यूनेस्को

जयपुर स्थित हवा महल. (फोटो साभार: विकिपीडिया)

पिंक सिटी जयपुर को मिला यूनेस्को विश्व धरोहर का दर्जा

पिंक सिटी के नाम से मशहूर जयपुर अपनी जीवंत संस्कृति, इतिहास और वास्तुकला की आश्चर्यजनक विरासतों की वजह से अंतराष्ट्रीय स्तर पर पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है.

नोटे-डैम कैथेड्रल. (फोटो: रॉयटर्स)

पेरिस का ऐतिहासिक गिरजाघर नोट्रे-डैम आग लगने से तबाह

गिरजाघर में ईस्टर की तैयारी चल रही थी. आग में सबसे पहले यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर घोषित 850 साल पुरानी छत तबाह हुई और शानदार गॉथिक मीनार ढह गई. नोट्रे-डैम का निर्माण 12वीं सदी में शुरू हुआ था, जो करीब 200 वर्ष तक चला था.

श्री श्री रविशंकर (फोटो साभार: srisriravishankar.org)

तमिलनाडु: हैरिटेज स्थल पर श्रीश्री रविशंकर के कार्यक्रम पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक

तमिलनाडु के तंजौर में यूनेस्को के वर्ल्ड हैरिटेज स्थल में शामिल बृहदेश्वर मंदिर में श्रीश्री रविशंकर की संस्था आर्ट ऑफ लिविंग का ध्यान शिविर आयोजित होना था. तमिल संगठनों के विरोध के बाद मद्रास हाईकोर्ट द्वारा इस पर अंतरिम रोक लगा दी गई.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: रायटर्स)

वर्ष 2017-18 में भारत में सबसे अधिक बार इंटरनेट सेवा रोकी गई: यूनेस्को

यूनेस्को इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट की दक्षिण एशिया प्रेस फ्रीडम रिपोर्ट, 2017-18 में कहा गया है कि इंटरनेट सेवा बंद करने की घटनाएं विश्व भर में बढ़ रही हैं और यह प्रेस और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर नियंत्रण का पैमाना है.

Maharshi-Patanjali

योग के शोर के बीच महर्षि पतंजलि की जन्मभूमि उपेक्षा की शिकार है

जब पूरे देश में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की तैयारी चल रही है, योग सूत्र और महाभाष्य के प्रणेता महर्षि पतंजति की जन्मभूमि को कोई पूछने वाला नहीं है. उत्तर प्रदेश के गोंडा ज़िले के कोंडर गांव में स्थित पतंजलि की जन्मभूमि उपेक्षा की शिकार है.

Khajuraho Temple Reuters

खजुराहो में कामसूत्र की किताबें बेचने पर पाबंदी की मांग

हिंदुत्ववादी संगठन का कहना है कि इन किताबों से विदेशी पर्यटकों की नज़रों में भारत की संस्कृति और परंपरा की ग़लत छवि बन रही है.