भीमा कोरेगांव

Mumbai: Dalit protesters take part in a bike rally on the Eastern Express Highway in Thane, Mumbai on Wednesday after Bhima Koregaon violence. PTI Photo (PTI1_3_2018_000136B)

दलितों का देश कहां है महराज?

भाजपा सत्ता में आने के बाद यह कह रही है कि आंबेडकर उसके लिए प्रातः स्मरणीय हैं लेकिन उन्हीं के संगठन और सरकार से संबंधित लोग मनुस्मृति के गौरवगान के साथ संविधान को बदलने की बात कर रहे हैं.

जिग्नेश मेवानी और रामदास अठावले (फोटो: पीटीआई)

भीमा-कोरेगांव हिंसा के लिए मेवाणी ज़िम्मेदार नहीं: अठावले

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस से मिलने के बाद केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि एक जनवरी की हिंसा के लिए निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी जिम्मेदार नहीं हैं.

छात्रनेता उमर ख़ालिद और गुजरात से निर्दलीय विधायक ​और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी. (फोटो: यूट्यूब/पीटीआई)

भाजपा और संघ हमें निशाना बना रहे हैं: जिग्नेश मेवाणी और उमर ख़ालिद

गुजरात से निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी और जेएनयू के छात्रनेता उमर ख़ालिद ने भीमा-कोरेगांव हिंसा के संबंध में भड़काऊ भाषण देने के आरोपों को नकारा.

पुणे ज़िले के भीमा-कोरेगांव में हिंसा. (फोटो: पीटीआई)

‘भीमा-कोरेगांव में हर साल लाखों लोग आते हैं, फिर भी पर्याप्त सुरक्षा इंतज़ाम नहीं हुए’

महाराष्ट्र में पुणे ज़िले के भीमा-कोरेगांव के लोगों ने हिंसा के लिए बाहरी लोगों को दोषी बताया, मुआवज़े की मांग, भिड़े का हिंसा में शामिल होने से इनकार.

anglo-maratha War Wikipedia

भीमा-कोरेगांव युद्ध को याद करने वाले किस आधार पर ‘देशद्रोही’ सिद्ध किए जा रहे हैं?

जो लोग भीमा-कोरेगांव युद्ध की याद में आयोजित समारोह के आयोजकों को राष्ट्रद्रोही सिद्ध कर रहे हैं वो यह क्यों छुपा ले जाते हैं कि न जाने कितनी बार मराठों ने भी अंग्रेज़ों के साथ मिलकर अन्य राज्यों के ख़िलाफ़ लड़ाइयां लड़ी हैं.

जिग्नेश मेवाणी. (फोटो: पीटीआई)

ख़ुद को आंबेडकर का भक्त बताने वाले मोदी भीमा-कोरेगांव हिंसा पर चुप क्‍यों हैं: ​मेवाणी

गुजरात से विधायक जिग्नेश मेवाणी ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर केंद्र सरकार पर बोला हमला. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछे कई सवाल.

Bhima-Koregaon-Victory-Pillar

भीमा-कोरेगांव युद्ध को सिर्फ़ जाति के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए

जब आंबेडकर ने भीमा कोरेगांव युद्ध को पेशवाओं के उत्पीड़न के ख़िलाफ़ महारों के संघर्ष के रूप में पेश किया, तब वे असल में एक मिथक रच रहे थे.

छात्रनेता उमर ख़ालिद और गुजरात से निर्दलीय विधायक ​और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी. (फोटो: यूट्यूब/पीटीआई)

मुंबई में जिग्नेश मेवाणी और उमर ख़ालिद के कार्यक्रम को अनुमति नहीं, हिरासत में लिए गए छात्र

महाराष्ट्र के पुणे ज़िले के भीमा-कोरेगांव में हुई हिंसा को लेकर जिग्नेश मेवाणी और उमर ख़ालिद के ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज.

Episode 174.00_01_24_19.Still001

जन गण मन की बात, एपिसोड 174: महाराष्ट्र में भीमा-कोरेगांव हिंसा

जन गण मन की बात की 174वीं कड़ी में विनोद दुआ महाराष्ट्र के पु​णे ज़िले में हुई भीमा-कोरेगांव हिंसा पर चर्चा कर रहे हैं.

मिलिंद एकबोटे और संभाजी भीड़े (फोटो: फेसबुक)

कौन हैं मिलिंद एकबोटे और संभाजी भिड़े, जिन पर भीमा कोरेगांव में हिंसा भड़काने का आरोप है

दलित नेता प्रकाश आंबेडकर ने महाराष्ट्र बंद को वापस लेने का ऐलान करते हुए सरकार से मिलिंद एकबोटे और संभाजी भिड़े को जल्द गिरफ़्तार करने की मांग की है.

नरेंद्र मोदी और भीमा-कोरेगांव हिंसा. ​​(फोटो साभार: पीटीआई/एएनआई)

मोदी ख़ुद को आंबेडकर का शिष्य कहते हैं लेकिन उनकी कथनी​​​​​​​​​​​​​​​​​​​-करनी में अंतर है

जब भी दलित अपने आत्मसम्मान की बात करते हैं तो मौजूदा सरकार का रवैया हमेशा नकारात्मक दिखता है.

बाबा साहब आंबेडकर और भीमा कोरेगांव में सोमवार को हिंसा हुई हिंसा. (फोटो साभार: विकिमीडिया कॉमन्स/एएनआई)

प्रासंगिक: जब नौ साल की उम्र में कोरेगांव गए आंबेडकर को जातीय भेदभाव का सामना करना पड़ा

अपनी किताब ‘वेटिंग फॉर अ वीज़ा’ में भीमराव आंबेडकर ने 1901 में कोरेगांव यात्रा के दौरान हुए छुआछूत के कटु अनुभव पर विस्तार से चर्चा की है.

Karad: Dalits take part in a protest rally during their Maharashtra Bandh called over the Bhima Koregaon violence, in Karad, Maharashtra on Wednesday. PTI Photo  (PTI1_3_2018_000065B)

महाराष्ट्र बंद: मुंबई में बसों पर हमला, नागपुर और पुणे में स्थिति तनावपूर्ण

पुणे पुलिस ने हिंसा भड़काने के आरोप में हिंदुवादी संगठनों के दो नेताओं के ख़िलाफ़ मामले दर्ज किए. मुंबई शहर में 100 से ज़्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया.

भीमा कोरेगांव में हिंसा (फोटो साभार: एएनआई)

भीमा-कोरेगांव युद्ध की 200वीं सालगिरह पर हिंसा, एक की मौत

पुणे ज़िले के भीमा-कोरेगांव में दलित समुदाय के लोग पेशवा की सेना पर ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना की जीत का जश्न मनाते हैं. हिंसा की वजह से मुंबई के पूर्वी उपनगरों में तनाव.