावा दिनयार कॉन्ट्रैक्टर फिल्म ‘चोरी-चोरी चुपके-चुपके’, ‘दरार’ और ‘36 चाइना टाउन’ में नज़र आ चुके थे. इस साल जनवरी में उन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.

फिल्मकार मृणाल सेन (बीच में) और उनकी फिल्म ‘भुवन शोम’ और ‘कलकत्ता 71’ का पोस्टर.

मृणाल सेन का सिनेमा संसार

मृणाल सेन का सिनेमा कलात्मक और बौद्धिक संवेदना का नायाब संयोजन था. वह चाहते थे कि सिनेमा उपेक्षितों के पास और सुदूर देहातों में पहुंचे. उन्हें ‘नए सिनेमा’ से यह उम्मीद थी. उनकी फिल्म देखने के बाद बहुत देर तक उसकी छवियां बेताल की तरह सिर पर नाचती रहती हैं.

गीतकार और पटकथा लेखक जावेद अख़्तर. (फोटो: पीटीआई)

राष्ट्रवाद और देशभक्ति सिर्फ़ नारा नहीं: जावेद अख़्तर

पटकथा लेखक और गीतकार जावेद अख़्तर ने कहा कि राष्ट्रवाद और देशभक्ति का मतलब सामाजिक रूप से जागरूक होना होता है. यह सिर्फ़ नारा नहीं बल्कि एक जीवनशैली है.

फिल्म निर्देशक तुलसी रामसे. (फोटो साभार: फेसबुक/Anirudh Shrotriya‎)

‘वीराना’, ‘बंद दरवाज़ा’, ‘तहख़ाना’ जैसी हॉरर फिल्मों के निर्देशक तुलसी रामसे का निधन

भारतीय सिनेमा में हॉरर श्रेणी की फिल्मों में सबसे लंबे समय तक रामसे ब्रदर्स का दबदबा था. तुलसी रामसे एफयू रामसे के पुत्र थे और सात भाइयों में एक थे. ज़ी टीवी पर प्रसारित हुए बहुचर्चित ‘ज़ी हॉरर शो’ का भी किया था निर्देशन.

अभिनेत्री मौसमी चटर्जी. (फोटो साभार: यूट्यूब वीडियो ग्रैब)

अभिनेत्री मौसमी चटर्जी ने कोमा में गई बेटी से मिलवाने के लिए अदालत से लगाई गुहार

बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका दाख़िल कर अभिनेत्री मौसमी चटर्जी ने अपने दामाद पर आरोप लगाया है कि वह उनकी बेटी से मिलने नहीं देते इसलिए उचित देखभाल के लिए उन्हें बेटी का अभिभावक घोषित किया जाए.

फिल्म मेहसमपुर का पोस्टर, गायक अमर सिंह चमकीला और उनकी सिंगिंग पार्टनर व पत्नी अमरजोत और फिल्म मेहसमपुर के निर्देशक कबीर सिंह चौधरी. (फोटो: लाउडस्पीकर मीडिया | ग्राफिक्स: मनिंदर पाल सिंह)

‘चमकीला के गीतों में अफ़ीम जैसा नशा था, इसी ने मुझे उन पर फिल्म बनाने को प्रेरित किया’

साक्षात्कार: वर्ष 1988 में पंजाब के प्रसिद्ध लोक गायक अमर सिंह चमकीला की 27 साल की उम्र में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. कहा जाता है कि उनके गीतों की वजह से उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया. उनकी ज़िंदगी पर आधारित फिल्म ‘मेहसमपुर’ रिलीज़ होने वाली है. फिल्म के निर्देशक कबीर सिंह चौधरी से प्रशांत वर्मा की बातचीत.

(फोटो साभार: विकिपीडिया)

फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप और अन्य साझेदारों ने फैंटम फिल्म्स को भंग करने का किया ऐलान

फिल्म निर्माता और निर्देशक अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवाने, मधु मेंटेना और विकास बहल ने साल 2011 में प्रोडक्शन हाउस फैंटम फिल्म्स की शुरुआत की थी.

अभिनेत्री शेफाली शाह. (फोटो साभार: फेसबुक/Shefali Shah)

एक बार आप उम्रदराज़ महिला का रोल कर लें फिर लीड रोल नहीं कर सकते: शेफाली शाह

सत्या, मॉनसून वेडिंग, वक़्त: द रेस अगेंस्ट टाइम, गांधी माय फादर, द लास्ट लीयर, लक्ष्मी, दिल धड़कने दो जैसी फिल्मों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली शेफाली शाह हाल ही में रिलीज़ फिल्म वंस अगेन में मुख्य भूमिका में नज़र आईं. उनसे प्रशांत वर्मा की बातचीत.

फिल्म मंटो का पोस्टर. (फोटो साभार: फेसबुक/Manto Film)

नंदिता दास की ‘मंटो’ में मैं मंटो को तलाश करता रहा

मंटो फिल्म में मुझे जो मिला वो एक फिल्म निर्देशक की आधी-अधूरी ‘रिसर्च’ थी, वर्षों से सोशल मीडिया की खूंटी पर टंगे हुए मंटो के चीथड़े थे और इन सबसे कहीं ज़्यादा स्त्रीवाद बल्कि ‘फेमिनिज़्म’ का इश्तिहार था.