मारुति सुजुकी

A man stands on the roof of Maruti Suzuki's plant at Manesar, in Haryana August 21, 2012.  REUTERS/Mansi Thapliyal/Files

ओला और उबर जैसी सेवाओं का होना आर्थिक मंदी के लिए कोई बड़ा कारण नहीं: मारुति

देश के सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने कहा है कि युवा आबादी में ओला, उबर सेवाओं का इस्तेमाल बढ़ना आर्थिक मंदी का कोई ठोस कारण नहीं है बल्कि इसके विपरीत इस संबंध में किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए एक विस्तृत अध्ययन किये जाने की आवश्यकता है.

New Delhi: Finance Minister Nirmala Sitharaman addresses a press conference after presenting the Union Budget 2019-20, in New Delhi, Friday, July 5, 2019. (PTI Photo/Manvender Vashist) (PTI7_5_2019_000138B)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ऑटो सेक्टर में मंदी के लिए ओला, उबर भी जिम्मेदार

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री पर बीएस6 और लोगों की सोच में आए बदलाव का असर पड़ रहा है, लोग अब गाड़ी खरीदने की बजाय ओला या उबर जैसी कैब सर्विस को तरजीह दे रहे हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

लगातार 10वें महीने यात्री वाहनों की बिक्री घटी, अगस्त में 31.57 प्रतिशत की गिरावट

भारतीय ऑटोमोबाइल विनिर्माता सोसायटी की ओर से कहा गया है कि अगस्त 2019 में घरेलू बाज़ार में कारों की बिक्री 41.09 प्रतिशत घटकर 1,15,957 कार रह गई जबकि एक साल पहले अगस्त में 1,96,847 कारें बिकी थीं. वाहन निर्माता कंपनी अशोक लेलैंड ने सितंबर में ​अपनी विभिन्न निर्माण इकाइयों में उत्पादन बंद रखने का फैसला किया.

(फोटो: रॉयटर्स)

ऑटो क्षेत्र में मंदी से 3000 से अधिक अस्थायी कर्मचारियों की नौकरी गई: मारुति सुजुकी

मारुति सुजुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव ने कहा कि सरकार को इस बारे में सकारात्मक कदम उठाने चाहिए. वहीं, ऑटो क्षेत्र में मंदी को देखते हुए टीवीएस समूह ने अपने मैन्युफैक्चरिंग यूनिट को दो दिन और हीरो मोटोकॉर्प ने चार दिन के लिए बंद करने का फैसला किया है.

Police officials walk outside the Maruti Suzuki's plant in Manesar, located in the northern Indian state of Haryana, July 19, 2012. Police were searching on Thursday for 3,000 people they want to detain after one person was killed and scores injured in a riot at the Maruti Suzuki factory in Manesar. Hundreds of police have secured the plant, arresting 88 people after property was smashed and parts of the factory set on fire during Wednesday's violence, police said. REUTERS/Ahmad Masood (INDIA - Tags: BUSINESS CIVIL UNREST MILITARY TRANSPORT)

माने​सर प्लांट हिंसा: 117 मज़दूरों को बरी करने के फैसले को चुनौती देगी हरियाणा सरकार

साल 2012 में मारुति के मानेसर संयंत्र में हुई हिंसा मामले में अदालत ने 13 मज़दूरों को उम्रक़ैद और 117 को बरी करने का फैसला सुनाया था.

Police officials walk outside the Maruti Suzuki's plant in Manesar, located in the northern Indian state of Haryana, July 19, 2012. Police were searching on Thursday for 3,000 people they want to detain after one person was killed and scores injured in a riot at the Maruti Suzuki factory in Manesar. Hundreds of police have secured the plant, arresting 88 people after property was smashed and parts of the factory set on fire during Wednesday's violence, police said. REUTERS/Ahmad Masood (INDIA - Tags: BUSINESS CIVIL UNREST MILITARY TRANSPORT)

मारुति के माने​सर प्लांट हिंसा मामले में 13 मज़दूरों को उम्रकैद

हरियाणा के मानेसर स्थित मारुति सुजूकी प्लांट में हुई हिंसा के लिए स्थानीय अदालत ने 13 मज़दूरों को आजीवन कारावास और चार मज़दूरों को पांच साल की सज़ा सुनाई है.

A man stands on the roof of Maruti Suzuki's plant at Manesar, in Haryana August 21, 2012.  REUTERS/Mansi Thapliyal/Files

मानेसर के मारुति प्लांट हिंसा मामले में 31 दोषी, 117 बरी

हरियाणा की एक अदालत ने 2012 में मानेसर के मारुति प्लांट में हुई हिंसा के मामले में 31 लोगों को दोषी ठहराया है, जबकि 117 को बरी कर दिया है.